scorecardresearch
 

अमेरिका बना रहा अगली पीढ़ी का 'सीक्रेट फाइटर जेट', नहीं कर रहा कोई खुलासा

US Secret Fighter Plane: अमेरिका एक ऐसा सीक्रेट प्लेन बना रहा है, जिसके बारे में वो किसी से कोई जानकारी शेयर नहीं कर रहा है. कहा जा रहा है कि यह विमान काफी अच्छे लेवल के डेवलपमेंट फेज़ में पहुंच गया है. दुनिया भर के लोग इस विमान को लेकर कयास लगा रहे हैं.

X
US Air Force Secret Plane: यह एक कॉन्सेप्ट फोटो है छठी पीढ़ी के फाइटर जेट की. (फोटोः AFRL) US Air Force Secret Plane: यह एक कॉन्सेप्ट फोटो है छठी पीढ़ी के फाइटर जेट की. (फोटोः AFRL)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • चला रहा है NGAD प्रोग्राम, बना रहा है गुप्त विमान
  • लॉकहीड मार्टिन के F-22 Raptor की जगह लेगा

अमेरिकी वायु सेना (United States Air Force - USAF) का सबसे सीक्रेट हथियार. इतने चुपचाप तरीके से इसे बनाया जा रहा है कि किसी को खबर नहीं मिल रही है कि ये प्लेन दिखता कैसा है. इस खबर में हम जो तस्वीर आपको दिखाएंगे, वो भी कल्पना पर बनाई गई है. यानी असल से मिलता-जुलता हो सकता है. लेकिन हाल ही में एक कार्यक्रम में अमेरिकी सेक्रेट्री फ्रैंक केंडल ने एक जरूरी जानकारी दी. उन्होंने कहा कि अब इस विमान एक बेहद गंभीर स्तर के डेवलपमेंट फेज़ में पहुंच गया है. 

फ्रैंक केंडल हेरिटेज फाउंडेशन के कार्यक्रम में थे. उन्होंने कहा कि अमेरिकी एयरफोर्स ने नेक्स्ट जेनरेशन एयर डॉमिनेंस (NGAD) प्रोग्राम की शुरुआत 2015 में की थी. तब फ्रैंक पेंटागन में उच्च स्तर के अधिकारी थे. यह एक X प्लेन प्रोग्राम है. जिसकी डिजाइन कम रिस्क वाली होगी. इस समय यह डेवलपमेंट के बेहद गंभीर स्टेज तक पहुंच गया है. 

अलग-अलग निजी कंपनियां अपनी अलग-अलग डिजाइन के साथ सामने आ रही हैं. (फोटोः AFRL)
अलग-अलग निजी कंपनियां अपनी अलग-अलग डिजाइन के साथ सामने आ रही हैं. (फोटोः AFRL)

दुनिया का सबसे घातक प्लेन होगा ये

फ्रैंक ने बताया कि जब विमान बनकर तैयार होगा तो यह दुनिया का सबसे घातक फाइटर जेट होगा. इसमें हमला करने, बचाव करने और निगरानी के नए अत्याधुनिक तकनीक लगी होगी. इसे एक फैमिली ऑफ सिस्टम्स के तहत डिजाइन किया जा रहा है. इसके साथ ही कुछ ऑटोनॉमस ड्रोन एयरक्राफ्ट्स और मैन्ड एयरक्राफ्ट एक फॉर्मेशन बनाकर उड़ेंगे. 

इस दशक के अंत तक बन जाएगा

फ्रैंक ने बताया कि इंजीनियरिंग और मैकेनिकल डेवलपमेंट फेज पूरा हो चुका है. इसमें सात साल लग गए. अब जो स्टेज चल रहा है वो बेहद गंभीर है. उसमें किसी भी तरह की लापरवाही नहीं कर सकते. साल 2015 से अब तक जो काम हुआ, वो असल में शुरुआत नहीं थी. इसकी शुरुआत तो अब हुई है. हम इस विमान को इस दशक के अंत तक बना लेंगे. 

अगले दशक में हर देश कोशिश करेगा छठी पीढ़ी के स्टेल्थ फाइटर जेट हासिल करने की. (फोटोः AFRL)
अगले दशक में हर देश कोशिश करेगा छठी पीढ़ी के स्टेल्थ फाइटर जेट हासिल करने की. (फोटोः AFRL)

13 हजार करोड़ रु. अगले साल का खर्च

फ्रैंक केंडल ने बताया कि यह मानव इतिहास का सबसे महंगा एयरक्राफ्ट प्रोग्राम है. हर एक NGAD फाइटर प्लेन अरबों रुपयों का पड़ेगा. अमेरिकी एयरफोर्स ने कांग्रेस से मांग की है कि उसे 2023 के वित्तीय वर्ष में 1.7 बिलियन डॉलर्स यानी 13,182 करोड़ रुपये जारी किए जाएं. जिसमें से 1031 करोड़ रुपयों से ज्यादा रिसर्च, डेवलपमेंट, टेस्टिंग और इवैल्यूएशन में जाएंगे. 

F-22 Raptor को बदला जाएगा 

जो जानकारी सामने आई है उसके मुताबिक NGAD प्रोग्राम में अमेरिकी एयरफोर्स अपने पुराने पांचवीं पीढ़ी के एफ-22 रैप्टर फाइटर जेट्स को हटाकर इस नए सीक्रेट फाइटर एयरक्राफ्ट को तैनात करेगी. ऐसा मानना है कि अमेरिका 2030 तक इन विमानों की तैनाती शुरु कर देगा. 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें