scorecardresearch
 

पर्दे के पीछे से हरियाणा के सीएम खट्टर ने किया जनता से संवाद

मुख्यमंत्री और जनता के बीच में संवाद हुआ तो जरूर लेकिन इस दौरान सिर्फ माइक पर ही लोग अपनी समस्याएं बताते रहे और सीएम भी पर्दे के पीछे से अफसरों को जनता की समस्याओं का समाधान करने के लिए निर्देश देते रहे.

हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर

क्या आपने कभी सुना है कि जिस जनता से संवाद और जनता की समस्याओं को सुनने के लिए प्रदेश का मुख्यमंत्री जनता दरबार लगाए उसी जनता दरबार में मुख्यमंत्री और जनता के बीच में एक पर्दा लगा दिया जाए. सुनने में ये अजीब लगता है, लेकिन हरियाणा के करनाम में ऐसा ही कुछ हुआ है.

प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर जनता की समस्याओं को सुनने और उनका समाधान करने के लिए आला अधिकारियों की फौज के साथ जनता दरबार में बैठे तो जरूर,  लेकिन इस दौरान जनता और मुख्यमंत्री के बीच में एक सफेद रंग का टेंटनुमा पर्दा लगा दिया गया.

मुख्यमंत्री और जनता के बीच में संवाद हुआ तो जरूर लेकिन इस दौरान सिर्फ माइक पर ही लोग अपनी समस्याएं बताते रहे और सीएम भी पर्दे के पीछे से अफसरों को जनता की समस्याओं का समाधान करने के लिए निर्देश देते रहे. हालांकि इस जनता दरबार के दौरान सीएम और जनता के बीच में पर्दा क्यों लगाया गया इस सवाल पर करनाल के पूरे प्रशासन ने चुप्पी साधी हुई है.

यहां तक कि जब इस मुद्दे को लेकर सरकार के कई मंत्रियों से बातचीत करने की कोशिश की गई तो उन्होंने भी मीडिया पर इस मामले को बेवजह तूल देने का आरोप लगाते हुए कुछ भी कहने से इनकार कर दिया. हालांकि करनाल की मेयर रेनू बाला गुप्ता इस मामले पर सामने आईं और उन्होंने कहा कि कई बार सुरक्षा और अन्य कारणों से स्थानीय प्रशासन और पुलिस को सीएम के जनता दरबार के दौरान कई तरह के इंतजाम करने होते हैं. इस पूरे मामले को बेवजह तूल ना दिया जाए और पर्दा लगाने के पीछे कई सुरक्षा संबंधी वजह हो सकती हैं.

वहीं इस पूरे मामले पर पार्टी से नाराज चल रहे कुरुक्षेत्र के सांसद राजकुमार सैनी ने कहा कि अब हरियाणा में BJP की सरकार को 4 साल से ज्यादा का वक्त हो चुका है और अब पर्दा लगाने का नहीं बल्कि अब पर्दा उठने का वक्त आ चुका है. ऐसे में इस तरह के पर्दे लगाने से खट्टर सरकार को कोई फायदा नहीं मिलने वाला.

हरियाणा की मुख्य विपक्षी पार्टी इंडियन नेशनल लोकदल ने भी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि मुख्यमंत्री किस वजह से जनता से सीधा संवाद नहीं करना चाहते ये उन्हें बताना चाहिए.  इंडियन नेशनल लोकदल के प्रवक्ता प्रवीण अत्रे ने कहा कि दरअसल हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर के पास विधानसभा चुनाव प्रचार के दौरान जनता से किए गए वादों को अब तक पूरा ना करने को लेकर कोई जवाब नहीं है,  इसीलिए जनता से बचने के लिए इस तरह की बातें की जा रही हैं और जनता और सीएम के बीच में पर्दा लगाया जा रहा है.

ये पूरा विवाद ये सवाल जरूर खड़ा करता है जिस जनता की समस्याओं को सुनने के लिए जनता दरबार लगाया जा रहा है तो उसी जनता और सीएम के बीच में पर्दा लगाने के पीछे आखिरकार क्या मतलब है. अगर वजह सुरक्षा है तो सीएम के जनता दरबार के दौरान ना सिर्फ जिले की पुलिस बल्कि सीएम सिक्योरिटी का भारी पुलिसबल भी सीएम के आसपास रहता है. इसीलिए पर्दा लगाने के लगाने के पीछे सुरक्षा की वजह किसी के गले नहीं उतर रही.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें