scorecardresearch
 

Alien सभ्यता से जुड़ने में लग सकते हैं 4 लाख साल, वैज्ञानिकों ने किया दावा

अंतरिक्ष में एलियंस हैं या नहीं, इसपर हमेशा से ही बहस हुई है. कभी UFO दिखने के दावे किए जाते हैं, तो कभी वैज्ञानिक एलियंस से संपर्क करने की कोशिश करते दिखते हैं. चीन के शोधकर्ताओं ने बताया कि एलियंस से अब तक संपर्क क्यों नहीं हुआ. संपर्क में कितना समय लग सकता है.

X
एलियंस से पहला संपर्क होने में लगेंगे कई साल  (फोटो: गेटी) एलियंस से पहला संपर्क होने में लगेंगे कई साल (फोटो: गेटी)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • इंसान की उम्र एलियन कम्यूनिकेशन के लिए छोटी है
  • CETIs की संख्या के हिसाब से लगाया अनुमान

एक अकेली बुद्धिमान सभ्यता के रूप में, मनुष्य हमेशा दूसरी बुद्धिमान सभ्यताओं (CETIs) के अस्तित्व के बारे में जानना चाहता है. एलियंस से संपर्क करने के लिए वैज्ञानिक सालों से कोशिश कर रहे हैं. द एस्ट्रोफिजिकल जर्नल (The Astrophysical Journal) में एक रिपोर्ट पब्लिश की गई है. इसमें बीजिंग की नॉर्मल यूनिवर्सिटी के शोधकर्ता वेंजी सॉन्ग (Wenjie Song) और हे गाओ (He Gao) ने संचार करने वाली दूसरी बुद्धिमान सभ्यताओं (Communicating Extraterrestrial Intelligent Civilizations- CETIs) की संख्या के हिसाब से संचार का अनुमान लगाया है. 

 connect with aliens
एलियन सभ्यता से पहला संपर्क 4 लाख साल में होगा (Photo: Pixabay)

दोनों शोधकर्ताओं ने नौ परिदृश्य बनाए जहां CETIs या तो दुर्लभ थे या सामान्य थे. अगर CETIs दुर्लभ हैं, यानी पूरे मिल्की वे (Milky Way) में 110 के क्रम में, तो एक संचार सभ्यता को दूसरे से संकेत मिलने से पहले 4 लाख साल का इंतजार करना पड़ेगा. अगर स्थिति बहुत अच्छी हो तो पहला संदेश पाने में एक संचार सभ्यता को कम से कम 2,000 साल लगेंगे. 

शोधकर्ताओं का कहना है कि हमें संकेत नहीं मिलने की वजह यह हो सकती है कि मानव का जीवन काल संचार करने के समय के हिसाब से कम है. अगर कयामत (Doomsday) वाले तर्क को भी सच मान लिया जाए, तो भी मनुष्यों को खत्म होने से पहले तक बाकी CETIs से कोई संकेत नहीं मिल सकता.

शोधकर्ताओं का कहना है कि अगर कोई हमें खोज रहा होगा, तो उन्हें पृथ्वी के संकेतों के लिए आकाशगंगा के एक बहुत छोटे क्षेत्र में होना होगा. हालांकि टीम का मानना है कि इन संभावनाओं में बहुत अनिश्चितताएं भी हैं, इसलिए एलियंस के साथ जल्द संवाद करने का मौका मिल भी सकता है.

शोधकर्ताओं का कहना है कि यह निश्चित नहीं है कि कितने स्थलीय ग्रह (Terrestrial Planets) जीवन की उत्पत्ति कर सकते हैं और CETIs में जीवन की प्रक्रिया क्या है. साथ ही, यह भी अनिश्चित है कि वे संकेत भेजने में सक्षम हैं. लेकिन एक और अनिश्चितता भी हो सकती है. वह ये कि हो सकता है कि वहां बहुत ही कम CETIs हों और कौन जानता है कि वे हमसे बात करना भी चाहते हैं या नहीं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें