scorecardresearch
 

राजघाट पर प्रार्थना कर बोले केजरीवाल- पिछले जन्म का पुण्य कि सिसोदिया जैसे साथी मिले

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के घर पर गुरुवार को आम आदमी पार्टी विधायक दल की बैठक हुई. बैठक के बाद बताया गया कि सभी विधायकों से संपर्क हो गया है. दरअसल, गुरुवार की सुबह यह खबर सामने आ रही थी कि आप के कई विधायकों से पार्टी का संपर्क नहीं हो पा रहा है. इसलिए मीटिंग बुलाई गई है.

X
आप विधायकों के साथ दिल्ली में स्थित राजघाट पहुंचे अरविंद केजरीवाल. (फोटो-एजेंसी)
आप विधायकों के साथ दिल्ली में स्थित राजघाट पहुंचे अरविंद केजरीवाल. (फोटो-एजेंसी)

दिल्ली की सियासत में आरोप-प्रत्यारोप का दौर जारी है. गुरुवार को राज्य के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल राजघाट पहुंचे और महात्मा गांधी की समाधि पर प्रार्थना की. इस दौरान उनके साथ आम आदमी पार्टी के विधायक भी थे. केजरीवाल ने कहा कि उन्होंने पिछले जन्म में पुण्य किये थे, जो उन्हें मनीष सिसोदिया जैसे साथी मिले हैं. इस दौरान आप के सभी विधायकों ने भाजपा का 'ऑपरेशन लोटस' फेल होने की प्रार्थना की.

केजरीवाल लिकर पॉलिसी को लेकर बोले कि किसी प्रकार का कोई घोटाला नहीं हुआ है. बीजेपी को पता ही नहीं है कि क्या आरोप लगाने हैं और क्या नहीं. कोई बीजेपी का नेता कहता है आठ हजार करोड़ का घोटाला, कोई कहता है डेढ़ लाख करोड़ का घोटाला, कोई कहता है 1100 करोड़ का घोटाला. दरअसल घोटाला यह है कि यह आम आदमी पार्टी के विधायकों को तोड़ना चाहते हैं.

केजरीवाल ने कहा कि बीजेपी ने मनीष सिसोदिया को संदेश भेजकर आप और अरविंद केजरीवाल को छोड़ने के लिए कहा था. वे चाहते थे कि सिसोदिया कुछ अन्य विधायकों के साथ भाजपा में शामिल हों जाएं. उन्होंने मनीष को दिल्ली सीएम के पद की पेशकश भी की थी. यह भी पेशकश की थी कि उनके खिलाफ सभी मामले वापस ले लिए जाएंगे.

दिल्ली के मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार गिराने के लिए इन्होंने (भाजपा) 800 करोड़ रखे हैं. हर विधायक को 20 करोड़ रुपए देकर 40 विधायक तोड़ना चाहते हैं. उन्होंने आगे कहा कि देश जानना चाहता है कि ये 800 करोड़ किसके हैं, कहां रखे हैं? हमारा कोई MLA नहीं टूट रहा. सरकार स्थिर है. दिल्ली में चल रहे सभी अच्छे काम जारी रहेंगे.

इससे पहले राज्य की सत्ता पर काबिज आम आदमी पार्टी ने गुरुवार 11 बजे विधायक दल की बैठक बुलाई थी. कहा जा रहा था कि आप के कई विधायकों से पार्टी का संपर्क नहीं हो पा रहा है और पार्टी को डर है कि कहीं भाजपा आप सरकार में तोड़फोड़ करने की कोशिश न करे. इसलिए यह बैठक बुलाई गई है. लेकिन बैठक शुरू होने के कुछ देर बाद ही इस मसले पर तस्वीर साफ हो गई. मीटिंग शुरू होने के करीब 40 मिनिट बाद बताया गया कि सभी विधायकों से संपर्क हो गया है. 

विधायक दल की बैठक में आप के 54 विधायक पहुंचे. वहीं 8 विधायक इस समय दिल्ली से बाहर हैं. जो विधायक दिल्ली से बाहर हैं, उनमें सतेंद्र जैन (जेल में), मनीष सिसोदिया (हिमाचल में) और राम निवास गोयल (अमेरिका में) भी शामिल हैं.

आप ने लगाए बीजेपी पर आरोप

- आप विधायक अतिशी मार्लेना ने आरोप लगाया है कि बीजेपी दिल्ली की सरकार को गिराने की कोशिश कर रही है. हमारे विधायकों को पैसे का ऑफर दिया जा रहा है और उन्हें धमकी दी जा रही है. दिल्ली के डिप्टी सीएम को भी धमकी दी गई है. यह पहली कोशिश नहीं है. इससे पहले भी बीजेपी ऑपरेशन लोटस की कोशिश कर चुकी है. लेकिन वे हमेशा विफल हुए हैं.

- केजरीवाल के आवास पर हो रही बैठक में पहुंचे तिमारपुर से आप विधायक दिलीप पांडेय ने दावा किया है कि 40 विधायकों को तोड़ने की कोशिश हुई. उन्होंने कहा कि ईडी इस मामले में जांच करे कि इन 40 विधायकों को तोड़ने के लिए 20 करोड़ के हिसाब से 800 करोड़ कहां से आए?

हमें सरकार तोड़ने की जरूरत नहीं- बीजेपी

केंद्रीय विदेश राज्य मंत्री मीनाक्षी लेखी ने इस मामले में आम आदमी पार्टी पर पलटवार किया. उन्होंने कहा, हमें आपकी (आम आदमी पार्टी) सरकार तोड़ने की जरूरत नहीं है. हम लोग 'वादा पूरा करने' की बात करते हैं यही 'ऑपरेशन लोटस' है जो पूरे देश में चल रहा है और देश ने देखा है कि 2014 से आज तक सरकार ने कैसा काम किया है. 

उन्होंने कहा, सत्येंद्र जैन को अभी तक बर्खास्त क्यों नहीं किया गया? अगर आपकी नीति इतनी अच्छी थी तो दुकानें क्यों बंद हुईं? दुकान खोलने के लिए लाइसेंस किस कीमत पर दिए गए? अगर शराब की बिक्री बढ़ी तो टैक्स (टैक्स से होने वाली कमाई) क्यों नहीं बढ़ी? 

ध्यान भटकाने के लिए नौटंकी कर रही AAP- कपिल मिश्रा
 


AAP विधायक बोले- 20 करोड़ रुपए का ऑफर मिला

इससे पहले आम आदमी पार्टी के 4 विधायकों ने बीजेपी पर 20-20 करोड़ रुपए का ऑफर करने और धमकाने का आरोप लगाया था. ऐसे में आम आदमी पार्टी को आशंका है कि कहीं BJP उनके विधायक ना तोड़ ले. इसलिए बुधवार शाम आम आदमी पार्टी की पॉलिटिकल अफेयर्स कमेटी की बैठक में तय हुआ कि सभी विधायकों को बुलाया जाए. इस बैठक में नजर इस बात पर रहेगी कि कितने विधायक मीटिंग में पहुंचते हैं. दिल्ली में आम आदमी पार्टी के 62 विधायक हैं.

विधायकों को धमकियां मिल रहीं- संजय सिंह

इससे पहले बुधवार को आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बीजेपी पर सरकार गिराने की कोशिश करने जैसे गंभीर आरोप लगाए थे. संजय सिंह ने कहा था कि बीजेपी के लोग हमारे विधायकों से मिलने आते हैं और धमकी देते हैं कि मनीष सिसोदिया की तरह फर्जी मुकदमे लगा देंगे. उन्होंने कहा था कि सरकार तोड़ने का बीजेपी का यही तरीका है. लेकिन मनीष सिसोदिया के मामले में ये प्रयोग फैल हो गया. इसलिए अब विधायकों को तोड़ने के लिए 20 और 25 करोड़ का लालच दिया जा रहा है.

AAP के चार विधायकों ने किए थे दावे

1. आप विधायक सोमनाथ भारती ने बुधवार को कहा था कि सत्ता और बल के आधार पर प्रजातंत्र का चीर हरण हो रहा है. भाजपा नेता ने मेरे साथ एक ऐसा ही प्रयास किया. कहते हैं कि हमारे हो जाओ या मनीष सिसोदिया की तरह दुर्गति करेंगे. उन्होंने दावा किया कि भाजपा नेता बोले कि 20 करोड़ रुपए तैयार हैं, राजी हो जाओगे तो पहुंच जाएगा, और विधायक लाओगे तो रेट 25 करोड़ हो जाएगा.

2. AAP विधायक संजीव झा ने दावा किया था कि भाजपा विधायक ने मुझे आम आदमी पार्टी छोड़ने के एवज में 20 करोड़ और विधायक तोड़कर लाने के लिए 25 करोड़ का ऑफर दिया था. ये भी कहा  गया था कि अगर मैंने बात नहीं मानी तो मनीष सिसोदिया की तरह हाल किया जाएगा. फर्जी केस में फंसाया जाएगा.

3. आप विधायक कुलदीप कुमार ने कहा था कि भाजपा के पश्चिमी दिल्ली के बड़े नेता ने मुझसे सम्पर्क किया और कहा कि दिल्ली से आम आदमी पार्टी खत्म होने वाली है. मुझे 20 करोड़ रुपए का ऑफर दिया गया और विधायक तोड़कर लाने के लिए 25 करोड़ रुपए देने का वादा किया गया. भाजपा नेता ने कहा कि सीबीआई और ED वाले आपको परेशान करेंगे. सरकार दिल्ली में टूटेगी इसलिए साथ आ जाओ. उन्होंने कहा, लेकिन आम आदमी पार्टी आंदोलन से निकली पार्टी है, हम टूटने वाले नहीं है.

4. AAP विधायक अजय दत्त ने कहा था कि एक अन्य राज्य के भाजपा नेता ने मुझे कहा कि दिल्ली सरकार गिरने वाली है. दिल्ली में AAP के कई विधायक बीजेपी के सम्पर्क में है. उन्होंने कहा था कि मुझे भी 20 करोड़ का ऑफर दिया गया. लेकिन अजय दत्त बिकने वाला नहीं है. हम अरविंद केजरीवाल और पार्टी से गद्दारी नहीं करेंगे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें