scorecardresearch
 

जॉन अब्राहम ने सुनाई इमोशनल कविता, बोले- 'मेरा भारत महान है'

बॉलीवुड एक्टर जॉन अब्राहम ने ट्विटर पर एक वीडियो शेयर किया है. इस वीडियो में इमोशनल जॉन अब्राहम एक कविता पढ़ रहे हैं. इस कविता में वे फ्रंटलाइन वर्कर्स, पुलिस और कोरोना वायरस क्राइसेस से लड़ने में मदद करने वाले अन्य सभी लोगों का शुक्रिया अदा कर रहे हैं.

जॉन अब्राहम जॉन अब्राहम

इस समय कोरोना वायरस का खतरा दुनियाभर में फैला हुआ है. अलग-अलग देशों में लॉकडाउन लगा हुआ है तो वहीं डॉक्टर्स, पुलिसकर्मी और सफाई कर्मचारी दिन-रात लोगों की मदद करने और जान बचाने में लगे हुए हैं. देशों की सरकारें कोरोना वायरस से बचने के अलग-आग उपाय ढूंढने में लगी हुई हैं और लगातार जागरूकता फैलाने में लगी हुई हैं.

अब बॉलीवुड एक्टर जॉन अब्राहम ने ट्विटर पर एक वीडियो शेयर किया है. इस वीडियो में इमोशनल जॉन अब्राहम एक कविता पढ़ रहे हैं. इस कविता में वे फ्रंटलाइन वर्कर्स, पुलिस और कोरोना वायरस क्राइसेस से लड़ने में मदद करने वाले अन्य सभी लोगों का शुक्रिया अदा कर रहे हैं. इस कविता को फिल्म सत्यमेव जयते के डायरेक्टर मिलाप जवेरी ने लिखा है. इसे सुनकर आपके रोंगटे खड़े हो जाएंगे.

जॉन अब्राहम ने सुनाई कविता

अपने वीडियो में जॉन अब्राहम कहते हैं, 'सड़के हैं लावारिस, घर पर बैठा इन्सान है. जहां खेलते थे सब बच्चे अब खाली वो मैदान है. मंदिर और मस्जिद है बंद खुली राशन की दूकान है. हौसला फिर दिलों में क्यूंकि मेरा भारत महान है.' सुनिए जॉन की पूरी कविता यहां:

इस वीडियो को बनाने के बारे में बात करते हुए जॉन ने बताया, 'जब मिलाप मेरे पास ये आईडिया लेकर आए, मुझे समझ आ गया था कि मुझे ये करना ही है. मैं लोगों को इस बात को बताने में योगदान देना चाहता था कि हम सभी आज कितने ताकतवर हो गए हैं. साथ ही मैं उन लोगों का शुक्रिया करना चाहता था जो दूसरों की मदद कर रहे हैं. इस गोबल खतरे के खिलाफ साथ खड़े हैं और ये हमारी जिम्मेदारी है कि हम एक-दूसरे को प्रेरणा दें. मैं इस वीडियो के जरिए बताना चाहता हूं कि हम सब इससे जीतने में कामयाब जरूर होंगे.'

पत्रकार बनना चाहती थीं बधाई हो फेम सुरेखा सीकरी, इस इत्तेफाक ने बनाया एक्ट्रेस

विद्या बालन ने सिखाया ब्लाउज पीस और रबर बैंड से मास्क बनाना, देखें वीडियो

ये कविता फैन्स को खूब पसंद आ रही है और सभी इसकी तारीफ कर रहे हैं. बता दें कि जॉन अब्राहम से पहले आयुष्मान खुराना ने एक कविता लिखकर उसे जनता को सुनाया था. उस कविता में भी आयुष्मान कोरोना वायरस से लड़ाई और लॉकडाउन के बारे में बात कर रहे थे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें