scorecardresearch
 

चाय बेचने वाला पीएम बन सकता है, जहरीली चाय बेचने वाला नहीं: जेडीयू

बीजेपी ने राष्‍ट्रीय परिषद की बैठक में नरेंद्र मोदी के 'चाय वाले' की छवि को उनकी ताकत बनाने का निर्णय लिया, लेकिन कांग्रेस व जेडीयू की ओर से मोदी का विरोध कम होता नहीं दिख रहा. ताजा मामले में जेडीयू ने मोदी को 'जहरीला चाय विक्रेता' बताते हुए कहा है कि उनका प्रधानमंत्री बनना देश के लिए घातक हो सकता है.

जेडीयू नेता केसी त्‍यागी जेडीयू नेता केसी त्‍यागी

बीजेपी ने राष्‍ट्रीय परिषद की बैठक में नरेंद्र मोदी के 'चाय वाले' की छवि को उनकी ताकत बनाने का निर्णय लिया, लेकिन कांग्रेस व जेडीयू की ओर से मोदी का विरोध कम होता नहीं दिख रहा. ताजा मामले में जेडीयू ने मोदी को 'जहरीला चाय विक्रेता' बताते हुए कहा है कि उनका प्रधानमंत्री बनना देश के लिए घातक हो सकता है.

जेडीयू नेता केसी त्यागी ने कहा है कि मोदी जहरीली चाय बेचते हैं और ऐसे व्यक्ति को प्रधानमंत्री नहीं बनना चाहिए. उन्‍होंने कहा कि मोदी ने गुजरात में भी ऐसी ही चाय बेची है.

त्यागी ने कहा, 'चाय बेचने वाला प्रधानमंत्री बन सकता है, लेकिन जहरीली चाय बेचने वाले व्यक्ति को पीएम नहीं बनना चाहिए. नरेंद्र मोदी ने गुजरात के जरिए देश में जहरीली चाय बेची है. चाय बेचने वाले अच्छे लोग हैं, लेकिन जहरीली चाय बेचने वाले अच्छे लोग नहीं हैं.'

'बीजेपी सिर्फ उम्‍मीदवार देती है, जबकि कांग्रेस मजबूत प्रधानमंत्री'
दूसरी ओर, रविवार को रामलीला मैदान में मोदी ने अपने भाषण में कांग्रेस की तीखी आलोचना की थी. भाषण पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए केंद्रीय मंत्री मनीष तिवारी ने कहा कि बीजेपी सिर्फ प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार देती है, जबकि कांग्रेस देश को मजबूत प्रधानमंत्री देती है.

तिवारी ने लुधियाना में संवाददाताओं से कहा, 'पिछले दो चुनावों के दौरान बीजेपी की ओर से सिर्फ उम्मीदवार ही पेश किए गए, जबकि प्रधानमंत्री सिर्फ कांग्रेस और यूपीए से हुए.' तिवारी ने कहा कि वह आश्‍वत हैं कि आगामी लोकसभा चुनाव में कांग्रेस को एक बार फिर लोगों का आशीर्वाद मिलेगा और कांग्रेस व यूपीए देश को मजबूत पीएम देंगे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें