scorecardresearch
 

Cloud Burst In Kargil: बादल फटने से करगिल में अचानक आई बाढ़, VIDEO में दिखा बर्बादी का मंजर

जम्मू कश्मीर में पिछले 12 घंटे से बारिश का कहर जारी है. बालटाल से लेकर चंदनवाड़ी तक अमरनाथ यात्रा रोक दी गई है. माता वैष्णो देवी के नए ट्रैक पर भी ऐहतियातन यात्रा रोकी गई है. स्कूल बंद कर दिए गए हैं. अगले 48 घंटे भारी बताए जा रहे हैं. उधर, लद्दाख और आसपास के इलाकों में बादल फटने के बाद तबाही का मंजर सामने आया.

X
बादल फटने के बाद कई जगहों पर सड़कों पर मलबा आ गया. बादल फटने के बाद कई जगहों पर सड़कों पर मलबा आ गया.
स्टोरी हाइलाइट्स
  • तवी नदी के साथ चिनाब में भी उफान देखी जा रही है
  • कठुआ में कई इलाकों में लैंडस्लाइड से सड़कें बर्बाद

लद्दाख और आसपास के इलाकों में लगातार बारिश और बादल फटने से करगिल, बरू, तातिचुमिक में अचानक बाढ़ जैसी स्थिति पैदा हो गई. बादल फटने के बाद फसलों, घरों को काफी नुकसान पहुंचा है. कई घरों के पूरी तरह क्षतिग्रस्त होने की खबर है. करगिल और इसके आसपास के इलाकों में बार-बार बादल फटने की घटना जलवायु परिवर्तन और पिघलते ग्लेशियरों की ओर इशारा कर रहा है. 

उधर, लद्दाख में बादल फटने और उसके बाद अचानक आने वाली बाढ़ पर बहुत सीमित रिपोर्ट्स हैं. विशेषज्ञों का मानना ​​है कि ग्लोबल वार्मिंग और घटते ग्लेशियर इस क्षेत्र में लगभग वार्षिक आपदाओं के प्रमुख कारण हैं जिससे घरों और फसलों को काफी नुकसान उठाना पड़ता है. विशेषज्ञों का मानना है कि इसमें कोई संदेह नहीं है कि असामान्य जलवायु परिवर्तन के कारण लद्दाख में बादल फटने का खतरा अधिक हो गया है. ग्लोबल वार्मिंग के कारण ग्लेशियरों का बर्फ पिघल रहा है. इस कारण लद्दाख की बाढ़ और बादल फटने की घटना में बढ़ोतरी आई है. 

जम्मू के उदेवाला में बाढ़ से एक स्कूल घिर गया. बाढ़ के पानी के बीच स्कूली बच्चों के साथ टीचर और अन्य स्टाफ फंस गए. घंटों इंतजार के बाद एसडीआरएफ की टीम ने इन लोगों का रेस्क्यू किया. इसके अलावा जम्मू में कई लोगों के घरों में बाढ़ का पानी घुस गया. बारिश के बाद तवी नदी का रौद्र रूप देखा जा रहा है. कठुआ में कई इलाकों में लैंडस्लाइड से कई सड़कें बर्बाद हो गईं. बाढ़ का पानी कम होने के बाद बर्बादी का मंजर सामने आया. 

राजौरी में भी बाढ़ का कहर देखा गया. यहां भी चारों तरफ पानी ही पानी दिख रहा है. बाढ़ के पानी का खतरनाक मंजर लोगों को डरा रहा है. तवी नदी के साथ चिनाब में भी उफान देखी जा रही है. गांदरबल के कुल्लन इलाके में भी बारिश से तबाही की तस्वीरें सामने आईं हैं. श्रीनगर-लेह हाईवे पर मलबा आने से हाईवे पर आवाजाही रोकनी पड़ी. बारिश कम होने के बाद अब मलबा हटाने का काम जारी है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें