scorecardresearch
 

दिल्ली में बाढ़ का खतरा, यमुना का जलस्तर खतरे के निशान से ऊपर

दिल्ली में यमुना का जलस्तर खतरे के निशान से ऊपर पहुंच गया है. यमुना का जलस्तर फिलहाल 205.36 मीटर पर है, जबकि खतरे का निशान 205.33 है.

यमुना (तस्वीर- पंकज जैन) यमुना (तस्वीर- पंकज जैन)

दिल्ली में यमुना का जलस्तर खतरे के निशान से ऊपर पहुंच गया है. यमुना का जलस्तर फिलहाल 205.36 मीटर पर है, जबकि खतरे का निशान 205.33 है. ईस्ट दिल्ली प्रशासन ने बाढ़ के खतरे को देखते हुए रेलवे से ओल्ड ब्रिज के रेलवे ब्रिज को बंद करने की मांग की है.

इसी बीच रेलवे ने खतरे को देखते हुए पुरानी दिल्ली स्थित लोहे के पुल पर स्पीड रेस्ट्रिक्शन लगा दिया है. इसके बाद अब पुल के ऊपर से अधिकतम 20 किलोमीटर की स्पीड से ही गाड़ियां गुजर सकेंगी.

यमुना के खतरे के निशान को पार करने के कारण प्रशासन को नदी से सटे तराई के क्षेत्रों में रहने वाले लोगों को सुरक्षित स्थानों पर जाने के आदेश देना पड़ा. केंद्रीय गृह मंत्रालय के एक प्रवक्ता ने कहा कि नदी के जल स्तर के शाम छह बजे तक खतरे के निशान को पार करने की संभावना है, जिससे इससे तट जलमग्न हो जाएंगे.

मंत्रालय ने कहा कि बुधवार तक यमुना का जल स्तर 207 मीटर पर पहुंच जाएगा. दिल्ली सरकार ने कहा कि वह केंद्र के साथ मिलकर सतर्क है. दिल्ली सरकार ने एक बयान में कहा कि हरियाणा के हथिनीकुंड बैराज से आठ लाख क्यूसेक पानी छोड़ दिया है.

बढ़ते जल स्तर को देखते हुए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अधिकारियों की आपातकालीन बैठक बुलाई है. बैठक के बाद केजरीवाल ने कहा कि यह पानी अगले दो दिनों में पूरे वेग के साथ दिल्ली पहुंचेगा.

प्रशासन ने बढ़ते जल स्तर को देखते हुए दिल्ली को पूर्वी विंग से जोड़ने वाले एक पुराने पुल पर यातायात बंद कर दिया है. दिल्ली सरकार ने नदी के सटे तराई के क्षेत्रों में रहने वाले लोगों को सुरक्षित स्थानों पर जाने के आदेश दिए हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें