scorecardresearch
 

एक सैनिक की मां आखिर क्यों सिस्टम के आगे बेबस हो गईं ? देखें 10 तक

एक सैनिक की मां आखिर क्यों सिस्टम के आगे बेबस हो गईं ? देखें 10 तक

पूरा देश जब करगिल विजय दिवस मना रहा है. तो एक शहीद जवान की मां को आंसू बहाने पड़ रहे हैं. शौर्य चक्र विजेता शहीद विवेक सक्सेना का परिवार सिस्टम के आगे बेबस नजर आ रहा है.शौर्य चक्र विजेता बेटे की शहादत के 18 साल बाद भी इस परिवार से किए तमाम सरकारी मदद के वादे आज तक अधूरे हैं. उनकी मां कहती हैं कि हमें सरकार की तरफ से कोई मदद नहीं मिली जब सरकार ने उसके मेडल दिए थे तो वायदा किया था कि हम पूरी तरह से आपके साथ हैं, आपकी मदद करेंगे. लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ. देखें दस्तक.

When the whole country is celebrating Kargil Vijay Diwas. A mother martyr jawan has to shed tears. The family of Shaurya Chakra winner martyr Vivek Saxena seems helpless in front of the system. Even after 18 years of the martyrdom of Shaurya Chakra winner son, all the promises of government help made to this family remain unfulfilled till date. Watch video.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें