scorecardresearch
 

Kargil के 22 साल बाद भी सीमाओं पर नहीं टला है खतरा, देखें देश का गौरव

Kargil के 22 साल बाद भी सीमाओं पर नहीं टला है खतरा, देखें देश का गौरव

कारगिल फतह के 22 साल हो चुके है. सीज फायर की वजह से घाटी में बंदूकें खामोश हैं. लेकिन जम्मू कश्मीर हो या लद्दाख .हिंदुस्तान पर दो तरफ से खतरा टला नही है.जम्मू में भारत की करीब 200 किलोमीटर की सीमा पाकिस्तान से लगती है. इसके बाद करीब साढ़े सात सौ किलोमीटर का लाइन ऑफ कंट्रोल है. करीब 110 किलोमीटर किलीटर की रेंज सल्तोरो रिजलाइन से सियाचिन ग्लेशियर तक है. इसके बाद चीन से जुड़ी करीब 830 किलोमीटर के एलएसी पर भी पिछले साल से तनाव है. लेकिन हिंदुस्तान ने कारिगल द्रास मेमोरियल से जता दिया है कि भारत से टकराने वाले हर दुश्मन को नेस्तनाबूद कर दिया जाएगा. देखें वीडियो

It has been 22 years of Kargil's conquest. The threat has not been averted on India from two sides yet. In Jammu, India shares a border of about 200 km with Pakistan. After this, there is a line of control of about seven and a half hundred kilometers. Due to the ceasefire, there is peace at the India-Pak border. But there is tension on the LAC of about 830 km related to China since last year. Watch video.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें