scorecardresearch
 

सबसे सटीक एग्जिट पोल कैसे करते हैं? Axis My India के CMD ने बताया

एग्जिट पोल कितना खरा है? इस पैमाने पर आजतक Axis My India एक बार फिर खरा उतरा है. 7 मार्च को आजतक पर दिखाए गए एग्जिट पोल हकीकत के चुनाव नतीजों से काफी करीब हैं. आखिरकार क्या है Axis My India के एग्जिट पोल का तरीका जो असल नतीजों के एकदम करीब होता है, हमें इस बारे में विस्तार से बताया है Axis My India सीएमडी प्रदीप गुप्ता ने.

X
यूपी चुनाव में बीजेपी की जीत की खुशी मनाते समर्थक (फोटो- आजतक) यूपी चुनाव में बीजेपी की जीत की खुशी मनाते समर्थक (फोटो- आजतक)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • उत्तर प्रदेश में बीजेपी में 260 से 270 के बीच रहने के आसार
  • एग्जिट पोल में Axis My India ने 270-304 सीटों पर बीजेपी की जीत का अंदाजा लगाया था
  • उत्तराखंड में 36-46 सीटों का था आकलन
  • असल नतीजों में बीजेपी को 48 सीटें मिलने के आसार

आजतक-Axis My India का एग्जिट पोल एक बार फिर से सटीक साबित हुआ है. Axis My India के चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर प्रदीप गुप्ता ने आजतक के साथ बातचीत में बताया कि वे कैसे अपना एग्जिट पोल करते हैं जो सटीक निकलता है. इस बार भी आजतक Axis My India का एग्जिट पोल सही साबित हुआ है. प्रदीप गुप्ता ने कहा है कि इस एग्जिट पोल के लिए 300 लोगों की टीम ने 3 महीने तक काम किया, फिर नतीजा सामने आया है.

प्रदीप गुप्ता ने कहा कि जब हमारी टीम एग्जिट पोल करने निकलती है तो वोट देकर निकले लोगों से सबसे पहले उनकी समस्या पूछती है. इससे उसके दिल में उम्मीद जगती है कि सामने वाला हमारी समस्या को लेकर जिज्ञासु है. इसके बाद हम उसे एक गिफ्ट देते हैं. ये गिफ्ट 10 से 12 रुपये का होता है. इन दो तरीकों से उनसे बात की शुरुआत की जाती है. 

प्रदीप गुप्ता ने कहा कि वे पति-पत्नी से अलग बात करने की कोशिश करते हैं. क्योंकि आजकल कई मुद्दों पर पति और पत्नियों की राय अलग होती है. हमारे टैबलेट में पार्टी के चिह्न होते हैं. इसे दिखाकर हम पूछते हैं कि वे बताएं कि उन्होंने किसे वोट दिया है. 

किस सीट पर कौन जीता-कौन हारा? देखें पूरी लिस्ट 

कौन है सबसे मुश्किल वोटर

Axis My India के सीएमडी प्रदीप गुप्ता से पूछा गया है कि वे एक वैसे वोटर के बारे में बताएं जिनकी राय जाननी उनके लिए सबसे मुश्किल हुई हो? इसके जवाब में उन्होंने कहा कि सबसे मुश्किल तब हुआ था जब उत्तर प्रदेश में उन्हें मुस्लिम मतदाताओं का मत जानना था. प्रदीप गुप्ता ने कहा कि मुस्लिम मतदाता से हमारी टीम ने बात की थी तो उन्होंने कहा कि मैंने बीजेपी से वोट किया. हम अपने लोगों को पहले से ही ट्रेनिंग दे रखे होते हैं कि ऐसा जवाब सुनकर वापस नहीं आ जाना है. हम उसे कहते हैं कि ये मेरे पेट का सवाल है. आप सही सही बताएं, अगर आपने गलत कहा तो हमारे पेट पर लात पड़ जाएगी. उन्होंने कहा कि ऐसे मुस्लिम मतदाता से सही जवाब निकलवाना मुश्किल होता है जो कहे कि हमने बीजेपी को वोट दिया है. 

 

अम्मा कौन सा बटन दबाईं?

प्रदीप गुप्ता ने कहा कि कई बुजुर्ग महिलाएं से जब पूछते हैं कि अम्मा कौन सा बटन दबाईं? तो वे कहती हैं कि हमें नहीं पता उन्होंने जो बोला वो बटन दबा दिया. फिर उन्हें हम अपना टैबलेट दिखाते हैं तो शायद उन्हें कोई चिह्न नजर आता है फिर वो बता पाती हैं. 

जैसा मतदाता का परिवेश, वैसा हमारा भी वेष

एक्सिस माई इंडिया के प्रदीप गुप्ता ने कहा कि जब हम लोगों की राय जानने जाते हैं तो उस स्थान के परिवेश का खास ख्याल रखते हैं, उसकी वेशभूषा, बोली का खास ध्यान रखते हैं ताकि हमें सही जानकारी मिल सके. उन्होंने कहा कि इस एग्जिट पोल को सफल बनाने में AMIT यानि की Axis My India Team का योगदान है. 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें