scorecardresearch
 

कंज्यूमर रोबोट्स ब्रैंड Milagrow के फाउंडर राजीव करवाल का कोरोना से निधन

कंज्यूमर रोबोट्स ब्रैंड Milagrow के फाउंडर और चेयरमैन राजीव करवाल का बुधवार सुबह कोरोना के चलते निधन हो गया. मौत से पहले करवाल करीब एक हफ्ते से वेंटिलेटर सपोर्ट पर थे.

File Photo File Photo
स्टोरी हाइलाइट्स
  • कंज्यूमर रोबोट्स ब्रैंड है Milagrow
  • करवाल IMT गाजियाबाद के पूर्व छात्र थे
  • LG कॉर्प को भारत लाने वाले करवाल ही थे

कंज्यूमर रोबोट्स ब्रैंड Milagrow के फाउंडर और चेयरमैन राजीव करवाल का बुधवार सुबह कोरोना के चलते निधन हो गया. मौत से पहले करवाल करीब एक हफ्ते से वेंटिलेटर सपोर्ट पर थे. करवाल इंडियन इलेक्ट्रॉनिक्स जगत में अपने योगदान के लिए जाने जाते थे.

साल 1997 में LG कॉर्प को भारत करवाल ही लाए थे. साथ ही वे रिलायंस रिटेल और Electrolux Kelvinator के CEO भी रहे थे. Milagrow की स्थापना 2007 में मैनेजमेंट कंसल्टेंसी के लिए की गई थी और 2012 तक कंपनी ने रेसिडेंशियल और इंडस्ट्रियल यूज के लिए रोबोट्स बनाने शुरू कर दिए थे.

कंपनी के रोबोट्स का कोरोना के समय भी बड़ा महत्व रहा है. क्योंकि, अस्पतालों ने डॉक्टरों की मदद के मिलाग्रो के ह्यूमनॉइड का इस्तेमाल शुरू कर दिया है. डॉक्टरों और हेल्थ केयर वर्कर्स को कोरोना इंफेक्शन से बचाने के लिए एम्स दिल्ली के एडवांस्ड COVID-19 वॉर्ड में पहले हॉस्पिटल ह्यूमनॉइड ELF को तैनात किया गया था.

IMT गाजियाबाद के पूर्व छात्र रहे राजीव करवाल ने अपने शानदार करियर के दौरान ओनिडा, किशनचंद चेलाराम ग्रुप, सूर्या रोशनी लिमिटेड और फिलिप्स के लिए भी काम किया. ओनिडा इलेक्ट्रॉनिक्स में करवाल ने मार्केटिंग एग्जीक्यूटिव के तौर पर काम करना शुरू किया था और बाद में डिप्टी जनरल मैनेजर बन गए थे. वहीं, किशनचंद चेलाराम ग्रुप के लिए उन्होंने स्पेन में काम किया था. फिर बाद में वे सूर्या रोशनी लिमिटेड चले गए थे.

साल 2004 में उनका नाम ET मोस्ट पावरफुल CEO की लिस्ट में भी रहा था. भारत के टॉप 25 यंग राइजिंग स्टार्स की अपनी पहली लिस्टिंग में करवाल बिजनेस टुडे के कवर पर भी थे .

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें