scorecardresearch
 

पीएम मोदी के गुजरात में भी छात्रों ने किया CAA का विरोध, यूनिवर्सिटी में घुसी पुलिस

अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह के गृह राज्य गुजरात में भी सीएए का विरोध हुआ है. हालांकि विश्वविद्यालय के छात्र सीएए विरोधी स्लोगन लिखी पतंग आसमान में उड़ा पाते, उससे पहले ही मौके पर पहुंची पुलिस ने रोक दिया और पतंग अपने कब्जे में ले लिया.

CAA और NRC के खिलाफ स्लोगन लिखी पतंग CAA और NRC के खिलाफ स्लोगन लिखी पतंग

  • छात्रों को सीएए विरोधी स्लोगन लिखी पतंग उड़ाने से रोका
  • विश्वविद्यालय परिसर में पुलिस के प्रवेश का हुआ विरोध

नागरिकता संशोधन कानून (CAA) का देश भर में विरोध हो रहा है. अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी, जामिया यूनिवर्सिटी और JNU के बाद अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह के गृह राज्य गुजरात में भी सीएए का विरोध हुआ है. हालांकि विश्वविद्यालय के छात्र सीएए विरोधी स्लोगन लिखी पतंग आसमान में उड़ा पाते, उससे पहले ही मौके पर पहुंची पुलिस ने रोक दिया और पतंग अपने कब्जे में ले ली.

वाकया उस गुजरात विद्यापीठ का है, जिसकी नींव राष्ट्रपिता महात्मा गांधी ने स्वयं अपने हाथों से रखी थी. मकर संक्रांति के अवसर पर पतंगबाजी को गुजरात में एक उत्सव की तरह मनाया जाता है. गुजरात विद्यापीठ के छात्र भी पतंगें उड़ाने की तैयारी में जुटे थे. लेकिन कुछ छात्र ऐसी पतंग लाए थे, जिन पर सीएए विरोधी स्लोगन्स लिखे हुए थे. इसकी भनक पुलिस को लग गई.

kites_student_011420091631.jpgस्लोगन लिखी पतंग दिखाता छात्र

विरोध की आहट पाते ही पुलिस तत्काल विश्वविद्यालय परिसर में पहुंच गई और छात्रों को पतंग उड़ाने से रोक दिया. परिसर में पुलिस के प्रवेश का छात्रों ने विरोध किया. छात्रों ने विश्वविद्यालय परिसर में पुलिस के प्रवेश को असंवैधानिक बताते हुए इसके खिलाफ शांतिपूर्ण प्रदर्शन किया. पतंग उड़ाने वाले छात्रों ने कहा कि जब सीएए के समर्थन में स्लोगन लिखी पतंग खुद गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी उड़ा सकते हैं तो हमारे द्वारा विरोध में उड़ाने से क्या परेशानी है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें