scorecardresearch
 

कनाडा-अमेरिका बॉर्डर पर 4 भारतीयों की -35 डिग्री में जमकर मौत, विदेश मंत्री ने राजदूतों से तलब की रिपोर्ट

मैनटोबा रॉयल कैनेडियन माउंटेड पुलिस के मुताबिक 11 घंटे पैदल चल कर बॉर्डर के पास पहुंचे ये सभी लोग -35 तापमान और तेज़ बर्फ़ीली हवा का शिकार हुए हैं. वहीं चर्चा में आने के बाद अब विदेश मंत्री एस जयशंकर ने मौत पर दुख जताते हुए कनाडा और अमेरिका में भारत के राजदूतों से जानकारी मांगी है. इस मामले में उन्होंने एक ट्वीट भी किया है. 

X
सांकेतिक तस्वीर सांकेतिक तस्वीर
स्टोरी हाइलाइट्स
  • मरने वालों चार लोगों में एक नवजात भी शामिल
  • विदेश मंत्री ने राजदूतों से रिपोर्ट मांगी है

अमेरिका-कनाडा के बॉर्डर (America-Canada Border) से एक दुखद खबर सामने आई. जानकारी के मुताबिक, यहां भारी ठंड में जमकर (Exposure to Cold Weather) 4 भारतीयों की मौत हो गई. बताया जा रहा है कि ये सभी मानव तस्करी का शिकार होकर बॉर्डर पर पहुंचे थे.  मैनटोबा रॉयल कैनेडियन माउंटेड पुलिस (RCMP) ने गुरुवार को बताया कि एमर्सन के पास अमेरिका-कनाडा बॉर्डर पर कनाडा की तरफ बुधवार को चार शव मिले, जिसमें एक नवजात भी शामिल है.  

पुलिस के मुताबिक 11 घंटे पैदल चल कर बॉर्डर के पास पहुंचे ये सभी लोग -35 तापमान और तेज़ बर्फ़ीली हवा का शिकार हुए हैं. वहीं चर्चा में आने के बाद अब विदेश मंत्री एस जयशंकर ने मौत पर दुख जताते हुए कनाडा और अमेरिका में भारत के राजदूतों से जानकारी मांगी है. इस मामले में उन्होंने एक ट्वीट भी किया है. 
 

इस पर कनाडा में भारतीय राजदूत अमर बिसारिया ने विदेश मंत्री एस जयशंकर के ट्वीट को कोट करते हुए लिखा, 'यह एक दुखद त्रासदी है. टोरंटो से एक भारतीय कांसुलर टीम मैनिटोबा जा रही है. हम ऐसी घटनाओं की जांच के लिए कनाडा के अधिकारियों के साथ काम करेंगे.'

इसके अलावा अमेरिका में भारत के राजदूत तरणजीत सिंह संधू ने ट्वीट कर जानकारी दी है कि वे जांच को लेकर अधिकारियों के संपर्क में हैं. संधू ने ट्वीट में लिखा, 'दुर्भाग्यपूर्ण और दुखद घटना. हम अमेरिकी अधिकारियों के साथ मामले की जांच को लेकर संपर्क में हैं.' मिली जानकारी के मुताबिक सभी जांच एजेंसियां जल्द ही मामले की जांच पूरी कर घटना की वास्तविकता का पता लगाने में जुटी हुई हैं.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें