उत्तराखंड: मां के बगल में सो रही 7 महीने की दुधमुंही बच्ची हो गई चोरी

ऊधमसिंह नगर जिले के पुलभट्टा थाना क्षेत्र में एक 7 माह की बच्ची के चोरी होने का मामला सामने आया है. पुलिस मामले में आसपास के सीसीटीवी फुटेज खंगाल रही है और इसके साथ ही साथ बच्ची के परिजनों से पूछताछ कर रही है.

प्रतीकात्मक तस्वीर
रमेश चन्द्रा
  • नई दिल्ली,
  • 22 मई 2020,
  • अपडेटेड 9:08 AM IST

  • लॉकडाउन की वजह से फंस गई थी उसकी मां
  • मां के बगल में सो रही थी सात महीने की बच्ची

उत्तराखंड के ऊधमसिंह नगर में एक सनसनीखेज मामला सामने आया है. वहां 7 महीने की एक दुधमुंही बच्ची घर से चोरी हो गई है. बच्ची चोरी होने की सूचना पर पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया है. थाना पुलिस ने मुकदमा दर्ज करते हुए जांच शुरू कर दी है. बच्ची की तलाश के लिए एसओजी सहित तीन टीमों का गठन कर दिया गया है.

जानकारी के मुताबिक ऊधमसिंह नगर जिले के पुलभट्टा थाना क्षेत्र में एक 7 माह की बच्ची के चोरी होने का मामला सामने आया है. पुलिस मामले में आसपास के सीसीटीवी फुटेज खंगाल रही है और इसके साथ ही साथ बच्ची के परिजनों से पूछताछ कर रही है.

कोरोना पर फुल कवरेज के लि‍ए यहां क्ल‍िक करें

पुलभट्टा थाना क्षेत्र के किच्छा रोड पर रिलायंस पेट्रोल पंप के पास लोहार का काम करने वाला एक परिवार रहता है. परिवार की बेटी नीतू का विवाह उत्तरप्रदेश के बदायूं जिले में हुआ था. लॉकडाउन से पहले नीतू अपने ढाई वर्षीय पुत्र और 7 महीने की बेटी के साथ अपने माता-पिता से मिलने आई थी. लेकिन लॉकडाउन की वजह से नीतू अपनी ससुराल वापस नहीं जा सकी.

इसी बीच नीतू के पास सो रही उसकी सात महीने की बच्ची उसके पास से ही गायब हो गयी. जिसके बाद परिजनों ने आसपास तलाशा तो बच्ची का कुछ भी पता नहीं चल पाया. जिसके बाद नीतू द्वारा घटना की जानकारी पुलिस को दी गयी. नीतू ने बताया कि रात में 3 बजे उसने अपनी बेटी को दूध पिलाया उसके बाद अपने ढाई वर्षीय बेटे और बेटी के साथ सो रही थी. सबेरे जब वह जागी तो उसकी बेटी उसके पास से गायब थी, इसके बाद परिवार में कोहराम मच गया.

देश-दुनिया के किस हिस्से में कितना है कोरोना का कहर? यहां क्लिक कर देखें

वहीं घटना के बाद से ही पुलिस के उच्च अधिकारियों ने पुलभट्टा थाने में डेरा डाल लिया है और पुलिस टीम को दिशा-निर्देश दे रहे हैं. एसपी सिटी देवेंद्र पिंचा ने बताया मामले में मुकदमा दर्ज करते हुए जांच शुरू कर दी गई है. तीन टीमों का गठन किया गया है. इसके साथ ही एसओजी की भी मदद ली जा रही है. जल्द ही बच्ची को सकुशल बरामद कर लिया जाएगा.

कोरोना कमांडोज़ का हौसला बढ़ाएं और उन्हें शुक्रिया कहें...

Read more!

RECOMMENDED