scorecardresearch
 

'ग्लेडियेटर्स योद्धाओं से जुड़ी एक स्टडी ने छुड़वा दिया था मीट', एक्टर और कॉम्बेट ट्रेनर ने खोला राज

India Today Conclave 2021: एक्टर और कॉम्बेट ट्रेनर जेम्स विल्किस ने बताया कि अब वह मीट खाना छोड़ चुके हैं और प्लांट बेस्ड डाइट ही लेते हैं.

India Today Conclave 2021 में जेम्स विल्किस भी शामिल हुए India Today Conclave 2021 में जेम्स विल्किस भी शामिल हुए
स्टोरी हाइलाइट्स
  • इंडिया टुडे कॉन्क्लेव 2021 में शामिल हुए जेम्स विल्किस
  • जेम्स विल्किस ने मीट खाना छोड़ दिया है वह प्लांट बेस्ड डाइट लेते हैं

योद्धा रोमन ग्लेडियेटर्स से जुड़ी एक स्टडी ने किस तरह जेम्स विल्किस को मीट छोड़ने पर मजबूर कर दिया उन्होंने खुद यह बात बताई. इंडिया टुडे कॉन्क्लेव 2021 (India Today Conclave 2021) में शामिल हुए जेम्स विल्किस (James Wilks) ने बताया कि अब वह सिर्फ प्लांट बेस्ट डाइट लेते हैं और बिल्कुल फिट हैं.

Gut Reaction: Why I changed my protein. And got a miracle body टॉपिक पर बात करते जेम्स विल्किस ने यह सब बताया. इस चर्चा में जेनेलिया देशमुख और रितेश देशमुख भी शामिल थे. वे भी अब प्लांट बेस्ट डाइट ही लेते हैं. जेम्स मूवी डायरेक्टर हैं और उन्होंने नेटफ्लिक्स पर आई डॉक्यूमेंट्री The Game Changers  में काम भी किया है. यह डॉक्यूमेंट्री इसी पर है कि नॉन वेट की जगह प्लांट बेस्ट डाइट कितनी मददगार साबित हो सकती है. चर्चा में जेम्स ने बताया कि लोगों को लगता है कि बॉडी बनाने के लिए मीट की जरूरत है. लेकिन ऐसा नहीं है.

जेम्स लड़ाकू प्रशिक्षक (combative instructor) हैं. वह नेवी और मरीन स्टाफ को ट्रेन करते थे. लेकिन इस बीच उनको एक खतरनाक इंजरी हुई. India Today Conclave 2021 में जेम्स ने बताया, 'इंजरी के दौरान मुझे रोमन ग्लेडियेटर्स से जुड़ी एक स्टडी पढ़ने को मिली. इसमें केल्शियम आदि पर भी बात की गई थी. लिखा था कि वो लोग प्लांट बेस्ड डाइट लेते थे.'

जेम्स ने कहा मुझे लगता था कि ऐसा कैसे हो सकता है क्योंकि एथलेटिक्स में बताया जाता है कि मसल्स के लिए आपको मीट खाना होगा और मजबूत हड्डियों के लिए आपको दूध और डेयरी प्रोडक्ट्स खाने होंगे. लेकिन उस स्टडी ने मुझे चौंका दिया. उसके बाद मैंने कई और साइंस से जुड़ी बातें पढ़ीं. फिर मुझे पता लगा कि मीट और डेयरी प्रोडक्ट्स इतने जरूरी नहीं हैं.

जेम्स ने कहा कि उनको यह समझ आ गया था कि प्रोटीन असल में प्लांट में होता है, जो कि अबतक वह जानवरों के जरिए ले रहे थे जो उन प्लांट को ही खाते थे.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें