scorecardresearch
 

Chardham Yatra 2022: खुल गए केदारनाथ धाम के कपाट, एक दिन में 12 हजार श्रद्धालु कर सकेंगे दर्शन

Chardham Yatra 2022: चारधामों में से एक बाबा केदारनाथ धाम के कपाट शुक्रवार को श्रद्धालुओं के लिए खोल दिए गए हैं. इससे पहले अक्षय तृतीया के मौके पर यानी 3 मई को चार धाम यात्रा की शुरुआत हुई है. उत्तराखंड सरकार ने चार धाम यात्रा के लिए तीर्थयात्रियों की संख्या तय कर दी है. एक दिन में 12 हजार श्रद्धालु ही बाबा केदारनाथ के दर्शन कर सकेंगे.

X
बाबा केदारनाथ धाम के कपाट शुक्रवार से खोल दिए गए हैं. बाबा केदारनाथ धाम के कपाट शुक्रवार से खोल दिए गए हैं.
स्टोरी हाइलाइट्स
  • गंगोत्री-यमुनोत्री के पहले ही खुल चुके हैं कपाट
  • बद्रीनाथ धाम के कपाट 8 मई को खुलेंगे

चारधामों में से एक बाबा केदारनाथ धाम के कपाट वैदिक मंत्रोच्चार के साथ शुक्रवार को खोल दिए गए. हजारों भक्तों की जयकारों के बीच आज 6 बजकर 25 मिनट पर रावल भीमा शंकर लिंग ने पौराणिक परंपरा व विधि विधान से बाबा केदारनाथ धाम के कपाट खोले. इस दौरान उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी भी मौजूद रहे. मंदिर को 15 क्विंटल फूलों से सजाया गया है. केदारनाथ धाम के कपाट खुलने के दौरान करीब 20 हजार श्रद्धालु मौजूद रहे.

सुबह केदारनाथ के प्रधान पुजारी आवास से आर्मी बैंड और स्थानीय वाद्य यंत्रों के साथ बाबा केदार की डोली को मंदिर परिसर की ओर लाया गया, जिसके बाद जय बाबा केदार के उद्घोषों के बीच मंदिर के द्वार खोल दिये गए. मंदिर के कपाट खुलते ही सम्पूर्ण केदारपुरी जय बाबा केदार के जयकारों से गुंजायमान हो उठी. 

उधर, केदारनाथ धाम में श्रद्धालुओं की संख्या तय कर दी गई है. सरकारी आदेश में कहा गया है कि केदारनाथ में रोजाना 12 हजार श्रद्धालु दर्शन कर सकेंगे जबकि बद्रीनाथ में 15 हजार और गंगोत्री में 7 हजार और यमुनोत्री में 4 हजार श्रद्धालुओं को ही प्रतिदिन दर्शन करने की अनुमति होगी.

 

गंगोत्री और यमुनोत्री के खुल चुके हैं कपाट

इससे पहले गंगोत्री और यमुनोत्री के कपाट खुल चुके हैं. वहीं, 8 मई को बद्रीनाथ धाम के कपाट खुलेंगे. चार धाम यात्रा में भारी तादाद में श्रद्धालुओं के आने का है अनुमान है क्योंकि आने वाले कई दिनों के लिए रेजिस्ट्रेशन पहले से ही फुल चल रहे हैं.

कैसे कराएं रजिस्ट्रेशन

आप उत्तराखंड में चार धाम यात्रा के लिए पर्यटन विभाग द्वारा संचालित पोर्टल https://registrationandtouristcare.uk.gov.in पर अपना रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं. यात्रियों की सुविधा को ध्यान में रखते हुए उत्तराखंड सरकार ने यात्रियों के ठहरने की व्यवस्था, खान-पान और पार्किंग की पूरी व्यवस्था की है. श्रद्धालुओं को आगमन से पहले राज्य के पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कराने का भी निर्देश दिया गया है.

ये भी पढ़ें

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें