यूटिलिटी

Urgent Money Loan: तुरंत चाहिए पैसा, अपनाएं ये 6 विकल्प, नहीं अटकेगा कोई काम

aajtak.in
  • नई दिल्ली,
  • 25 अप्रैल 2022,
  • अपडेटेड 4:43 PM IST
  • 1/7

Urgent Money Requirement: हर किसी के साथ ऐसी स्थितियां आती हैं कि अचानक पैसे की तुरंत जरूरत पड़ जाती है. ऐसे में लोग दोस्तों या रिश्तेदारों से उधार लेकर काम चला लेते हैं. हालांकि हर किसी के पास यह सुविधा नहीं होती है. कई बार संकोच और शर्म के चलते तो कई बार कुछ अन्य वजहों से यह विकल्प काम नहीं आ पाता है. ऐसे हालात में भी कुछ तरीके हैं, जो आपके बहुत काम आ सकते हैं. इन तरीकों से आप बिना परेशान हुए अर्जेंट मनी (Urgent Money) का प्रबंध कर सकते हैं.

  • 2/7

पर्सनल लोन (Personal Loan): आज के समय में लगभग सारे बैंक पर्सनल लोन की सुविधा देते हैं. अगर आपका क्रेडिट स्कोर अच्छा है तो कोई भी बैंक आपको पर्सनल लोन दे सकता है. अभी तो कई बैंकों ने प्री-अप्रूव्ड पर्सनल लोन प्रॉडक्ट भी लॉन्च कर दिया है. इसका पूरा प्रोसेस भी ऑनलाइन पूरा हो जाता है. अगर आप सैलरीड हैं या किसी पेशे से रेगुलर इनकम है तो पर्सनल लोन मिलने में कोई परेशानी नहीं होती है. इनके अलावा क्रेड, पेटीएम जैसी फाइनेंशियल सर्विस प्रोवाइडर कंपनियां भी इंस्टैंट पर्सनल लोन मुहैया कराती हैं.

  • 3/7

गोल्ड लोन (Gold Loan): यह अर्जेंट परिस्थितियों में पैसे का प्रबंध करने के सबसे शानदार उपायों में से एक है. अगर आपके पास गहने हैं तो आप उसे गिरवी रख मिनटों में लोन ले सकते हैं. इस मामले में ब्याज भी पर्सनल लोन की तुलना में कम देना पड़ता है. आज के समय में कई बैंक गोल्ड लोन की सुविधा दे रहे हैं. इसके अलावा कई गोल्ड लोन कंपनियां भी यह सर्विस देती हैं. रिजर्व बैंक के गाइडलाइंस के अनुसार, सोने के 75 फीसदी वैल्यू के बराबर लोन लिया जा सकता है.

  • 4/7

प्रॉपर्टी पर लोन (Loan Against Property): अगर आप किराये पर नहीं रहते हैं तो आपका घर न सिर्फ आपको छत देता है, बल्कि यह अचानक आई आफतों से भी बचाव दे सकता है. रेसिडेंशियल प्रॉपर्टी के मामले में घर की कुल कीमत के 60-70 फीसदी के बराबर लोन आसानी से लिया जा सकता है. इसमें अच्छी बात होती है कि इस लोन का ब्याज कम होता है और यह 20 साल तक की लंबी अवधि के लिए भी मिल सकता है. चूंकि यह सिक्योर्ड लोन है, बैंक आसानी से इसे अप्रूव भी कर देते हैं.

  • 5/7

एफडी पर लोन (Loan on FD) : लोग फ्यूचर सिक्योर करने के लिए सेविंग्स और इन्वेस्टमेंट करते हैं. इसके पारंपरिक उपायों में एफडी है. अगर आपने एफडी कराया हुआ है तो इसे बिना समय से पहले तुड़वाये भी अचानक आई जरूरत में काम लिया जा सकता है. अगर आप एफडी तुड़वाते हैं तो इसमें आपको नुकसान हो जाता है. ऐसे में आप एफडी पर लोन लेकर नुकसान से बच सकते हैं और अपनी जरूरत को पूरा कर सकते हैं. बैंक एफडी की वैल्यू के 90 फीसदी तक लोन दे देते हैं.

  • 6/7

शेयर और म्यूचुअल फंड पर लोन (Loan on Share & Mutual Fund): अगर आप भी शेयर मार्केट में पैसे लगाते हैं तो आप इस सुविधा का लाभ उठा सकते हैं. अचानक शेयर बेचना घाटे का सौदा हो सकता है. ऐसे में आप बिना शेयर बेचे उनके ऊपर लोन उठा सकते हैं. आपके पास जो शेयर हैं, उसकी कुल वैल्यू के 50 फीसदी के बराबर तक का लोन आसानी से लिया जा सकता है. इसके अलावा म्यूचुअल फंड के ऊपर भी लोन मिल जाता है.

  • 7/7

इंश्योरेंस पॉलिसी पर लोन (Loan on Insurance Policy): आज के समय में आम तौर पर हर किसी के पास इंश्योरेंस होता ही है. इंश्योरेंस पॉलिसी से आने वाले समय के लिए सुरक्षा मिलती है. ये प्रॉडक्ट भी अर्जेंट मनी जुटाने का एक साधन बन सकता है. आपको अगर मालूम नहीं है तो जान लीजिए कि इंश्योरेंस पॉलिसी पर भी लोन मिलता है. पॉलिसी की सरेंडर वैल्यू के 85-90 फीसदी तक का लोन आसानी से मिल जाता है. अचानक जरूरत पड़ने पर आप यह उपाय भी अपना सकते हैं और मुश्किल से बाहर निकल सकते हैं.

लेटेस्ट फोटो