scorecardresearch
 

अब Saudi Aramco बनी नंबर1, इस कारण Apple से छिना सबसे वैल्यूड कंपनी का दर्जा

एप्पल का मार्केट कैप इस साल की शुरुआत में 3 ट्रिलियन डॉलर के लेवल को पार कर गया था. इस तरह Apple दुनिया की पहली कंपनी बनी थी, जिसका एमकैप 3 ट्रिलियन डॉलर के पार गया हो. लंबे समय तक कोई अमेरिकी कंपनी ही दुनिया की सबसे ज्यादा वैल्यू वाली कंपनी बनी रही है.

X
तेल के दाम बढ़ने से हुआ फायदा (Photo: Reuters) तेल के दाम बढ़ने से हुआ फायदा (Photo: Reuters)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • ग्लोबल बिकवाली में तेजी से गिरा Apple का एमकैप
  • रूस-यूक्रेन जंग से सऊदी अरामको को फायदा

Most Valued Company in the World: सऊदी अरब की सरकारी तेल कंपनी Saudi Aramco ने दिग्गज टेक कंपनी Apple को वैल्यू के मामले में पीछे छोड़ दिया है. तेल की कीमतें बढ़ने से सऊदी अरामको का मार्केट कैप (Saudi Aramco MCap)  हाल के दिनों में तेजी से बढ़ा है, जबकि दूसरी ओर ग्लोबल मार्केट की बिकवाली (Global Sell Off) के बीच टेक कंपनियों (Tech Companies) के शेयर तेजी से गिर रहे हैं, जिसका खामियाजा Apple को उठाना पड़ा है.

इतना रह गया Apple का मार्केट कैप

बुधवार को बाजार बंद होने के बाद सऊदी अरामको का मार्केट कैप बढ़कर 2.42 ट्रिलियन डॉलर पर पहुंच गया. वहीं एप्पल का मार्केट कैप (Apple Market Cap) पिछले एक महीने से जारी गिरावट के कारण कम होकर 2.37 ट्रिलियन डॉलर रह गया है. एप्पल के शेयरों में यह गिरावट ऐसे समय आ रही है, जब मार्च तिमाही में कंपनी को उम्मीद से बेहतर प्रॉफिट हुआ है. हालांकि कंपनी को जून तिमाही में प्रॉफिट 4-8 बिलियन डॉलर कम रहने की आशंका है. इसका कारण चीन में लगाया गया लॉकडाउन और सप्लाई चेन की रुकावटें हैं.

रूस-यूक्रेन जंग से Saudi Aramco को फायदा

दूसरी ओर सऊदी अरब की सरकारी पेट्रोलियम एवं गैस कंपनी की बात करें तो उसे रूस-यूक्रेन के बीच जारी जंग से फायदा हुआ है. रूस और यूक्रेन के बीच महीनों से जारी लड़ाई के कारण क्रूड ऑयल के भाव चढ़े हुए हैं. इसके साथ ही नेचुरल गैस की कीमतें भी आसमान पर हैं. सऊदी अरामको को पिछले साल 110 बिलियन डॉलर का भारी-भरकम प्रॉफिट हुआ. यह साल 2020 के 49 बिलियन डॉलर के प्रॉफिट की तुलना में 124 फीसदी ज्यादा है.

कभी 3 ट्रिलियन डॉलर से ज्यादा था MCap

एप्पल का मार्केट कैप इस साल की शुरुआत में 3 ट्रिलियन डॉलर के लेवल को पार कर गया था. इस तरह Apple दुनिया की पहली कंपनी बनी थी, जिसका एमकैप 3 ट्रिलियन डॉलर के पार गया हो. लंबे समय से कोई अमेरिकी कंपनी ही दुनिया की सबसे ज्यादा वैल्यू वाली कंपनी बनी रही है. एप्पल से पहले यह कीर्तिमान टेक कंपनी माइक्रोसॉफ्ट के पास था. अभी माइक्रोसॉफ्ट मार्केट कैप के हिसाब से तीसरे नंबर की कंपनी है. टेक कंपनियों के शेयरों में जारी बिकवाली का आलम ऐसा है कि हाल ही में फेसबुक की पैरेंट कंपनी मेटा टॉप10 की लिस्ट से ही बाहर हो गई थी.

 

TOPICS:
आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें