scorecardresearch
 

नूपुर शर्मा के खिलाफ कोलकाता पुलिस ने जारी किया लुकआउट नोटिस, समन के बावजूद नहीं हुईं हाजिर

पैगम्बर मोहम्मद के खिलाफ विवादित टिप्पणी करने के बाद देश ही नहीं दुनियाभर के कई देशों में नूपुर शर्मा के खिलाफ विरोध शुरू हो गया था. उनकी गिरफ्तारी की मांग होने लगी थी. उसी दौरान बीजेपी ने उन्हें निलंबित कर दिया था. विवादित मामले में नूपुर शर्मा के खिलाफ कई राज्यों में केस दर्ज हैं.

X
विवादित बयान पर नूपुर शर्मा को सुप्रीम कोर्ट ने लगाई थी फटकार (फाइल फोटो) विवादित बयान पर नूपुर शर्मा को सुप्रीम कोर्ट ने लगाई थी फटकार (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • सभी FIR दिल्ली ट्रांसफर करने की अपील पर SC में हुई थी सुनवाई
  • SC ने कल नूपुर शर्मा और दिल्ली सरकार को लगाई थी फटकार

पैगंबर मोहम्मद के खिलाफ विवादित बयान देने के बाद बीजेपी की पूर्व प्रवक्ता नूपुर शर्मा की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं. कोलकाता पुलिस ने अब उनके खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी कर दिया है. कोलकाता में नूपुर शर्मा के खिलाफ दो एफआईआर दर्ज की गई हैं, जिसके बाद पुलिस ने यह कार्रवाई की है.

मालूम हो कि एक दिन पहले शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट की फटकार के बाद दिल्ली पुलिस ने भी उन्हें पैगंबर मोहम्मद के खिलाफ आपत्तिजनक बयान देने के मामले में नोटिस भेजने का मन बना लिया है. पहले भी दिल्ली पुलिस नूपुर को धारा 41A के तहत जांच में शामिल होने के लिए नोटिस भेज चुकी है. 18 जून को पुलिस के सामने पेश होकर उन्होंने बयान भी दर्ज कराया था. दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल की IFSO यूनिट ने बयान दर्ज किया था.

कोलकाता में नूपुर पर दर्ज हैं 10 एफआईआर

पैगंबर पर विवादित टिप्पणी करने के मामले में कोलकाता पुलिस ने नूपुर शर्मा को नारकेलडांगा पुलिस स्टेशन ने इससे पहले 20 जून को पेश होने के लिए कहा था. इससे पहले 25 जून को एमहर्स्ट स्ट्रीट पुलिस थाने ने उन्हें समन जारी कर तलब किया था लेकिन दोनों ही मामलों में उन्होंने आने से मना कर दिया था. उनके खिलाफ कोलकाता के 10 पुलिस थानों में शिकायत दर्ज है. 

1 जुलाई को सुप्रीम कोर्ट ने जमकर लगाई थी फटकार

पैगम्बर मोहम्मद के खिलाफ विवादित बयान देने पर नूपुर शर्मा के खिलाफ कई राज्यों में शिकायत दर्ज करवाई गई थी. इन सब याचिकाओं को नूपुर ने दिल्ली ट्रांसफर करने की गुजारिश की थी, जिसको सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को इसे खारिज करते हुए कहा कि वह हाईकोर्ट का रुख करें. अब नूपुर पर गिरफ्तारी की तलवार लटक रही है.

सुप्रीम कोर्ट ने नूपुर शर्मा द्वारा पैगम्बर मोहम्मद को लेकर की गई टिप्पणी पर नाराजगी जाहिर थी. कोर्ट ने कहा था कि उनकी टिप्पणी ने देश भर में लोगों की भावनाओं को भड़का दिया है. आज जो कुछ देश में हो रहा है, उसके लिए वह जिम्मेदार हैं.

कोर्ट ने कहा था कि हमने डिबेट को देखा है. उसको भड़काने की कोशिश की, लेकिन उसके बाद उसने जो कुछ कहा, वो और ज्यादा शर्मनाक है. उन्हें पूरे देश से माफी मांगनी चाहिए. उन्होंने व उनकी हल्की जबान ने पूरे देश में आग लगा दी है. उनका यह गुस्सा इसी वजह से था. वो उदयपुर में हुई दुर्भाग्यपूर्ण घटना के लिए जिम्मेदार है. सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि नूपुर शर्मा किसी पार्टी की प्रवक्ता हैं, इसलिए सत्ता का नशा उनके दिमाग तक पहुंच गया है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें