scorecardresearch
 

शुभ मंगल सावधानः आखिर क्यों मनाते हैं भैरव अष्टमी

शुभ मंगल सावधानः आखिर क्यों मनाते हैं भैरव अष्टमी

शिव पुराण के अनुसार मार्गशीर्ष महीने की कृष्ण पक्ष की अष्टमी को भगवान शंकर के अंश से भैरव की उत्पत्ति हुई थी. इसलिए इसे काल भैरव अष्टमी के नाम से जाना जाता है. काल भैरव शिव का ही रूप हैं. अंधकासुर ने जब शिव पर हमला किया, तब उसके संहार के लिए शिव ने खून से भैरव की उत्पत्ति की थी. इस दिन काल भैरव और दुर्गा की पूजा करने का बड़ा महत्व है. इसके अलावा आज का राशिफल जानिए. देखिए कार्यक्रम शुभ मंगल सावधान.....

According to Shiva Purana, Bhairav, who is a form of Lord Shiva, was born on the Krishna Ashtami of Margashirsha month. Hence it is known as Kaal Bhairav Ashtami. In this programme, astrologer Shruti Dwivedi will tell you ways to celebrate this. Also know, how much good your day will be and where do you have to be careful? For more details, watch the full video of Subha Mangal Savdhan

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें