scorecardresearch
 

दिल्ली पुलिस की महिला ASI ने बचाई लाचार की इज्जत

दिल्ली पुलिस पर भले ही लापरवाही करने के लाख आरोप लगे पर अब भी दिल्ली पुलिस के कई ऐसे अफसर हैं जो दिल्ली पुलिस की लाज निभाने और अपने फर्ज को पूरा करने में कोई कोताही नहीं बरतते. ऐसी ही एक मिसाल कायम की है दिल्ली के आनंद पर्वत थाने में तैनात महिला हवलदार किरण ने. दरअसल, बुधवार तड़के किरण थाने जाने के लिये अपने घर से निकली तो राजेन्द्र नगर बस स्टॉप के पास एक सिरफिरा एक अंधी लड़की से छेड़खानी कर रहा था और लड़की घबराई हुई थी.

दिल्ली पुलिस पर भले ही लापरवाही करने के लाख आरोप लगे पर अब भी दिल्ली पुलिस के कई ऐसे अफसर हैं जो दिल्ली पुलिस की लाज निभाने और अपने फर्ज को पूरा करने में कोई कोताही नहीं बरतते. ऐसी ही एक मिसाल कायम की है दिल्ली के आनंद पर्वत थाने में तैनात महिला हवलदार किरण ने. दरअसल, बुधवार तड़के किरण थाने जाने के लिये अपने घर से निकली तो राजेन्द्र नगर बस स्टॉप के पास एक सिरफिरा एक अंधी लड़की से छेड़खानी कर रहा था और लड़की घबराई हुई थी.

किरण को शक हुआ और उसने अपनी स्कूटी रोकी. महिला पुलिसकर्मी ने अंधी लड़की से बात करने का कोशिश की. लड़की ने बताया कि वो सिरफिरा कभी देर से उसे तंग कर रहा है और अपने साथ एक ऑटो में ले जाने की कोशिश कर रहा है. इसके बाद किरण ने उस सिरफिरे को काबू करने की कोशिश की लेकिन उस वक्त किरण वर्दी में नहीं थी. इस वजह से लड़के ने किरण से मारपीट कर दी लेकिन फिर भी महिला पुलिसकर्मी वहां डटी रही और 100 नंबर पर कॉल कर दी. पीसीआर वैन के आने कर उस लड़के को काबू में रखा और पुलिस के हवाले कर दिया.

डीसीपी आलोक कुमार ने किरण की बहादुरी की तारीफ की है. किरण कराटे और योगा की इंटरनेशनल प्लेयर है और दिल्ली पुलिस की महिला कांस्टेबलों को ट्रेनिग भी देती हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें