scorecardresearch
 

केजरीवाल ने किया गुजरात के नए मॉडल का वादा, सभी 182 सीटों पर चुनाव लड़ेगी AAP

बीजेपी और कांग्रेस की द्विपक्षीय राजनीति का गवाह रहे गुजरात में आम आदमी पार्टी अपनी जगह बनाना चाहती है. इसके लिए पार्टी कड़ी मेहनत कर रही है. फरवरी के महीने में भी सीएम अरविंद केजरीवाल ने सूरत में रोड शो किया था.

अरविंद केजरीवाल अहमदाबाद पहुंच चुके हैं. (फोटो-Twitter) अरविंद केजरीवाल अहमदाबाद पहुंच चुके हैं. (फोटो-Twitter)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • सभी 182 सीटों पर लड़ेगी AAP
  • अगले साल गुजरात में विधानसभा चुनाव
  • AAP के विस्तार की कोशिश

गुजरात विधानसभा चुनाव से पहले आम आदमी पार्टी को विस्तार देने के लिए दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल आज अहमदाबाद के दौरे पर हैं. सीएम केजरीवाल ने आज अहमदाबाद में आम आदमी पार्टी के कार्यालय का उद्घाटन किया.

आज अहमदाबाद में गुजरात के पूर्व पत्रकार इसुदान गढवी आम आदमी पार्टी में शामिल हुए. इसुदान गढवी किसानों की बात को रखने के लिए जाने जाते हैं.

यहां एक पत्रकार सम्मेलन को सबंधोति करते हुए दिल्ली के सीएम केजरीवाल ने 2022 में गुजरात की सभी 182 सीटों पर AAP के उम्मीदवारों का उतारने का वादा किया. केजरीवाल ने गुजरात के एक नए मॉडल का वादा किया और कहा कि दिल्ली मॉडल अलग है और गुजरात का एक अलग मॉडल होगा. उन्होंने कहा कि AAP गुजरात के लोगों के मुद्दों पर राजनीति करेगी. उन्होंने कहा कि 2022 के चुनाव में यहां की जनता के मुद्दों पर चुनाव लड़ा जाएगा और चेहरा भी यहां का होगा. 

केजरीवाल ने कहा कि आज गुजरात की जो हालत है ये बीजेपी कांग्रेस सरकार की कारस्तानी है. पिछले 27 साल से गुजरात में एक ही पार्टी की सरकार है, ये 27 साल कांग्रेस बीजेपी की दोस्ती की कहानी है. उन्होंने कहा कि कहते हैं कांग्रेस बीजेपी की जेब में हे, बीजेपी को जब जरूरत रहती है तो उन्हें कांग्रेस सप्लाई करती है. 
 
दिल्ली के सीएम ने कहा कि पिछले एक साल में कोरोना काल के दौरान गुजरात को अनाथ छोड़ दिया गया, कोरोना के हालात में गुजरात की सुध लेने वाला कोई नहीं था.

इसस पहले गुजरात AAP के संयोजक गोपाल ने कहा कि गुजरात के कोने कोने से एक ही आवाज उठ रही है अब बदलेगा गुजरात. 

बता दें कि गुजरात में 2022 के आखिरी दिनों में विधानसभा चुनाव होने को है. 182 सदस्यों वाली गुजरात विधानसभा पर भारतीय जनता पार्टी का पिछले 20 सालों से कब्जा है. बीजेपी और कांग्रेस की द्विपक्षीय राजनीति का गवाह रहे गुजरात में आम आदमी पार्टी अपनी जगह बनाना चाहती है. इसके लिए पार्टी कड़ी मेहनत कर रही है. फरवरी के महीने में भी सीएम अरविंद केजरीवाल ने सूरत में रोड शो किया था. 

बता दें कि गुजरात के स्थानीय निकाय चुनाव में AAP ने अच्छा प्रदर्शन किया था और सूरत नगर निगम में विपक्षी दल की भूमिका तक पहुंच गई थी. इस चुनाव में पार्टी ने 27 सीटों पर जीत हासिल की थी.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें