scorecardresearch
 

CLAT 2018: जानें- कितना मुश्किल था पेपर और क्या है पैटर्न?

कॉमन लॉ एडमिशन टेस्ट (CLAT) 2018 का आयोजन हो चुका है. इस साल नेशनल यूनिवर्सिटी ऑफ एडवांस लीगल स्टडीज कोच्चि ने यह परीक्षा करवाई थी.

प्रतीकात्मक फोटो प्रतीकात्मक फोटो

कॉमन लॉ एडमिशन टेस्ट (CLAT) 2018 का आयोजन हो चुका है. इस साल नेशनल यूनिवर्सिटी ऑफ एडवांस लीगल स्टडीज कोच्चि ने यह परीक्षा करवाई थी. बता दें इस परीक्षा के माध्यम से लॉ में ग्रेजुएशन और पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्स के लिए एडमिशन दिया जाता है और यह परीक्षा सभी नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी द्वारा बारी-बारी से करवाई जाती है.

13 मई को देश में कई परीक्षा केंद्रों पर इस परीक्षा का आयोजन करवाया गया. बताया जा रहा है कि अंडर ग्रेजुएट और पोस्ट ग्रेजुएट पेपर्स काफी बड़े थे. हालांकि कुछ सेक्शन के सवाल आसान थे और गणित सेक्शन के सवाल मुश्किल बताए जा रहे हैं. बता दें कि अंडर ग्रेजुएट परीक्षा 200 अंक और पीजी पेपर 150 अंकों के लिए करवाया गया था.

कम पैसे में करें ये कोर्स, हर महीने 40 हजार तक होगी कमाई

पिछले साल चाणक्य नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी पटना ने 14 मई को परीक्षा का आयोजन किया था. इस परीक्षा में नेगेटिव मार्किंग के 0.25 अंक भी होते हैं. इस परीक्षा में 12वीं पास कर चुके उम्मीदवार आवेदन कर सकते हैं. पिछले साल राजस्थान के जयपुर के रहने वाले रजन मालू ने इस परीक्षा में पहला स्थान हासिल किया था.

जी हां! इन अजीबोगरीब कामों के लिए भी मिलती है डिग्रियां...

क्लैट से देशभर में 2342 लॉ की सीटें भरी जाएंगी. इसमें ऑल इंडिया कोटे की 1480, राज्य कोटे की 604, विशेष श्रेणी की 258 सीटें शामिल हैं. इस साल क्लैट का आयोजन नेशनल यूनिवर्सिटी ऑफ एडवास लीगल स्टडीज, कोच्चि, केरल की ओर से किया जा रहा है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें