scorecardresearch
 
मनोरंजन

सलाम बॉम्बे से अंग्रेजी मीडियम तक, अदाकारी की जादूगरी से भरी इरफान की यात्रा

सलाम बॉम्बे से अंग्रेजी मीडियम तक, अदाकारी की जादूगरी से भरी इरफान की यात्रा
  • 1/17
भारत के सबसे महानतम एक्टर्स में शुमार इरफान खान का निधन हो गया है. उनकी फिल्मोग्राफी का स्तर ऐसा है कि किसी भी उभरते एक्टर के लिए वे एक एक्टिंग इंस्टीट्यूट से कम नहीं थे. अपनी डायलॉग डिलीविरी से लेकर अपनी इंटेंस एक्टिंग तक के लिए पहचाने जाने वाले इरफान की सिनेमाई यात्रा पर डालते हैं एक नजर
सलाम बॉम्बे से अंग्रेजी मीडियम तक, अदाकारी की जादूगरी से भरी इरफान की यात्रा
  • 2/17
सलाम बॉम्बे

इरफान खान को अपनी पहली ही फिल्म जब मिली थी तब वे एनएसडी में फाइनल इयर स्टूडेंट थे. मीरा नायर ने साल 1988 में फिल्म सलाम बॉम्बे के लिए उन्हें रोल दिया था लेकिन बाद में उनके रोल को काफी एडिट कर दिया गया था जिससे इरफान काफी निराश हुए थे जिसके चलते उनकी मां ने भी मीरा नायर से भी मुलाकात की इच्छा जता दी थी क्योंकि वे जानना चाहती थीं कि आखिर उनके बेटे के रोल को काटा क्यों गया.
सलाम बॉम्बे से अंग्रेजी मीडियम तक, अदाकारी की जादूगरी से भरी इरफान की यात्रा
  • 3/17
श्रीकांत

श्रीकांत सीरियल शरत चंद्र चटर्जी के उपन्यास श्रीकांत पर बेस्ड है. इसका निर्देशन प्रवीण निस्कोल ने किया था. श्रीकांत में फारुख शेख, सुजाता मेहता, इरफान खान, मृणाल कुलकर्णी लीड रोल में थे. इरफान ने इसके अलावा चाणक्य, चंद्रकांता, स्पर्श, डर, भारत एक खोज जैसे शोज शामिल हैं. इरफान के निधन के बाद दूरदर्शन ने इस शो को दोबारा टेलीकास्ट करने का फैसला किया है.
सलाम बॉम्बे से अंग्रेजी मीडियम तक, अदाकारी की जादूगरी से भरी इरफान की यात्रा
  • 4/17
चंद्रकांता

ये वो दौर था जब इरफान खान कई मशहूर टीवी सीरियल्स का हिस्सा थे. सीरियल चंद्रकांता में उन्होंने बद्रीनाथ के किरदार से काफी चर्चा हासिल की थी.  1994-98 के बीच इरफान ने कई टीवी सीरियल्स में काम किया. हालांकि इन सीरियल्स में एक ही सेट पैटर्न की एक्टिंग के चलते बोर होने लगे थे और चैलेंजिंग रोल की तलाश कर रहे थे. वे इस दौरान काफी कश्मकश में थे कि एक्टिंग छोड़े या इसी तरह का काम करते रहें जिसमें किसी तरह की कोई चुनौती नहीं है.
सलाम बॉम्बे से अंग्रेजी मीडियम तक, अदाकारी की जादूगरी से भरी इरफान की यात्रा
  • 5/17
वॉरियर

साल 2001 में आई आसिफ कपाड़िया की फिल्म वॉरियर से इरफान खान नेशनल ही नहीं बल्कि इंटरनेशनल सुर्खियां पाने में कामयाब रहे थे. उन्होंने एक इंटरव्यू में भी कहा था कि वॉरियर उनके करियर का टर्निंग प्वाइंट साबित हुई थी. इरफान इस फिल्म के सहारे टीवी सीरियल्स की वन डाइमेंशन एक्टिंग वाली दुनिया को भी काफी पीछे छोड़ आए थे
सलाम बॉम्बे से अंग्रेजी मीडियम तक, अदाकारी की जादूगरी से भरी इरफान की यात्रा
  • 6/17
हासिल

जैसे वॉरियर ने इरफान को इंटरनेशनल स्तर पर लोकप्रियता दिलाई, कुछ ऐसी ही सफलता उन्हें उसी दौरान रिलीज हुई फिल्म हासिल ने बॉलीवुड में भी दिलाई. कॉलेज पॉलिटिक्स के इर्द गिर्द घूमती इस फिल्म में इरफान ने ग्रे शेड किरदार निभाया था. इस फिल्म को तिग्मांशु धूलिया ने डायरेक्ट किया था. फिल्म में रणविजय सिंह के किरदार के लिए इरफान को बेस्ट ऐक्टर इन नेगेटिव रोल के लिए फिल्मफेयर अवॉर्ड भी मिला था.
सलाम बॉम्बे से अंग्रेजी मीडियम तक, अदाकारी की जादूगरी से भरी इरफान की यात्रा
  • 7/17
मकबूल

विशाल भारद्वाज के डायरेक्शन में बनी यह फिल्म शेक्सपीयर के मशहूर नाटक 'मैकबेथ' का हिंदी रुपांतरण थी. इस फिल्म में पंकज कपूर, नसीरुद्दीन शाह, ओमपुरी, तब्बू जैसे दिग्गज कलाकारों ने काम किया था. इरफान और तब्बू की केमिस्ट्री की इस फिल्म में काफी चर्चा हुई थी. मियां मकबूल की भूमिका में इरफान एक से एक लेजेंडरी कलाकारों के बीच भी अपनी छाप छोड़ने में कामयाब रहे थे. 
सलाम बॉम्बे से अंग्रेजी मीडियम तक, अदाकारी की जादूगरी से भरी इरफान की यात्रा
  • 8/17
नेमसेक

मीरा नायर की फिल्म नेमसेक में इरफान खान ने एक बंगाली इमिंग्रेट का किरदार निभाया था. इस फिल्म में वे मकबूल के बाद एक बार फिर तब्बू के साथ लीड रोल में थे. एक बंगाली फैमिली कैसे अमेरिका में एडजस्ट करती है, इस फिल्म में काफी संवेदनशील अंदाज में दिखाया गया था.
सलाम बॉम्बे से अंग्रेजी मीडियम तक, अदाकारी की जादूगरी से भरी इरफान की यात्रा
  • 9/17
लंचबॉक्स

मानवीय रिश्तों पर आधारित फिल्म लंचबॉक्स में इरफान ने एक ऐसे अधेड़ उम्र के शख्स का किरदार निभाया था जिसकी पत्नी का निधन हो जाता है और लंच के डब्बों के जरिए उसकी जिंदगी में एक महिला की एंट्री होती है. फिल्म में नवाजुद्दीन और इरफान का काम देखने लायक है. ये भारत की इकलौती ऐसी फिल्म है जिसे टोरंटो फिल्म क्रिटिक्स एसोसिएशन अवॉर्ड मिला था.
सलाम बॉम्बे से अंग्रेजी मीडियम तक, अदाकारी की जादूगरी से भरी इरफान की यात्रा
  • 10/17
लाइफ ऑफ पाई

मशहूर डायरेक्टर एंग ली की फिल्म 'लाइफ ऑफ पाई' में इरफान ने एक ऐसे शख्स का किरदार निभाया था जो अपनी टीनेज दौर की कहानी सुनाता है. एक ऐसी कहानी जब इरफान एक सुनसान समंदर में एक टाइगर के साथ बोट पर फंस जाते हैं. इस फिल्म ने बॉलीवुड ही नहीं बल्कि हॉलीवुड में भी जबरदस्त नाम कमाया था. 
सलाम बॉम्बे से अंग्रेजी मीडियम तक, अदाकारी की जादूगरी से भरी इरफान की यात्रा
  • 11/17
पान सिंह तोमर


इरफान ने एक बार फिर तिग्मांशु धूलिया के डायरेक्शन में बनी इस फिल्म में कमाल कर दिखाया था. मशहूर एथलीट से डकैत बने पान सिंह तोमर का किरदार निभाकर वे दर्शकों का दिल जीतने में कामयाब रहे थे. एक टैलेंटेड एथलीट जिसे हालातों के चलते बीहड़ का डकैत बनना पड़ता है. इस फिल्म के लिए इरफान नेशनल अवॉर्ड जीतने में कामयाब रहे थे.
सलाम बॉम्बे से अंग्रेजी मीडियम तक, अदाकारी की जादूगरी से भरी इरफान की यात्रा
  • 12/17
स्लमडॉग मिलियनेर

डैनी बॉयल की इस फिल्म ने जबरदस्त प्रदर्शन करते हुए 8 ऑस्कर अवॉर्ड्स जीते थे. इस फिल्म के बाद ही इंटरनेशनल स्तर पर इरफान इतने मशहूर हो गए थे कि एवेंजर्स के हल्क  यानि मार्क रफैलो और जूलिया रॉबर्ट्स ने उनके काम की जमकर तारीफ की थी.



सलाम बॉम्बे से अंग्रेजी मीडियम तक, अदाकारी की जादूगरी से भरी इरफान की यात्रा
  • 13/17
लाइफ इन ए मेट्रो

अनुराग बसु द्वारा निर्देशित ये फिल्म 9 लोगों की कहानी है जो अलग-अलग बैकग्राउंड और अलग परिवेश से आए हैं और मुंबई में रहने वाले इन लोगों की कुछ सिलेसिलेवार घटनाओं की वजह से जिंदगी बदल जाती है. यूं तो फिल्म में कई मंजे हुए सितारे नजर आए थे लेकिन इरफान का जिंदगी को लेकर नजरिया और फिलोसॉफिकल अंदाज लोगों के दिलों में घर कर गया था. 





सलाम बॉम्बे से अंग्रेजी मीडियम तक, अदाकारी की जादूगरी से भरी इरफान की यात्रा
  • 14/17
पीकू

शूजीत सरकार की कॉमेडी ड्रामा फिल्म पीकू में इरफान ने पहली बार दीपिका पादुकोण और अमिताभ बच्चन जैसे सितारों के साथ काम किया था. इस फिल्म को क्लासिक रोड ट्रिप फिल्म भी माना जाता है और दीपिका, अमिताभ और इरफान की केमिस्ट्री को फिल्म में काफी पसंद किया गया था और इस फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर अच्छा प्रदर्शन किया था.
सलाम बॉम्बे से अंग्रेजी मीडियम तक, अदाकारी की जादूगरी से भरी इरफान की यात्रा
  • 15/17
मदारी

इरफान ने इस फिल्म में एक ऐसे शख्स की भूमिका निभाई थी जिसका बेटा सरकार की लापरवाही के चलते मर जाता है. इसके बाद बदला लेने के लिए इरफान होम मिनिस्टर के बेटे को किडनैप कर लेता है. चूंकि ये फिल्म पॉलिटिक्स और सामाजिक मुद्दे से जुड़ी थी, ऐसे में इरफान ने इस फिल्म से पहले राजनेता लालू यादव का इंटरव्यू भी लिया था.

सलाम बॉम्बे से अंग्रेजी मीडियम तक, अदाकारी की जादूगरी से भरी इरफान की यात्रा
  • 16/17
हैदर

विशाल भारद्वाज की फिल्म हैदर में रुहदार का किरदार निभाने वाले इरफान की इस फिल्म में एंट्री से ही फैंस रोमांचित हो उठते हैं. शाहिद कपूर, श्रद्धा कपूर, तब्बू और केकेमेनन स्टारर इस फिल्म में इरफान अपने छोटे लेकिन पावरफुल रोल से दर्शकों का मन मोह लेते हैं.
सलाम बॉम्बे से अंग्रेजी मीडियम तक, अदाकारी की जादूगरी से भरी इरफान की यात्रा
  • 17/17
अंग्रेजी मीडियम

इरफान खान की आखिरी फिल्म अंग्रेजी मीडियम थी. इस फिल्म में उन्होंने पहली बार करीना कपूर खान के साथ काम किया था. कैंसर से इलाज करा कर लौटने के बाद इरफान की ये पहली फिल्म थी जो रिलीज हुई थी. हालांकि कोरोना वायरस के चलते इस फिल्म का बिजनेस काफी प्रभावित हुआ था. इरफान खान की आने वाली फिल्म का दर्शक बेसब्री से इंतजार कर रहे थे लेकिन उन्होंने अचानक ही इस दुनिया को अलविदा कह दिया.