scorecardresearch
 

अमूल

अमूल

अमूल

अमूल

अमूल (Amul) एक भारतीय डेयरी राज्य सरकार की सहकारी समिति है, जो गुजरात में आणंद में स्थित है (Amul Headquarter). इसकी स्थापना 1946 में की गई थी (Foundation of Amul). यह गुजरात कोऑपरेटिव मिल्क मार्केटिंग फेडरेशन लिमिटेड (GCMMF) द्वारा प्रबंधित एक सहकारी ब्रांड है. इसे गुजरात में 36 लाख दूध उत्पादकों द्वारा संयुक्त रूप से नियंत्रित किया जाता है और 13 जिला दूध संघों का शीर्ष निकाय है जो 13,000 गांवों में फैला हुआ है (Amul Company in Gujarat). 

अमूल की स्थापना को श्वेत क्रांति के नाम से जाना जाता है, जिसने देश को दूध और दूध उत्पादों का दुनिया का सबसे बड़ा उत्पादक बना दिया. अमूल शब्द का अर्थ आनंद मिल्क यूनियन लिमिटेड है. कैरा यूनियन ने अपने उत्पाद सीरीज के मार्केटिंग के लिए "अमूल" ब्रांड पेश किया (Amul Products). 

सरदार वल्लभभाई पटेल (Sardar Vallabhbhai Patel) के मार्गदर्शन में त्रिभुवनदास किशिभाई पटेल संगठन के संस्थापक अध्यक्ष बने. 70 के दशक में अपनी सेवानिवृत्ति तक अमूल कंपनी का नेतृत्व किया. उन्होंने 1949 में वर्गीज कुरियन (Verghese Kurien) को काम पर रखा और उन्हें इस मिशन में बने रहने और मदद करने के लिए राजी किया. त्रिभुवनदास की अध्यक्षता में, कुरियन शुरू में महाप्रबंधक थे और उन्होंने अमूल के तकनीकी और मार्केटिंग करने में मदद की. 1994 में त्रिभुवनदास किशीभाई पटेल (Tribhuvandas Kishibhai Patel) की मृत्यु के बाद कुरियन कुछ समय के लिए अमूल के अध्यक्ष थे (History of Amul). 

अगस्त 2019 में अमूल राबोबैंक की वैश्विक शीर्ष 20 डेयरी कंपनियों की सूची में प्रवेश करने वाली पहली भारतीय डेयरी कंपनी बन गई (Amul, Rabobank's Global Top 20 Dairy Companies list).

और पढ़ें

अमूल न्यूज़