scorecardresearch
 

उमर अब्दुल्ला की ये फोटो देख रह जाएंगे हैरान, 370 हटने के बाद से नजरबंद

जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री और नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला 370 को रद्द किए जाने के बाद से हिरासत में हैं. हिरासत में लिए जाने के बाद उनकी एक तस्वीर सामने आई है जो सोशल मीडिया पर वायरल है. यह तस्वीर चौंकाने वाली है. यह तस्वीर देखकर विश्वास करना मुश्किल हो रहा है कि ये उमर अब्दुल्ला हैं.

पिछले दो महीने से सामने नहीं आई उमर अब्दुल्ला की कोई तस्वीर (फोटो-सोशल मीडिया) पिछले दो महीने से सामने नहीं आई उमर अब्दुल्ला की कोई तस्वीर (फोटो-सोशल मीडिया)

  • 370 को रद्द किए जाने के बाद से हिरासत में हैं उमर अब्दुल्ला
  • विश्वास करना मुश्किल हो रहा है कि ये उमर अब्दुल्ला ही हैं

जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री और नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला 370 को रद्द किए जाने के बाद से हिरासत में हैं. हिरासत में लिए जाने के बाद उनकी एक तस्वीर सामने आई है जो सोशल मीडिया पर वायरल है. यह तस्वीर चौंकाने वाली है. यह तस्वीर देखकर विश्वास करना मुश्किल हो रहा है कि ये उमर अब्दुल्ला हैं.

वायरल तस्वीर में आसमानी रंग की कमीज में नजर आ रहे उमर अब्दुल्ला की दाढ़ी बढ़ी हुई है. उनकी दाढ़ी सफेद नजर आ रही है. इससे पहले उन्हें इस तरह से कभी नहीं देखा गया था. हालांकि अभी साफ नहीं हो पाया है कि यह तस्वीर कब की है. बताया जा रहा है कि इसे नेशनल कॉन्फ्रेंस के एक नेता ने सार्वजनिक किया है.

कई नेता नजरबंद

बता दें कि उमर अब्दुल्ला की कोई तस्वीर पिछले दो महीने से अधिक समय से सामने नहीं आई है. केंद्र के जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले संविधान के अनुच्छेद 370 को खत्म किए जाने के बाद से उमर के साथ ही कश्मीर के कई अन्य नेताओं को हिरासत में रखा गया है.     

अनुच्छेद 370 को खत्म करने संबंधी फैसला लेने के बाद सरकार ने जम्मू-कश्मीर में प्रतिबंध लगा दिए और कई नेताओं को हिरासत या घर में नजरबंद कर दिया. सरकार की दलील है कि शांति बनाए रखने के लिए प्रतिबंधों की आवश्यकता थी और हालात में सुधार होने पर इसे धीरे-धीरे इसे हटा दिया जाएगा.

पोस्टपेड मोबाइल सेवाएं बहाल

इस हफ्ते की शुरुआत में सरकार ने घोषणा की कि जम्मू-कश्मीर में पोस्टपेड मोबाइल सेवाएं फिर से शुरू होंगी. इससे पहले सरकार ने स्कूलों और कॉलेजों को खोलने का भी आदेश दिया है. साथ ही सामान्य स्थिति बहाल करने के लिए पर्यटकों को दी गई वह सलाह भी वापस ले ली गई है, जिसमें उन्हें घाटी का दौरा नहीं करने को कहा गया था. इन सभी प्रयासों के बावजूद हालांकि स्थिति में सुधार के संकेत कम ही मिले हैं.

कई लोगों का मानना है कि प्रीपेड फोन और इंटरनेट को फिर से शुरू करने से कश्मीर में सामान्य स्थिति वापस लाने में मदद मिलेगी, जिन पर अगस्त से ही प्रतिबंध लगा हुआ है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें