scorecardresearch
 

बिहार: अग्निपथ योजना पर मचे बवाल के बीच मंत्री राम सूरत राय बोले- हिंसा के पीछे आतंकवादी और राजनीतिक गुंडे

राम सूरत राय ने कहा कि इस योजना के खिलाफ हिंसक विरोध प्रदर्शन करने के लिए राजनीतिक दलों द्वारा आतंकवादियों और गुंडों को "किराए" पर रखा गया था.

X
बिहार सरकार में राम सूरत राय (फाइल फोटो) बिहार सरकार में राम सूरत राय (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • राम सूरत राय के पास राजस्व विभाग है
  • बीजेपी और जेडीयू के रिश्तों पर भी आंच

अग्निपथ योजना को लेकर मचे बवाल के बीच बिहार सरकार में मंत्री राम सूरत राय का बयान सुर्खियों में है. उन्होंने आरोप लगाया है कि हिंसा के पीछे आतंकवादी और राजनीतिक गुंडे हैं. उन्होंने कहा कि इस योजना के खिलाफ हिंसक विरोध प्रदर्शन करने के लिए राजनीतिक दलों द्वारा आतंकवादियों और गुंडों को "किराए" पर रखा गया था.

उन्होंने कहा, "विरोध के पीछे आतंकवादी और गुंडे थे. उन्हें राजनीतिक दलों द्वारा काम पर रखा गया और उनका इस्तेमाल किया गया." उनका ये बयान BJP विधायक हरि भूषण ठाकुर द्वारा अग्निपथ प्रदर्शनकारियों की तुलना जिहादियों से करने के एक दिन बाद आया. हालांकि उन्होंने किसी पार्टी का नाम नहीं लिया. फिलहाल राम सूरत राय के पास राजस्व विभाग है.

इससे पहले केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह जैसे बीजेपी नेताओं ने पिछले हफ्ते राज्य में हुई हिंसा और आगजनी के पीछे विपक्षी आरजेडी का हाथ होने का आरोप लगाया था. बता दें कि बिहार में अग्निपथ स्कीम का सबसे ज्यादा विरोध हो रहा है और बीते कई दिनों में वहां जबरदस्त हिंसक प्रदर्शन हुए हैं. ऐसे में इस योजना की आग ने बीजेपी और जेडीयू के रिश्तों को भी शायद झुलसा दिया है. 

हाल ही में बिहार बीजेपी के अध्यक्ष संजय जायसवाल ने बयान देकर सीधे आरोप लगा दिया था कि बीजेपी के कार्यालय फूंके जाते रहे और पुलिस मूक दर्शक बनी रही. हालांकि इस बयान पर जदयू नेता भी जवाब देने के लिए कूद पड़े और अब उसके बाद बैठकों का दौर शुरू हो गया था. 

इनपुट-PTI

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें