scorecardresearch
 

हजारों करोड़ के कर्ज में CCD, लापता होने से पहले सिद्धार्थ ने CFO को किया था आखिरी कॉल

कैफे कॉफी डे (CCD) के मालिक वीजी. सिद्धार्थ मंगलवार सुबह अचानक लापता हो गए. वह सोमवार को मंगलुरू आए थे, जिसके बाद शाम 6.30 बजे गाड़ी से उतरने के बाद लापता हुए और अभी तक नहीं मिले

लापता हुए CCD के मालिक वीजी. सिद्धार्थ लापता हुए CCD के मालिक वीजी. सिद्धार्थ

कैफे कॉफी डे (CCD) के मालिक वीजी. सिद्धार्थ मंगलवार सुबह अचानक लापता हो गए. वह सोमवार को मंगलुरू आए थे, जिसके बाद शाम 6.30 बजे गाड़ी से उतरने के बाद लापता हुए और अभी तक नहीं मिले. पुलिस मामले की जांच कर रही है, राज्य के बड़े नेता लगातार उनके ससुर और पूर्व केंद्रीय मंत्री एस. एम. कृष्णा से मुलाकात कर रहे हैं. बताया जा रहा है कि CCD पर मार्च 2019 तक 6547.38 करोड़ रुपये का कर्ज था.

सूत्रों की मानें तो वीजी. सिद्धार्थ ने आखिरी बार अपनी कंपनी के CFO से 56 सेकेंड के लिए बात की थी. जिसमें उन्होंने अपने CFO को कंपनी का ख्याल रखने के लिए कहा था. जिस वक्त वह अपने CFO से फोन पर बात कर रहे थे, तो काफी निराश थे. CFO से बात करने के बाद उन्होंने अपना फोन स्विच ऑफ कर दिया था.

पुलिस अभी भी उनकी तलाश में जुटी है, डॉग स्क्वायड की मदद ली जा रही है. जिस पुल से वह गायब हुए हैं, उसके करीब 600 मीटर दूरी पर ही समुद्र है और सोमवार रात को हाईटाइड भी आया था.

जब से वीजी. सिद्धार्थ के लापता होने के बात सामने आई है, तभी से एसएम कृष्णा समेत पूरा परिवार परेशान है. लापता सिद्धार्थ की तलाश के लिए दक्षिण कन्नड़ पुलिस लग गई है. सिद्धार्थ जिस जगह से लापता हुए हैं, वहां पर एक नदी है, जिसमें पुलिस सर्च ऑपरेशन चला रही है.

67092776_10156598136909499_7635535744353697792_n_073019090125.jpgदेशभर में मशहूर है CCD के आउटलेट

ड्राइवर ने बताया क्या हुआ था?

इस मामले में ड्राइवर बसवराज पटेल का कहना है कि मैं सिद्धार्थ के लिए 3 साल से ड्राइविंग कर रहा हूं. सुबह 8 बजे मैं बेंगलुरु उनके घर गया, पहले विठ्ठल माल्या ऑफिस गए और फिर दोपहर 12.30 बजे उन्होंने सकलेशपुर ले जाने को कहा. हम इनोवा में जा रहे थे, लेकिन उन्होंने फिर मेंगलुरु जाने को कहा. ड्राइवर ने बताया कि केरल हाइवे के पास जब हम 3-4 किमी. अंदर गए थे, तो उन्होंने पुल के पास गाड़ी रोकने को कहा.

ड्राइवर के बयान के मुताबिक, उन्होंने मुझे वहां पर ही रुकने को कहा और बताया कि वह थोड़ा टहल कर आ रहे हैं. फिर जब रात को आठ बजे मैंने उन्हें फोन किया तो उनका फोन बंद था. बाद में मैंने उनके बेटे को फोनकर बताया. और हमने शिकायत दर्ज करवाई.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें