scorecardresearch
 

फैक्ट चेक: उत्तराखंड में कांवड़ियों के झगड़े में फौजी की मौत का नहीं है ये वीडियो

अब सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है. इस वीडियो में कांवड़ियों का एक ट्रक नजर आ रहा है. ट्रक के पीछे लटके एक लड़के को कुछ लोग थप्पड़ तो कुछ लोग डंडे से पीट रहे हैं. वहीं नीचे खड़े कुछ लोग वीडियो बना रहे हैं. पिट रहा शख्स खुद को बचाने की भरपूर कोशिश कर रहा है लेकिन वो सफल नहीं हो पा रहा.

X
वायरल वीडियो से ली गई तस्वीर वायरल वीडियो से ली गई तस्वीर

उत्तराखंड के रुड़की शहर में हाल ही में हरियाणा और यूपी के कांवड़ियों के बीच झगड़ा हो गया था. इस झगड़े में कार्तिक बलियान नाम के एक जाट रेजिमेंट के जवान की जान चली गई थी. इस मामले में हरियाणा के छह कांवड़ियों को गिरफ्तार किया गया है.

इस घटना से जोड़ते हुए अब सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है. इस वीडियो में कांवड़ियों का एक ट्रक नजर आ रहा है. ट्रक के पीछे लटके एक लड़के को कुछ लोग थप्पड़ तो कुछ लोग डंडे से पीट रहे हैं. वहीं नीचे खड़े कुछ लोग वीडियो बना रहे हैं. पिट रहा शख्स खुद को बचाने की भरपूर कोशिश कर रहा है लेकिन वो सफल नहीं हो पा रहा.

एक फेसबुक यूजर ने ये वीडियो पोस्ट करते हुए लिखा, “रुड़की के मंगलौर इलाके में यूपी-हरियाणा के कांवड़ियों में संघर्ष. सिर में डंडा लगने से मुजफ्फरनगर में सिसौली के कांवड़िए कार्तिक बालियान की मौत. वह सेना में फौजी भी था. डाक कांवड़ आगे निकालने को लेकर विवाद हुआ था.”

इंडिया टुडे की फैक्ट चेक टीम ने पाया कि ये वीडियो यूपी के मेरठ में एक डीजे कॉम्पिटिशन को लेकर हुए कांवड़ियों के झगड़े का है.

वहीं, कांवड़ियों की जिस हाथापाई में कार्तिक बलियान नाम के एक फौजी की मौत हो गई थी, वो एक अलग घटना है जो उत्तराखंड में हुई थी. ये दोनों घटनाएं हाल-फिलहाल की ही हैं.

कैसे पता लगाई सच्चाई?

कीवर्ड सर्च के जरिये तलाशने पर हमने पाया कि कुछ सोशल मीडिया यूजर्स ने इस वीडियो को मेरठ का मामला बताते हुए शेयर किया है.

इस जानकारी के आधार पर हमने थोड़ी और खोजबीन की. ऐसा करने से हमें ‘पंजाब केसरी’ की एक वीडियो रिपोर्ट मिली. इसमें बताया गया है कि ये घटना मेरठ, यूपी के खरखौदा इलाके में हुई थी. वहां एक डीजे कॉम्पिटीशन के दौरान कांवड़ियों में झगड़ा हो गया था.

हमें इसी घटना से संबंधित ‘हिन्दुस्तान’ की 26 जुलाई की एक रिपोर्ट भी मिली. इसमें बताया गया है कि खरखौदा में लोहिया फार्म हाउस के पास शिविर संचालकों और कांवड़ियों के बीच डीजे बजाने का कॉम्पिटिशन हुआ था. इसके बाद हार-जीत को लेकर दोनों पक्षों में कहासुनी हो गई. देखते ही देखते कहासुनी, मारपीट में बदल गई. इसके बाद वहां पुलिस आई और दोनों पक्षों को समझा-बुझाकर मामला शांत करा दिया.

क्या बोली पुलिस?

इस बारे में और जानकारी पाने के लिए हमने सीओ किठौर अमित कुमार राय से संपर्क किया. उन्होंने हमें बताया कि ये घटना खरखौदा, मेरठ के लोहिया फार्म हाउस के पास हुई थी. वीडियो में जिस लड़के की पिटाई हो रही है, उस पर ऐसा आरोप था​ कि डीजे कॉम्पिटिशन के दौरान उसके कपड़े उतर गए थे. बाद में पुलिस ने दोनों पक्षों से पूछा था कि क्या कोई इस मामले में रिपोर्ट दर्ज करवाना चाहता है, तो इसके जवाब में दोनों ही पक्षों ने इससे इनकार कर दिया था. बातचीत से ही मामला सुलझ गया था.

साफ है कि मेरठ में हुए कांवड़ियों के झगड़े को उत्तराखंड की एक दूसरी घटना का वीडियो बताकर पेश किया जा रहा है.

फैक्ट चेक

सोशल मीडिया यूजर्स

दावा

ये रुड़की, उत्तराखंड का वीडियो है जहां कांवड़ियों ने कार्तिक बलियान नाम के एक फौजी की पीट-पीट कर हत्या कर दी.

निष्कर्ष

ये वीडियो यूपी के मेरठ का है जहां एक डीजे कॉम्पिटीशन को लेकर कांवड़ियों और शिविर संचालकों के बीच मारपीट हो गई थी. हालांकि ये सच है कि उत्तराखंड में कांवड़ियों के बीच हुए झगड़े में कार्तिक बलियान नाम के एक फौजी की जान चली गई थी.

झूठ बोले कौआ काटे

जितने कौवे उतनी बड़ी झूठ

  • कौआ: आधा सच
  • कौवे: ज्यादातर झूठ
  • कौवे: पूरी तरह गलत
सोशल मीडिया यूजर्स
क्या आपको लगता है कोई मैसैज झूठा ?
सच जानने के लिए उसे हमारे नंबर 73 7000 7000 पर भेजें.
आप हमें factcheck@intoday.com पर ईमेल भी कर सकते हैं
आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें