scorecardresearch
 

फैक्ट चेक: कुवैत के सबसे अमीर व्यक्ति की अंतिम यात्रा की नहीं हैं ये तस्वीरें

सोशल मीडिया पर कुछ तस्वीरें वायरल हो रही हैं जिनमें हीरे, जवाहरात, सोने की ईंटें आदि देखी जा सकती हैं. इसके साथ ही एक ताबूत में सोने के जेवरों से लदे व्यक्ति की भी तस्वीर वायरल हो रही है. दावा किया जा रहा है कि यह व्यक्ति कुवैत का सबसे अमीर व्यक्ति था और तस्वीरें उसकी अंतिम यात्रा की हैं.

X
ताबूत में मौजूद शख्स कुवैत का सबसे अमीर व्यक्ति नहीं है. ताबूत में मौजूद शख्स कुवैत का सबसे अमीर व्यक्ति नहीं है.

सोशल मीडिया पर कुछ तस्वीरें वायरल हो रही हैं जिनमें हीरे, जवाहरात, सोने की ईंटें आदि देखी जा सकती हैं. इसके साथ ही एक ताबूत में सोने के जेवरों से लदे व्यक्ति की भी तस्वीर वायरल हो रही है. दावा किया जा रहा है कि यह व्यक्ति कुवैत का सबसे अमीर व्यक्ति था और तस्वीरें उसकी अंतिम यात्रा की हैं.

फेसबुक यूजर "Suraj Kiran Travels” ने नौ तस्वीरें पोस्ट करते हुए कैप्शन में लिखा, जिसका हिंदी अनुवाद है:"कुवैत के सबसे अमीर व्यक्ति नस्सी अल खरकी का निधन हो गया है. उनकी दौलत देखें...वो अपने साथ इनमें से कुछ भी नहीं ले जा सके..यह सबसे याद दिलाने के लिए था."

इंडिया टुडे के एंटी फेक न्यूज वॉर रूम (AFWA) ने पड़ताल में पाया कि वायरल हो रही तस्वीरों के साथ किया जा रहा दावा भ्रामक है. ताबूत में दिख रहा व्यक्ति त्रिनिदाद एंड ​टोबागो में रियल एस्टेट का बादशाह था और काफी पैसे वाला भी था. वहीं नस्सी अल खरकी कुवैत का सबसे अमीर व्यक्ति नहीं है.

पोस्ट का आर्काइव्ड वर्जन यहां देखा जा सकता है.

वायरल हो रही तस्वीरों में से एक तस्वीर में हीरों से भरा एक बक्सा नजर आता है, जबकि अन्य तस्वीरों में सोने के सिक्के और ईंटें, सोने का बेड, सोने का जेट, सोने का याट व कार और डॉलर्स की गड्डियां देख सकते हैं.

फेसबुक पर बहुत से लोगों ने यह तस्वीरें मिलते जुलते दावों के साथ पोस्ट की हैं.

कौन है यह व्यक्ति

पोस्ट में नजर आ रही तस्वीरों को रिवर्स सर्च करने पर AFWA ने पाया —

कई अंतरराष्ट्रीय मीडिया संस्थानों जैसे कि "Mail Online” और “Metro”   ने इस व्यक्ति की अंतिम यात्रा को रिपोर्ट किया था.

4 अप्रैल 2018 को छपी इन रिपोर्ट्स के अनुसार, 33 वर्षीय मिलेनियर शेरॉन सुखेडो की गोली मार कर हत्या कर दी गई थी. सुखेडो के शव को दफनाने से पहले उसे शैम्पेन से नहलाया गया था और फिर उसे एक लाख डॉलर की कीमत के सोने के आभूषण पहनाए गए थे.

कौन है कुवैत का सबसे अमीर व्यक्ति

फोर्ब्स मैगजीन की ओर से 2019 में किए गए सर्वे के अनुसार कुवैत के सबसे अमीर व्यक्ति कुतायबा अल्घनिम हैं. वे अ​ल्घनिम इंडस्ट्रीज के चेयरमैन हैं.

हमें फोर्ब्स की सूची में नस्सी अल खरकी नाम का कोई व्यक्ति नहीं मिला. हालांकि कुवैती व्यापारी नस्सी अल खरफी का नाम साल 2011 में जारी हुई फोर्ब्स के सबसे अमीर लोगों की सूची में जरूर मिला. खरफी की मौत साल 2011 में ही हो गई थी.

हमें वायरल पोस्ट में इस्तेमाल हुई हीरे जवाहरात और सोने की तस्वीरें कई वेबसाइट्स की स्टॉक तस्वीरों में मिलीं.

आलीशान कार

तस्वीर में नजर आ रही कार लग्जरी क्रिस्टल बेंज है. इस पर तीन लाख स्वरोवस्की क्रिस्टल ग्लास जड़े हुए हैं. इसे 9 जनवरी 2009 को टोक्यो में गार्सन/D.A.D ने डिस्पले किया था.

सोने का जेट

तस्वीर में नजर आ रहा गोल्डन जेट असल में डेसो फैल्कन 900बी है.

जेट की असली तस्वीर यहां देखी जा सकती है.

सोने की कार की तस्वीर इससे पहले एक ऑस्ट्रलियाई वेबसाइट पर भी प्रकाशित हो चुकी है.

वायरल पोस्ट की अन्य तस्वीरों में से सोने के सिक्कों वाली तस्वीर पहले यहां प्रकाशित हो चुकी है. वहीं बक्से में हीरों वाली तस्वीर यहां प्रकाशित हो चुकी है. सोने की ईंटों वाली तस्वीर हमें तेलगु वेबसाइट के स्ट्रॉक फोटोज में मिली.

सोने की सीढ़ियों की तस्वीर एक ब्लॉगसाइट पर छप चुकी है. वहीं डॉलर्स की गड्डियों की तस्वीर "द मनी म्यूजियम ऑफ फेडरल रिजर्व बैंक ऑफ शिकागो" की वेबसाइट पर इस्तेमाल हो चुकी है.

टिनआई की मदद से रिवर्स सर्च करने पर हमने पाया कि आलीशान बेड की तस्वीर भी इससे पहले कई ब्लॉगसाइट्स पर इस्तेमाल की जा चुकी है.

लिहाजा पड़ताल में साफ हुआ कि वायरल हो रही पोस्ट के साथ किया जा रहा दावा भ्रामक है. ताबूत में नजर आ रहा व्यक्ति कुवैत से नहीं बल्कि त्रिनिदाद एंड टोबागो से है. वहीं पोस्ट में कुवैत के सबसे अमीर व्यक्ति का नाम भी गलत दिया गया है.

फैक्ट चेक

फेसबुक यूजर्स

दावा

कुवैत के सबसे अमीर व्यक्ति नस्सी अल खरकी की अंतिम यात्रा की तस्वीरें

निष्कर्ष

ताबूत में दिख रहा शव त्रिनिदाद एंड टोबेगो के एक व्यक्ति का है, बाकी तस्वीरें स्टॉक फाटोज हैं.

झूठ बोले कौआ काटे

जितने कौवे उतनी बड़ी झूठ

  • कौआ: आधा सच
  • कौवे: ज्यादातर झूठ
  • कौवे: पूरी तरह गलत
फेसबुक यूजर्स
क्या आपको लगता है कोई मैसैज झूठा ?
सच जानने के लिए उसे हमारे नंबर 73 7000 7000 पर भेजें.
आप हमें factcheck@intoday.com पर ईमेल भी कर सकते हैं
आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें