scorecardresearch
 

इटली में नए प्रधानमंत्री ने मंत्रियों संग शपथ ली

इटली के नए प्रधानमंत्री मत्तेओ रेनजी और उनके मंत्रिमंडल ने शनिवार को शपथ ग्रहण किया. राष्ट्रपति जॉर्जियो नेपोलिटैनो ने उन्हें शपथ दिलाई.

इटली के नए प्रधानमंत्री मत्तेओ रेनजी और उनके मंत्रिमंडल ने शनिवार को शपथ ग्रहण किया. राष्ट्रपति जॉर्जियो नेपोलिटैनो ने उन्हें शपथ दिलाई.

समाचार एजेंसी शिन्‍हुआ के मुताबिक सेंटर-लेफ्ट डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडी) के नेता मत्तेओ द्वारा गठित गठबंधन सरकार में 16 मंत्री शामिल हैं, जिनमें ज्यादातर मध्यमार्गी-वामपंथी राजनीतिक गलियारे से हैं. इसमें आधी संख्या महिलाओं की है. पिछली सरकार में 21 मंत्री थे.

39 वर्षीय रेनजी इटली के अब तक के सबसे युवा प्रधानमंत्री हैं और उनके मंत्रिमंडल में भी युवा चेहरे शामिल हैं. मंत्रियों की औसत उम्र 47.8 वर्ष है. शपथ ग्रहण समारोह के बाद रेनजी ने कहा कि उनकी टीम शनिवार को ही काम शुरू करने को तैयार है.

उन्होंने कहा कि नई सरकार के पास उन सुधारों को पूरा करने का मौका है, जो वर्षों से लंबित हैं और देश के पास उन सुधारों के अलावा कोई विकल्प नहीं है. रेनजी के मंत्रिमंडल में आर्थिक मंत्री पीयर कार्लो पेडोन और आंतरिक मंत्री एंजेलिनो अलफानो प्रमुख चेहरे हैं.

पेडोन रोम में अर्थशास्त्र के प्रोफेसर रह चुके हैं और जून 2007 से वह आर्थिक सहयोग एवं विकास संगठन ओईसीडी के उप प्रधान महासचिव रहे हैं. अलफानो सरकार के कनिष्ठ सहयोगी न्यू सेंटर राइट (एनसीडी) के नेता हैं. पेडोन शपथ ग्रहण समारोह में हिस्सा नहीं ले पाए क्योंकि वह सिडनी में जी-20 की बैठक में हिस्सा ले रहे थे.

एनरिको लेट्टा के नेतृत्व वाली पूर्व सरकार के तीन मंत्रियों को उनके पदों पर बरकरार रखा गया है. इनमें अधोसंरचना मंत्री अलफानो, परिवहन मंत्री मौरिजियो लुपी और स्वास्थ्य मंत्री बीट्रिस लॉरेंजिन शामिल हैं. सरकार संभवत: सोमवार से संसद के दोनों सदनों में विश्वास मत हासिल करने की प्रक्रिया शुरू करेगी.

रेनजी ने आशा जाहिर की है कि उनकी सरकार संसद का कार्यकाल 2018 में पूरा होने तक सत्ता में बनी रहेगी. रेनजी ने नेपोलिटैनो के साथ बातचीत के बाद संवाददाता सम्मेलन में कहा कि मैं राष्ट्रपति और नई सरकार से ठोस जवाबदेही की अपेक्षा कर रही इटली की जनता का विश्वास जीतने की यथासंभव कोशिश करूंगा.

नेपोलिटैनो ने संवाददाताओं को बताया कि मंत्रिमंडल में नवीनता के व्यापक लक्षण हैं. पहली बार मंत्री बनाए गए नए लोगों में रेनजी की छाप दिखाई देती है. रेनजी ने सप्ताह भर पहले कहा था कि उनकी सरकार संविधान में सुधार का काम फरवरी में शुरू करेगी, जिसके तहत मार्च में श्रम सुधारों की प्रक्रिया शुरू करने से पहले नए मतदान कानून और राजनीतिक प्रणाली को सरल बनाया जाएगा.

लोक-प्रशासन में सुधार अप्रैल में और वित्तीय सुधार मई में शुरू किए जाएंगे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें