scorecardresearch
 

साक्षी-अजितेश की लव स्टोरी, पुलिस के बाद कोर्ट में पहुंचा मामला

बरेली के विधायक राजेश मिश्रा उर्फ पप्पू भरतौल की इलाके में तूती बोलती थी. उनके चेहरे पर रौब नजर आता थी. उनकी आवाज़ में दबंगई हुई करती थी. लेकिन आज वो टूटे हुए हैं. बेबस से नज़र आ रहे है. मामला उनकी बेटी से जुड़ा है.

विधायक पिता के डर से बेटी अपने पति को साथ लेकर इधर उधर घूम रही है विधायक पिता के डर से बेटी अपने पति को साथ लेकर इधर उधर घूम रही है

यूपी के बीजेपी विधायक की बेटी साक्षी ने दलित युवक से शादी की तो उसकी जान पर बन आई. लेकिन इस लव स्टोरी का दूसरा पहलू भी अहम है. क्योंकि साक्षी अपने जिस पिता से जान का खतरा होने की बात कह रही है. वो विधायक होने के साथ-साथ एक बाप भी है. मगर बेटी ने पिता को ये मौका दिया ही नहीं. बहरहाल अब साक्षी और अजितेश की लव स्टोरी उस दोराहे पर खड़ी है. जहां एक रास्ता उनकी सपनों की जिंदगी की तरफ जाता है, तो दूसरा रास्ता बेहद खौफनाक है. मामला अदालत और पुलिस दोनों के पास पहुंच चुका है.

जिसकी इलाके में तूती बोलती है. जिसके चेहरे पर रौब नजर आता है. जिसकी आवाज़ में दबंगई हुई करती थी. वो आज टूटा हुआ. बेबस सा नज़र आ रहा है. पता है क्यों? क्योंकि कैमरा ऑन है. और पूरे मामले का एक पहलू ये भी है कि राजेश मिश्रा विधायक होने के साथ-साथ एक बेटी के पिता भी हैं. जिन्होंने अपनी बेटी को बड़े नाज़ों से पाला था और वही बेटी अगर एक दिन अचानक बिना बताए किसी और से शादी कर ले. तो ये दर्द लाज़मी है.

अपनी सफाई में बीजेपी विधायक ने धमकी देने की बात तो खारिज कर दी. मगर बेटी को ना तो माफ किया और ना ही घर वापस आने को कहा. दामाद के लिए तो एक शब्द तक नहीं बोले विधायक जी. ज़ाहिर इस बाप को अपनी बेटी की ये शादी कुबूल नहीं है. वहीं एक के बाद एक सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे साक्षी के वीडियो की मानें तो विधायक जी ने पर्दे के पीछे अपने तमाम गुर्गों को साक्षी और अजितेश को ढूंढ निकालने के लिए लगा रखे हैं.

विधायक के आदमी तो साक्षी को ढूंढते-ढूंढते इलाहाबाद भी पहुंच गए थे. जहां दोनों ने छुप कर राम जानकी मंदिर में शादी की. शादी तो हो गई. सबूत गवाह और तस्वीरें भी सोशल मीडिया पर वायरल हैं, मगर फिर भी लड़का-लड़की को हॉरर किलिंग का डर सता रहा है. क्योंकि यहां सवाल शादी का नहीं है बल्कि सवाल है विधायक जी की प्रतिष्ठा का. जो तथाकथित तौर पर साक्षी ने मिट्टी में मिला दी है.

लिहाज़ा बरेली की बिथरी विधानसभा से बीजेपी विधायक राजेश मिश्रा अपनी ही बेटी की लव स्टोरी में विलेन बन गए हैं. साक्षी को अपने पिता की ताकत का अंदाजा है. इसलिए इलाहाबाद में 4 जुलाई को शादी करने के बाद से ही साक्षी और अजितेश के साथ-साथ अजितेश का परिवार भी दर-दर भटक रहा है. और अब सोशल मीडिया के रास्ते से बरेली के कप्तान साहब से सुरक्षा की गुहार लगा रहे हैं.

डरी.. सहमी.. घर से दूर साक्षी को शायद अपने पिताजी की ताकत पर इतना यकीन है कि वो ये मान चुकी है कि अब उसका बचना नामुमकिन है. लिहाज़ा वो इन वीडियो में उन लोगों के नाम गिना रही है, जिससे उसे जान का खतरा है. हालांकि ऐसा नहीं है कि साक्षी और अजितेश जानते नहीं थे कि उनके इस फैसले में किस तरह की दुश्वारियां आएंगी. उन्हें पता था कि शादी करते ही जमाना उनका दुश्मन हो जाएगा. लेकिन इन सब के बावजूद दोनों ने अपना फैसला नहीं बदला.

शायद इसी को कहते हैं- प्यार किया तो डरना क्या. हालांकि सुरक्षा की मांग करते हुए साक्षी और अजितेश का वीडियो वायरल होने के बाद बरेली पुलिस हरकत में आ गई है. वहीं साक्षी और अतितेश ने इलाहाबाद हाईकोर्ट में सुरक्षा की गुहार लगाई है. जिसकी सुनवाई 15 जुलाई को सुनवाई होनी है.

बाप बेटी और दामाद की इस जंग में जो बेवजह पिस रहे हैं वो हैं अजितेश के घरवाले.. जो बेटे की जान खतरे में होने से तो परेशान हैं.. साथ ही अपनी जान बचाने के लिए भी इधर-उधर मारे मारे फिर रहे हैं.. क्योंकि अजितेश के पिता का कहना है कि विधायक जी के लोगों से उनको जान का खतरा है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें