scorecardresearch
 

दिल्‍ली के सरकारी स्‍कूलों के गेस्ट टीचर्स की ज्‍वाइनिंग बहाल, 17 जून तक रिपोर्ट करना जरूरी

Delhi Guest Teachers: शिक्षा विभाग के एक सर्कुलर के मुताबिक, सभी गेस्ट टीचर्स को 17 जून तक अपने संबंधित स्कूल में उपस्थिति दर्ज करानी होगी. दिल्ली शिक्षा निदेशालय ने ग्रीष्मकालीन अवकाश की घोषणा के साथ ही गेस्ट टीचर्स का कॉन्ट्रैक्ट 20 अप्रैल से खत्म कर दिया था.

Representational Image (Credit: PTI) Representational Image (Credit: PTI)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • टीचर्स को 17 जून तक स्कूल में उपस्थिति दर्ज करानी होगी
  • टीचर्स का कॉन्ट्रैक्ट 20 अप्रैल से खत्म हो गया था

Delhi Guest Teachers: दिल्ली सरकार के स्कूलों में कार्यरत गेस्ट टीचर्स की जॉइनिंग को बहाल कर दिया गया है. शिक्षा विभाग के एक सर्कुलर के मुताबिक, सभी गेस्ट टीचर्स 17 जून तक अपने संबंधित स्कूल में उपस्थिति दर्ज करानी होगी. दिल्ली शिक्षा निदेशालय ने ग्रीष्मकालीन अवकाश की घोषणा के साथ ही गेस्ट टीचर्स का कॉन्ट्रैक्ट 20 अप्रैल से खत्म कर दिया था. अब इन सभी टीचर्स की दोबारा बहाली के निर्देश दे दिए गए हैं.

राजधानी दिल्‍ली में सरकारी, सहायता प्राप्त स्कूलों और अधिग्रहित स्कूलों में 20,000 से अधिक गेस्‍ट टीचर्स कार्यरत हैं. शिक्षा निदेशालय (DoE) ने जारी सर्कुलर में सरकारी स्कूलों में इस साल 19 अप्रैल तक काम कर रहे गेस्‍ट टीचर्स को गुरुवार 17 जून तक अपने स्‍कूल में रिपोर्ट करने को कहा है. यदि कोई शिक्षक 17 जून तक स्कूल को रिपोर्ट करने में विफल रहता है तो यह माना जाएगा कि उसे अब कोई दिलचस्पी नहीं है और वैकल्पिक व्यवस्था की जाएगी.

DoE में स्‍कूलों के प्रमुखों को निर्देश दिया गया है कि उन शिक्षकों को बहाल नहीं किया जाना है, जो किसी कदाचार के कारण सेवा से हटा दिए गए हैं या अनुमति के बिना अनुपस्थित रहे, खराब प्रदर्शन या व्यक्तिगत कारणों से इस्तीफा दे दिया था. इससे पहले अप्रैल में राजधानी में COVID-19 की बिगड़ती स्थिति को देखते हुए गर्मी की छुट्टी बढ़ा दी गई थी और गेस्‍ट टीचर्स का कॉन्‍ट्रैक्‍ट खत्‍म कर दिया गया था.

 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें