यूटिलिटी

HDFC का ग्राहकों को तोहफा, FD पर मिलेगा ज्यादा ब्याज! PNB, Axis वालों को ये नुकसान

aajtak.in
  • नई दिल्ली,
  • 07 अप्रैल 2022,
  • अपडेटेड 3:15 PM IST
  • 1/5

निजी क्षेत्र के एचडीएफसी बैंक (HDFC Bank) ने अपने Fixed Deposit ग्राहकों को बड़ी खुशखबरी दी है. बैंक ने 2 करोड़ रुपये से कम की एफडी पर ब्याज दर बढ़ाने का ऐलान किया है. दूसरी ओर सरकारी क्षेत्र के पंजाब नेशनल बैंक और प्राइवेट एक्सिस बैंक ने अपने-अपने ग्राहकों को झटका दिया है. पीएनबी ने सेविंग अकाउंट पर ब्याज घटा दिया है, जबकि एक्सिस बैंक ने बचत खातों पर मिनिमम बैलेंस की लिमिट बढ़ा दी है.

  • 2/5

HDFC Bank ने चुनिंदा अवधि की सावधि जमा की दरों में बदलाव किया है. नई दरें 6 अप्रैल से प्रभावी हो गई हैं. बैंक की वेबसाइट के मुताबिक, एचडीएफसी बैंक ने एक साल की एफडी पर ब्याज दर 0.10 प्रतिशत बढ़ाकर 5.10 फीसदी किया है. पहले यह दर 5 प्रतिशत थी. प्राइवेट सेक्टर के ही एक्सिस बैंक ने पिछले महीने अपनी एफडी की ब्याज दरों में बदलाव किया था.

  • 3/5

सरकारी बैंक PNB ने बचत खाते पर ब्याज दरों में कटौती करने का निर्णय लिया है. बैंक के इस कदम से सेविंग्स अकाउंट ग्राहकों पर सीधा असर पड़ेगा. अब 10 लाख रुपये से कम बैलेंस वाले खातों के लिए ब्याज दर को 2.75 प्रतिशत से घटाकर 2.70 फीसदी सालाना कर दिया गया है. वहीं, 10 लाख रुपये से ऊपर वाले बचत खातों पर 2.75 प्रतिशत का ब्याज मिलेगा. नई दरें 4 अप्रैल से लागू हो गई हैं.

  • 4/5

इसी तरह एक्सिस बैंक (Axis Bank) ने भी अपने ग्राहकों को झटका दिया है. प्राइवेट सेक्टर के एक्सिस बैंक ने विभिन्न बचत खातों के लिए मिनिमम अकाउंट बैलेंस की लिमिट बढ़ा दी है. साथ ही बैंक ने फ्री कैश ट्रांजैक्शन की लिमिट यानी नकद लेनदेन की सीमा को 2 लाख रुपये प्रति महीने से घटाकर डेढ़ लाख रुपये प्रति महीना कर दिया है. ये बदलाव एक अप्रैल 2022 से प्रभावी हो गए हैं.

  • 5/5

एक्सिस बैंक के मुताबिक, मेट्रो, शहरी इलाकों में ईजी सेविंग्स और इसी तरह की अन्य स्कीम्स के लिए मिनिमम अकाउंट बैलेंस की सीमा को 10 हजार से बढ़ाकर 12,000 रुपये कर दिया गया है. ये बदलाव घरेलू और NRI खातों के लिए हैं, जिनको एक अप्रैल से पहले मिनिमम बैलेंस के रूप में खाते में 10,000 रुपये रखना पड़ता था.

लेटेस्ट फोटो