scorecardresearch
 

दिल्लीः 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजे गए मंत्री सत्येंद्र जैन, जमानत याचिका पर सुनवाई कल

मनी लॉन्ड्रिंग केस में गिरफ्तार दिल्ली सरकार के मंत्री सत्येंद्र जैन को ईडी ने राउज एवेन्यू कोर्ट में पेश किया. ईडी ने कहा कि सत्येंद्र जैन की ओर से मेडिकल ग्राउंड पर जमानत लेने की कोशिश की जा रही है. उनकी मेडिकल रिपोर्ट बताती है कि वे पूरी तरह स्वस्थ हैं. हमें याचिका पर अपना जवाब दाखिल करने के वक्त चाहिए. 

X
सत्येंद्र जैन (फाइल फोटो) सत्येंद्र जैन (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • सत्येंद्र जैन की जमानत याचिका पर 14 जून को सुनवाई
  • मनी लॉन्ड्रिंग केस में गिरफ्तार सत्येंद्र जैन कोर्ट में पेश

दिल्ली सरकार के मंत्री सत्येंद्र जैन को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने सोमवार को राउज एवेन्यू कोर्ट में पेश किया. ईडी ने सत्येंद्र जैन को न्यायिक हिरासत में भेजने की मांग कोर्ट से की. वहीं, सत्येंद्र जैन के वकील की ओर से दाखिल जमानत याचिका पर भी सुनवाई हुई. ईडी ने कोर्ट से जमानत याचिका पर सुनवाई के लिए समय देने की मांग की है. सत्येंद्र जैन की जमानत याचिका पर अब कल यानी 14 जून को सुनवाई होगी.

राउज एवेन्यू कोर्ट में सत्येंद्र जैन को न्यायिक हिरासत में भेजे जाने की ईडी की मांग का उनके वकील ने विरोध किया. सत्येंद्र जैन के वकील ने अपने मुवक्किल को स्वास्थ्य परीक्षण के लिए हॉस्पिटल भेजे जाने की मांग की. कोर्ट ने सत्येंद्र जैन को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है. असिस्टेंट सॉलिसीटर जनरल एसवी राजू ने कहा कि ये याचिका हमें जानकारी दिए बगैर दाखिल की गई है. हमें जमानत याचिका पर अपना जवाब दाखिल करने के लिए समय चाहिए.

इस पर सत्येंद्र जैन के वकील हरिहरन ने इसके जवाब में कहा कि जांच पूरी हो गई है. असिस्टेंट सॉलिसीटर जनरल ने इस पर कहा कि सत्येंद्र जैन की मेडिकल रिपोर्ट बताती है कि वे स्वस्थ हैं. उन्हें ब्लड प्रेसर की समस्या थी और उनको दवा दी गई थी. जमानत मिल सके, इसलिए स्वास्थ्य कारणों को आधार बनाने की कोशिश की जा रही है.

सत्येंद्र जैन के वकील ने कहा कि वे कोर्ट के अंदर बीमार हो गए थे और इसीलिए जमानत याचिका दायर की गई. हम मेडिकल ग्राउंड्स को आधार नहीं बना रहे. वे वास्तव में अस्वस्थ हैं. ASG ने जवाब में कहा कि जांच अधिकारी पूछताछ में व्यस्त हैं. जवाब दाखिल करने के लिए समय चाहिए. इससे पहले, सत्येंद्र जैन की ओर से कोर्ट में ये दलील दी गई कि उन्हें जांच के दौरान जेल में रखने का कोई कारण नहीं है.

सत्येंद्र जैन के वकील ने दी ये दलील

सत्येंद्र जैन के वकील ने कोर्ट में ये दलील भी दी कि उनके खिलाफ कोई डायरेक्ट एविडेंस नहीं है. सत्येंद्र जैन जांच की अवधि यानी साल 2015 से 2017 के पहले ही आरोपी कंपनी से इस्तीफा दे चुके थे. दिल्ली सरकार के मंत्री के वकील ने ये भी कहा कि पूछताछ और जांच पूरी हो चुकी है. सत्येंद्र जैन को हार्ट और ब्लड प्रेसर की समस्या भी है.

गौरतलब है कि ईडी ने हवाला लेनदेन से संबंधित मनी लॉन्ड्रिंग के एक मामले में सत्येंद्र जैन को गिरफ्तार किया था. सत्येंद्र जैन की गिरफ्तारी के बाद आम आदमी पार्टी ने केंद्र सरकार और भारतीय जनता पार्टी के खिलाफ मोर्चा खोल दिया था. सत्येंद्र जैन के मंत्रालय का प्रभार सीएम अरविंद केजरीवाल ने डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया को दिया है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें