scorecardresearch
 

कश्मीर में फिर बजेगी मोबाइल की घंटी लेकिन लागू रहेगी ये शर्तें

श्रीनगर में बीएसएनएल की पोस्ट पेड मोबाइल सेवाओं को फिर से शुरू करने का निर्णय लिया गया है. अनुच्छेद 370 हटाने से पहले 4 अगस्त से यहां मोबाइल सेवाएं बंद हैं.

प्रतीकात्मक तस्वीर प्रतीकात्मक तस्वीर

  • श्रीनगर में बीएसएनएल पोस्ट पेड सेवाओं को फिर से शुरू करने का निर्णय लिया गया
  • पोस्ट पेड मोबाइल सेवाओं को बुधवार को कुपवाड़ा जिले में बहाल कर दिया गया

कश्मीर में प्रशासन मोबाइल सेवाओं को फिर से शुरू करने की योजना बना रहा है. शुरुआत में पोस्ट पेड बीएसएनएल मोबाइल सेवा शुरू की जाएगी. बताया जा रहा है कि इसकी शुरुआत दो दिनों में हो सकती है.

जम्मू-कश्मीर प्रशासन के सूत्रों ने इंडिया टुडे से कहा कि बुधवार को एक उच्चस्तरीय सुरक्षा बैठक हुई. इसमें श्रीनगर में बीएसएनएल की पोस्ट पेड मोबाइल सेवाओं को फिर से शुरू करने का निर्णय लिया गया. उन्होंने कहा कि जब तक संचार बहाल नहीं किया जाता है तब तक घाटी में सामान्य स्थिति बहाल करना मुश्किल है. बता दें कि धारा 370 को हटाने से पहले 4 अगस्त से यहां पर मोबाइल सेवाएं बंद हैं.

एक आधिकारिक बयान में कहा गया कि पोस्ट पेड मोबाइल सेवाओं को बुधवार को कुपवाड़ा जिले में बहाल कर दिया गया. इसके साथ ही जरूरी सेवाओं के लिए काम कर रहे अधिकारियों के मोबाइल नंबर काम कर रहे हैं और अन्य सरकारी कार्यालयों के नंबरों को बहाल किया गया है.

बीते सप्ताह टेलीफोन एक्सचेंजों को सक्रिय करने के साथ घाटी के सभी लैंडलाइन कनेक्शनों को बहाल किया गया था. कश्मीर घाटी में 5 अगस्त से संचार सेवाएं निष्क्रिय थीं. ऐसा 5 अगस्त को संसद की ओर से जम्मू-कश्मीर के विशेष दर्जे को रद्द कर दो केंद्रित शासित प्रदेश में बांटे जाने के बाद हुआ.

अगस्त के तीसरे हफ्ते से 2जी मोबाइल इंटरनेट सेवाएं जम्मू, सांबा, कठुआ, उधमपुर व रेयासी जिलों में बहाल की गई है. सरकार के अनुसार, स्वास्थ्य सेवाएं सामान्य रूप से काम कर रही है, जबकि स्कूल भी खुल गए हैं. सभी जिला मुख्यालयों में दस इंटरनेट कियोस्क बनाए गए हैं, जिसमें कम से कम पांच टर्मिनल हैं, जिसे विभागीय कार्यों जैसे ई-टेंडरिंग, छात्रवृत्ति फार्म और नौकरियों के आवेदन के लिए बनाया गया है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें