scorecardresearch
 

कर्ज के जाल में फंस गए हैं तो ये आजमाएं ये 5 तरीके, परेशानी हो जाएगी छू-मंतर

Debt Trap से निकलने के लिए किसी भी तरह का सॉल्यूशन निकालने के लिए सबसे पहले सभी कर्जों की एक लिस्ट बनाइए. इस प्रोसेस में कर्ज, उसकी ईएमआई और उनकी ब्याज दर एवं अवधि को दूसरी ओर लिखिए.

X
Debt Trap Debt Trap
स्टोरी हाइलाइट्स
  • सबसे महंगे कर्ज को सबसे पहले चुकाइए
  • जरूरत से ज्यादा लोन लेने से बचें

लोन लेकर आप घर या कार खरीद सकते हैं. इतना ही नहीं लोन लेकर आप एजुकेशन और शादी जैसे अपने फाइनेंशियल गोल को पूरा कर लेते हैं. हालांकि, कई बार लोन को ठीक ढंग से मैनेज नहीं करने के चलते आप लोन के जाल में फंस जाते हैं. यह आपके फाइनेंशियल और सेहत के लिए अच्छी चीज नहीं होती है.

हालांकि, कई बार कितनी भी फाइनेंशियल प्लानिंग के बावजूद कोई व्यक्ति कर्ज के जाल (Debt Trap) में फंस जाता है. यह काफी चैलेंजिंग समय होता है. इससे आपकी फाइनेंशियल प्लानिंग को काफी अधिक नुकसान पहुंचता है. आइए जानते हैं कि आप कर्ज के जाल से कैसे बाहर निकल सकते हैंः

1. अपने कर्जों की करें समीक्षा (Review of total debts): किसी भी तरह का सॉल्यूशन निकालने के लिए सबसे पहले सभी कर्जों की एक लिस्ट बनाइए. इस प्रोसेस में कर्ज, उसकी ईएमआई और उनकी ब्याज दर एवं अवधि को दूसरी ओर लिखिए. इससे आपको अर्जेंट और सबसे महंगे लोन को पहचानने में मदद मिलेगी.

2. सबसे महंगे लोन को सबसे पहले सेटल कीजिएः पूरे लोन की समीक्षा के बाद आपको यह समझने में मदद मिलती है कि कौन सा लोन सबसे महंगा है. इस लोन को सबसे पहले चुकाइए. बहुत अधिक ब्याज के भुगतान से आपके फाइनेंस पर असर पड़ता है. उदाहरण के लिए आप होम लोन पर करीब 6.6-9 फीसदी, पर्सनल लोन पर 10-16 फीसदी ब्याज का भुगतान करते हैं. क्रेडिट कार्ड लोन तो काफी महंगा होता है. ऐसे में आप सबसे सस्ते लोन पर टॉप अप लेकर ज्यादा इंटरेस्ट वाले लोन को बंद करा सकते हैं. 

3. एक्स्ट्रा इनकम के बारे में सोचिए: अगर आपका लंबे समय से बढ़िया इन्क्रीमेंट नहीं हुआ है तो आप जॉब स्वीच करने के बारे में सोच सकते हैं. इसके अलावा आप ऑनलाइन मार्केटिंग या किसी तरह का पार्ट टाइम बिजनेस शुरू कर अपने इनकम को बढ़ाने के बारे में सोच सकते हैं. इससे आपको कर्ज के जाल से जल्द निकलने में मदद मिलेगी.

4. प्री-पेमेंट के बारे में सोचिएः अगर आपके पास कुछ ऐसा एसेट पड़ा है जिसे लिक्विडेट किया जा सकता है, तो इस काम में संकोच मत कीजिए. इस रकम का इस्तेमाल कर्ज चुकाने के लिए कर सकते हैं. इसके अलावा अगर आप अपने बजट को रिस्ट्रक्चर कर गैर-जरूरी खर्चों को उसमें से हटाते हैं तो उस रकम का इस्तेमाल आप प्री-पेमेंट के लिए कर सकते हैं. प्री-पेमेंट से आप अपने कर्ज के बोझ को काफी कम कर सकते हैं.

5. बहुत ज्यादा लोन लेने से बचिएः आपको जरूरत के हिसाब से ही लोन लेना चाहिए. अगर आप पहले ही कर्ज के बोझ से दबे हैं तो आपको एक और लोन लेने से बचना चाहिए. आदर्श तौर पर आपके सभी EMIs और क्रेडिट कार्ड का बिल आपके कुल इनकम के 40-50 फीसदी से ज्यादा नहीं होना चाहिए.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें