scorecardresearch
 

हिंसा के बाद उत्तर प्रदेश में ताबड़तोड़ गिरफ्तारियां, 1120 प्रदर्शनकारी चढ़े पुलिस के हत्थे

502 आरोपियों के खिलाफ अग्निपथ योजना के विरोध के दौरान उपद्रव फैलाने का आरोप है. वहीं, 423 आरोपियों पर 10 जून को नूपुर शर्मा के खिलाफ जुमे की नमाज के बाद हुए प्रदर्शन में शामिल होने का आरोप है.

X
सांकेतिक तस्वीर सांकेतिक तस्वीर
स्टोरी हाइलाइट्स
  • 20 जिलों में की गई गिरफ्तारी की कार्रवाई
  • अब तक 64 एफआईआर दर्ज की जा चुकीं

उत्तर प्रदेश में हिंसा फैलाने वाले प्रदर्शनकारियों के खिलाफ यूपी सरकार की ताबड़तोड़ कार्रवाई जारी है. अब तक 1120 लोगों की गिरफ्तारी की जा चुकी है. यह कार्रवाई उत्तर प्रदेश के 20 जिलों में की गई है. इसमें से 502 आरोपियों के खिलाफ अग्निपथ योजना के विरोध के दौरान उपद्रव फैलाने का आरोप है.

इसके अलावा 423 आरोपियों पर 10 जून को नूपुर शर्मा के खिलाफ जुमे की नमाज के बाद हुए प्रदर्शन में शामिल होने का आरोप है. इसमें 20 एफआई दर्ज की गई थीं. अब तक कुल 64 एफआईआर दर्ज की गई हैं. इसके अलावा 816 आरोपियों का धारा 151 के तहत चालान काटा गया है.

इन जिलों से हुई गिरफ्तारी

फिरोजाबाद, नोएडा, गोरखपुर, संतकबीरनगर, फिरोजाबाद, मैनपुरी, अयोध्या, सुल्तानपुर, मऊ, फतेहगढ़, बलिया,आगरा, हरदोई, गाजीपुर, देवरिया, मिर्जापुर, मथुरा, अलीगढ़, चंदौली, वाराणसी कमिश्नरेट और जौनपुर.

क्या होती है 151 सीआरपीसी की कार्रवाई

सीआरपीसी की धारा 151 के तहत अपराध होने की आशंका पर पुलिस किसी व्यक्ति को गिरफ्तार कर सकती है. इसे निरोधात्मक कार्रवाई कहते हैं. धारा 151 के तहत कोई मुकदमा नहीं चलता, न ही कोई जुर्माना लगाया जा सकता है बस आरोपी को गिरफ्तार कर मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया जाता है, जहां पर उसे अपराध न करने या शांति व्यवस्था भंग न करने की हिदायत के साथ जमानत दे दी जाती है. 

अग्निपथ: UP में कहां-कहां हुआ प्रदर्शन

तीन दिन पहले अलीगढ़ के जट्टारी में पुलिस चौकी फूंक दी गई थी. इसमें 30 गिरफ्तारियां हुई थीं. अलीगढ़ में भाजपा नगर पंचायत चेयरमैन की गड़ी फूंक दी गई थी. आगरा जोन के एडीजी का कार का पिछला ग्लास तोड़ दिया गया था. यमुना एक्सप्रेसवे पर बस को आग के हवाले कर दिया गया था. इसके अलावा बलिया में प्रदर्शनकारियों ने जमकर बवाल काटा था.

नूपुर शर्मा के खिलाफ हुआ था प्रदर्शन

अग्निपथ योजना के खिलाफ हुए विरोध-प्रदर्शन के पहले भाजपा की पूर्व प्रवक्ता नूपुर शर्मा के बयान के खिलाफ यूपी में जगह-जगह प्रदर्शन हुए थे. इन प्रदर्शनों में शामिल होने वालों के खिलाफ भी यूपी पुलिस ने सख्त कार्रवाई की है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
; ;