scorecardresearch
 

फैक्ट चेक: रानू मंडल के साथ लता मंगेशकर के वीडियो की क्या है सच्चाई?

पश्चिम बंगाल की रानू मंडल अब इंटरनेट की सनसनी बन चुकी हैं. 58 वर्षीय रानू मंडल नाडिया के रानाघाट रेलवे स्टेशन पर भीख मांगती थीं और गाना गाती थीं. अब एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है. इस वीडियो में एक (थंबनेल) फोटो इस्तेमाल की गई है​ जिसमें लता मंगेशकर रानू मंडल को आशीर्वाद देते हुए दिख रही हैं. क्या है इसकी हकीकत? जानिए इस फैक्ट चेक में.

इस फोटो दावा किया जा रहा है कि लता मंगेशकर रानू मंडल को आशीर्वाद दे रही हैं इस फोटो दावा किया जा रहा है कि लता मंगेशकर रानू मंडल को आशीर्वाद दे रही हैं

पश्चिम बंगाल की रानू मंडल अब इंटरनेट की सनसनी बन चुकी हैं. 58 वर्षीय रानू मंडल नाडिया के रानाघाट रेलवे स्टेशन पर भीख मांगती थीं और गाना गाती थीं. उन्होंने स्वरसम्राज्ञी लता मंगेशकर का गाना 'इक प्यार का नगमा है...' गाया जो कि इंटरनेट पर वायरल हो गया. इसके बाद रानू मंडल काफी मशहूर हो गईं. हाल ही में सोशल मीडिया पर उनकी एक और वीडियो क्लिपिंग वायरल हुई जिसमें वे संगीतकार हिमेश रेशमिया के साथ 'तेरी मेरी कहानी' गाना रिकॉर्ड कर रही हैं.

मशहूर होने के बाद रानू मंडल की जीवनगाथा को मीडिया ने बढ़-चढ़ कर जगह दी.

क्या है दावा

अब एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है. इस वीडियो में एक (थंबनेल) फोटो इस्तेमाल की गई है​ जिसमें लता मंगेशकर रानू मंडल को आशीर्वाद देते हुए दिख रही हैं. वीडियो में दावा किया गया है कि लता मंगेशकर रानू मंडल से मिलीं और उनके गाने से प्रभावित हुईं. यूट्यूब चैनल “Breaking News 24” ने यह वीडियो अपलोड किया है और कैप्शन में लिखा है, “लता मंगेशकर रानू मंडल से मिलीं, रानू ने लता दी के लिए गाना गाया और लता रानू मंडल से प्रभावित हुईं.”

रानू मंडल के वायरल गाने के ​अलावा लता मंगेशकर का एक और वीडियो है जिसमें वे एक पब्लिक कार्यक्रम में किसी की तारीफ करती दिख रही हैं.

इस वीडियो का आर्काइव्ड वर्जन यहां देखा जा सकता है.

क्या है सच्चाई

इंडिया टुडे एंटी फेक न्यूज वॉर रूम (AFWA) ने पाया कि यह वीडियो पोस्ट झूठी है. लता मंगेशकर रानू मंडल से कभी नहीं मिलीं. वीडियो में जिस थंबनेल फोटो का इस्तेमाल किया गया है वह फोटोशॉप की मदद से बनाई गई है. इसके अलावा, वायरल हो रहे वीडियो से भी छेड़छाड़ की गई है. लता मंगेशकर वास्तव में 2013 में एक पब्लिक कार्यक्रम में क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर की तारीफ कर रही थीं. उन्होंने कभी किसी सार्वजनिक कार्यक्रम में रानू मंडल की गायकी की तारीफ कभी नहीं की. वायरल वीडियो में सचिन की तारीफ करते हुए लता मंगेशकर के वीडियो के एक हिस्से का इस्तेमाल किया गया है.

वायरल वीडियो

3.27 मिनट का यह वीडियो 'इक प्यार का नगमा है' गाने के साथ शुरू होता है जिसे रानू मंडल गा रही हैं. रानू मंडल का यही वीडियो वायरल हुआ था. फिर कुछ सेकेंड बाद लता मंगेशकर दिखती हैं जो कह रही हैं कि “...की तारीफ सबने की. कौन नहीं करता है. आज पूरा भारत उनका तारीफ कर रहा है.” फिर वीडियो में एक कट आता है और फिर लता मंगेशकर कहती दिखतीं हैं, “और वो इस तारीफ के काबिल हैं”, फिर वीडियो में एक और कट आता है और फिर से लता मंगेशकर कहती हैं, “तीन चार दिन पहले उनको मिलने का प्रोग्राम बनाया”.

बाकी वीडियो में रानू मंडल गाते हुए दिखती हैं और वीडियो के एक हिस्से में वे अपनी बेटी के साथ दिखती हैं.

यूट्यूब पर इस वीडियो को 33 लाख से ज्यादा लोग देख चुके हैं.

यह वीडियो फेसबुक पर “Sangeet 106fm” और “Fijis Ronald Jai Prasad” जैसे कई यूजर्स ने भी शेयर किया है.

ट्विटर पर भी कई यूजर्स ने इसे यह समझकर शेयर किया है कि जैसे लता मंगेशकर सच में रानू मंडल से मिली हों और उनकी तारीफ की हो.

फैक्ट चेक

वीडियो में इस्तेमाल थंबनेल फोटो को फोटोशॉप की मदद से बनाया गया है. जिस फोटो में लता मंगेशकर रानू मंडल को आशीर्वाद देते हुए दिख रही हैं, उसे रिवर्स सर्च करने पर सच सामने आ गया. यह एक फोटोशॉप की हुई फोटो है जिसे वायरल वीडियो में थंबनेल पिक्चर के रूप में इस्तेमाल किया गया है. लता मंगेशकर की असली फोटो उनकी बहन और गायिका आशा भोसले के साथ है जो 2013 में मीडिया में प्रकाशित हो चुकी है.

फोटोशॉप की हुई फोटो

असली फोटो

लता मंगेशकर के वीडियो से छेड़छाड़

यूट्यूब पर “Lata Mangeshkar praising” शब्द समूह डाल कर सर्च करने पर हमें इंडिया टीवी पर 14 नवंबर, 2013 को प्रकाशित एक वीडियो मिला. इस वीडियो का कैप्शन है “लता मंगेशकर ने सचिन तेंदुलकर को अपना बेटा बताते हुए उनकी तारीफ की”. इस वीडियो में एंकर के खबर पढ़ने के बाद लता मंगेशकर को यह कहते हुए साफ सुना जा सकता है कि “सचिनजी की तारीफ सबने की...” वायरल वीडियो और इंडिया टीवी के इस वीडियो की तुलना करने पर साफ देखा जा सकता है कि असली वीडियो में लता मंगेशकर वास्तव में एक कार्यक्रम में सचिन की तारीफ कर रही थीं, लेकिन उसके एक हिस्से को लेकर इस वायरल वीडियो में इस्तेमाल किया गया है.

नीचे दिए गए दोनों वीडियो को ध्यान से सुनने पर कोई भी समझ सकता है कि वायरल वीडियो में से लता मंगेशकर द्वारा बोला गया शब्द “सचिनजी” काटकर उड़ा दिया गया है. इसके अलावा वायरल वीडियो में ​लता की जिस क्लिपिंग का इस्तेमाल किया गया है, उससे भी छेड़छाड़ की गई है.

एडिटेड वीडियो

ओरिजिनल वीडियो

लता रानू से कभी नहीं मिलीं

हमें कहीं कोई भी ऐसी विश्वसनीय खबर नहीं मिली जिससे यह पता चलता हो कि लता मंगेशकर की मुलाकात रानू मंडल से हुई और उन्होंने रानू की तारीफ की. हमने लता मंगेशकर के दफ्तर में भी बात की. उनके दफ्तर ने वायरल वीडियो के दावे को पूरी तरह से खारिज कर दिया कि लता मंगेशकर रानू मंडल से मिली थीं.

निष्कर्ष

लता मंगेशकर की रानू मंडल से कभी मुलाकात नहीं हुई, न ही उन्होंने सार्वजनिक तौर पर रानू की कभी तारीफ ही की. रानू को आशीर्वाद देते हुए लता की फोटो को फोटोशॉप के जरिये बनाया गया है. वीडियो में लता मंगेशकर की जिस ​क्लिपिंग का इस्तेमाल है, उससे भी छेड़छाड़ की गई है. इस तरह इस वीडियो में किए गए सभी दावे झूठे हैं.

अपडेट

इस आर्टिकल के प्रकाशित होने के बाद लता मंगेशकर ने रानू की सफलता पर खुशी जताई. हिंदुस्तान टाइम्स में प्र​काशित रिपोर्ट के अनुसार लता ने कहा,"अगर किसी को मेरे नाम और काम से कोई फायदा होता है तो मैंखुद को भाग्यशाली मानती हूं, लेकिन मैं यह भी महसूस करती हूं कि नकल करने से आपको लंबे समय तक सफलता नहीं मिलि सकती."

फैक्ट चेक

यूट्यूब चैनल “Breaking News 24”

दावा

लता मंगेशकर रानू मंडल से मिलीं और उनकी तारीफ की.

निष्कर्ष

लता मंगेशकर रानू मंडल से कभी नहीं मिलीं, वायरल हो रहा वीडियो और उसमें इस्तेमाल की गई फोटो दोनों के साथ छेड़छाड़ की गई है.

झूठ बोले कौआ काटे

जितने कौवे उतनी बड़ी झूठ

  • कौआ: आधा सच
  • कौवे: ज्यादातर झूठ
  • कौवे: पूरी तरह गलत
यूट्यूब चैनल “Breaking News 24”
क्या आपको लगता है कोई मैसैज झूठा ?
सच जानने के लिए उसे हमारे नंबर 73 7000 7000 पर भेजें.
आप हमें factcheck@intoday.com पर ईमेल भी कर सकते हैं
आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें