scorecardresearch
 

इंजीनियरिंग छात्र ने UPSC में हासिल की चौथी रैंक, अब करेंगे आर्मी ज्वाइन

परीक्षा में चौथी रैंक हासिल करने के बाद उन्होंने एक बयान में कहा, “मैं एलपीयू में जबरदस्त समर्थन और प्रोत्साहन के लिए फैकल्टी और मेंटोर दोनों का बहुत आभारी हूं. विश्वविद्यालय ने मुझे अपनी स्किल्स पर काम करने और अकादमिक रूप से उत्कृष्टता प्राप्त करने के लिए प्रेरित किया, जिसने मेरी सफलता में महत्वपूर्ण योगदान दिया. शुभम सिन्हा का जन्म पटना, बिहार में हुआ था.

UPSC की परीक्षा सबसे मुश्किल परीक्षा में से एक होती है. इस परीक्षा को पास करने के लिए दिन रात एक करना पड़ता है, ऐसे में हम आपको एक ऐसे शख्स के बारे में बताने जा रहे हैं,  जिन्होंने UPSC CDS 2  की परीक्षा में चौथी रैंक हासिल की है.

ये शख्स हैं शुभम सिन्हा, जो लवली प्रोफेशनल यूनिवर्सिटी में इलेक्ट्रॉनिक्स और इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग स्कूल में बी.टेक की पढ़ाई कर रहे हैं. उन्होंने भारतीय सेना द्वारा आयोजित UPSC CDS 2 इलेक्ट्रॉनिक्स और संचार इंजीनियरिंग SSC तकनीकी परीक्षाओं में एक अखिल भारतीय रैंक- 4 हासिल किया है. इतना ही नहीं, उन्होंने भारतीय नौसेना अकादमी में AIR-19 और भारतीय सैन्य अकादमी में AIR-48 भी हासिल किया है.

परीक्षा में चौथी रैंक हासिल करने के बाद उन्होंने एक बयान में कहा, “मैं एलपीयू में जबरदस्त समर्थन और प्रोत्साहन के लिए फैकल्टी और मेंटोर दोनों का बहुत आभारी हूं.

विश्वविद्यालय ने मुझे अपनी स्किल्स पर काम करने और अकादमिक रूप से उत्कृष्टता प्राप्त करने के लिए प्रेरित किया, जिसने मेरी सफलता में महत्वपूर्ण योगदान दिया. शुभम सिन्हा  का जन्म पटना, बिहार में हुआ था.

वे स्कूली दिनों से ही NCC (नेशनल कैडेट कॉर्प्स) ट्रेनिंग का हिस्सा रहे हैं और अपने वर्तमान स्कोरिंग के साथ, वह लेफ्टिनेंट के रूप में भारतीय सेना में शामिल होने की इच्छा रखते हैं.

वह रक्षा बलों के "ECE Technical Wing" का हिस्सा बनने के लिए अपने स्किल का उपयोग करना चाहते हैं. हालांकि, उनका मुख्य लक्ष्य स्पेशल फोर्सेस का हिस्सा होना है.  वह अब वह कॉपरेटिव जॉब नहीं करना चाहते हैं.

 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें