scorecardresearch
 

फैक्ट चेक: हिंदू लड़की के साथ मुस्लिमों के दुष्कर्म करने का दावा वायरल, सच्चाई इसके उलट निकली

सोशल मीडिया पर किसी अखबार में छपी दुष्कर्म की एक खबर वायरल हो रही है. इसके साथ दावा किया जा रहा है कि यूपी के बागपत शहर में दो मुस्लिम लड़कों ने एक नाबालिग हिंदू लड़की के साथ दुष्कर्म किया. इस खबर में लिखा है कि बागपत के रमाला क्षेत्र के एक गांव में दो युवकों ने 15 साल की किशोरी को उसके घर से अगवा कर लिया और फिर उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया. आइए जानते हैं इस दावे का सच.

X
फैक्ट चेक फैक्ट चेक
स्टोरी हाइलाइट्स
  • हिंदू लड़की के साथ मुस्लिमों के रेप का दावा
  • नाबालिग हिंदू लड़की के साथ हुआ था दुष्कर्म

सोशल मीडिया पर किसी अखबार में छपी दुष्कर्म की एक खबर वायरल हो रही है. इसके साथ दावा किया जा रहा है कि यूपी के बागपत शहर में दो मुस्लिम लड़कों ने एक नाबालिग हिंदू लड़की के साथ दुष्कर्म किया. इस खबर में लिखा है कि बागपत के रमाला क्षेत्र के एक गांव में दो युवकों ने 15 साल की किशोरी को उसके घर से अगवा कर लिया और फिर उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया. दुष्कर्म के अगले दिन दोनों लड़के, लड़की को बदहवास हालत में छोड़कर भाग गए.

Fact check
Fact Check

इंडिया टुडे एंटी फेक न्यूज़ वॉर रूम (AFWA) ने पाया कि पोस्ट में किया जा रहा दावा भ्रामक है. दरअसल, यह बागपत की हाल ही की घटना है जिसमें दो हिंदू लड़कों पर एक नाबालिग मुस्लिम लड़की के साथ दुष्कर्म करने का आरोप लगा था. यह बात सरासर झूठ है कि लड़के मुस्लिम थे और लड़की हिंदू थी.

भारत नाम के एक वेरिफाइड ट्विटर यूजर ने अखबार की कटिंग को शेयर करते हुए लिखा, "क्या बागपत पाक या अफगानिस्तान में है? डरे हुए लोगों का कौम.. 65% हिंदुओं वाले रामला गांव में पिता घर से बाहर थे. गांव के 2 जिहादी जबदस्ती हिन्दू घर में घुसे, दिनदहाड़े 15 वर्षीय लड़की को अगवा कर साथ ले गए. रातभर लड़की से बलात्कार किया और सुबह उसको घर के पास छोड़ गए.' इसी कैप्शन के साथ यह खबर फेसबुक पर भी जमकर वायरल हो रही है. ट्वीट का आर्काइव्ड वर्जन यहां देखा जा सकता है.

कैसे पता की सच्चाई?

वायरल कटिंग की पहली लाइन में ही यह लिखा हुआ है- 'दो युवक संप्रदाय विशेष की किशोरी को उसके घर से अगवा कर ले गए.' इससे इतना तो साफ हो जाता है कि लड़की हिंदू समुदाय की नहीं है.

कुछ कीवर्ड्स की मदद से खोजने पर हमें इस मामले से जुड़ी "दैनिक जागरण" की एक खबर मिली. खबर में आरोपियों के नाम परमजीत सिंह और प्रशांत बताए गए हैं. एक ट्विटर यूजर के सवाल के जवाब में बागपत पुलिस ने भी यह बात लिखी है कि इस मामले में पोक्सो एक्ट के तहत परमजीत और प्रशांत नाम के दो अभियुक्तों को गिरफ्तार किया गया है.

जानकारी को पुख्ता करने के लिए हमने बागपत के रमाला क्षेत्र के एसएचओ नवेन्द्र सिंह से बात की. नवेंद्र ने हमें इस बात की पुष्टि कर दी कि मामले में पीड़ित पक्ष मुस्लिम समुदाय से है और आरोपी पक्ष हिंदू है. यह घटना 28 नवंबर, 2021 की रात की है.

नवेंद्र की मदद से हमारी बात पीड़ित लड़की के पिता से भी हुई. उनका भी यही कहना था कि वो लोग मुस्लिम हैं और उनकी बेटी के साथ दो हिंदू लड़कों ने गलत काम किया है.

यहां यह बात साफ हो जाती है कि अखबार की इस कटिंग को गलत दावे के साथ शेयर किया जा रहा है. इस घटना में जिस लड़की के साथ दुष्कर्म हुआ है वह मुस्लिम है और इसका आरोप दो हिंदू युवकों पर लगा है.

फैक्ट चेक

सोशल मीडिया यूजर्स

दावा

यूपी के बागपत में दो मुस्लिम लड़कों ने एक नाबालिग हिंदू लड़की के साथ दुष्कर्म किया.

निष्कर्ष

यह बागपत, यूपी की हाल ही की घटना है जिसमें दो हिंदू लड़कों पर एक नाबालिग मुस्लिम लड़की के साथ दुष्कर्म करने का आरोप लगा है.

झूठ बोले कौआ काटे

जितने कौवे उतनी बड़ी झूठ

  • कौआ: आधा सच
  • कौवे: ज्यादातर झूठ
  • कौवे: पूरी तरह गलत
सोशल मीडिया यूजर्स
क्या आपको लगता है कोई मैसैज झूठा ?
सच जानने के लिए उसे हमारे नंबर 73 7000 7000 पर भेजें.
आप हमें factcheck@intoday.com पर ईमेल भी कर सकते हैं
आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें