scorecardresearch
 

Free Ration: यूपी के इस जिले में अब 22 लाख लोगों को नहीं मिलेगा फ्री में गेहूं

उत्तर प्रदेश के एक जिले में अब फ्री राशन में गेहूं नहीं मिलेगा. सरकार की ओर से जारी आदेश में कहा गया कि अब गेहूं की जगह चावल दिया जाएगा. इससे जिले के करीब 22 लाख लोगों को गेहूं की जगह चावल मिलेगा.

X
सरकार की ओर से बांटे जा रहे फ्री राशन में संशोधन (प्रतीकात्मक तस्वीर) सरकार की ओर से बांटे जा रहे फ्री राशन में संशोधन (प्रतीकात्मक तस्वीर)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • 22 लाख लोगों को नहीं मिलेगा गेहूं
  • गेहूं की जगह दिया जाएगा 5 किलो चावल

उत्तर प्रदेश के मेरठ में लगभग 22 लाख लोगों को अब नि:शुल्क राशन में गेहूं नहीं मिलेगा. प्रदेश सरकार के एक आदेश में सिर्फ और सिर्फ सभी पात्रों को 5 किलो प्रति व्यक्ति चावल देने की बात कही गई है. अब तक पत्रों को राशन कार्ड पर नि:शुल्क 3 किलो गेहूं और 2 किलो चावल मिलता था, लेकिन अब 5 किलो चावल ही मिलेगा.

खाद्य एवं रसद विभाग उत्तर प्रदेश लखनऊ से सभी जिलाधिकारियों को और खाद एवं रसद विभाग अधिकारियों को 19 मई को पत्र जारी किया गया है. इसमें प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना फेज़ 6 के अंतर्गत अन्त्योदय अन्य योजना एवं पात्र गृहस्थी के लाभार्थी के लिए इस साल मई से सितंबर यानी 5 महीने तक नि:शुल्क 5 किलोग्राम अतिरिक्त खाद्यान्न को संशोधित आवंटन किया गया है.

इसमें लिखा गया है कि प्रधानमंत्री द्वारा गरीब कल्याण योजना के अंतर्गत अंतोदय अन्न योजना एवं पात्र गृहस्थी के लाभार्थी के लिए इसी साल अप्रैल से सितंबर तक 6 महीने के लिए उत्तर प्रदेश के लिए 5 किलोग्राम खाद्यान्न प्रति व्यक्ति प्रतिमा निशुल्क अतिरिक्त खाद्यान्न का आवंटन निर्गत किया गया था.

अवगत कराना है कि अवर सचिव भारत सरकार के पत्र में मई से सितंबर ृतक 5 माह के लिए 3 किलोग्राम गेहूं तथा 2 किलोग्राम चावल प्रति व्यक्ति प्रतिमाह के स्थान पर कुल 5 किलोग्राम अतिरिक्त खाद्यान्न का जनपद वार आवंटन किया गया है. पात्रों को योजना के अंतर्गत प्रदेश के समस्त जनपदों में प्रति यूनिट 5 किलोग्राम चावल का वितरण किया जाएगा.

बताया जा रहा है कि गेहूं के बढ़ते हुए दामों को लेकर ये फैसला लिया गया है. मेरठ के डीएसओ राघवेंद्र सिंह का कहना है कि अगले महीने चावल दिया जाएगा, अभी सिर्फ आवंटन 5 किलो प्रति व्यक्ति चावल के हिसाब से दिया गया है, मेरठ में करीब-करीब 22 लाख यूनिट है, जिनको अगले महीने से चावल दिए जाएंगे.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें