scorecardresearch
 

भारत में WhatsApp पेमेंट सर्विस को लेकर अब ये जानकारी आई सामने

Facebook द्वारा वॉट्सऐप पेमेंट फीचर को भारतीय बाजार में जल्द ही लॉन्च किया जा सकता है.

Photo For Representation Photo For Representation

ऐसा लग रहा है कि फेसबुक भारतीय बाजार में जल्द ही अपने पेमेंट सर्विस की लॉन्चिंग कर सकता है. क्योंकि सूत्रों के हवाले से जानकारी मिली है कि सोशल मीडिया दिग्गज ने डेटा प्रैक्टिसेस से संबंधित एक ऑडिट को हाल ही में खत्म किया है. भारत सरकार ने डेटा प्राइवेसी और सिक्योरिटी संबंधित चिंताओं के चलते वॉट्सऐप के पेमेंट फीचर को हरी झंडी नहीं दी है. रिपोर्ट्स के मुताबिक सरकार ने वॉट्सऐप से कहा है कि कंपनी अपने डेटा प्रैक्टिसेस की जानकारी एक थर्ड-पार्टी ऑडिटर को दे. सरकार चाहती है कि वॉट्सऐप पेमेंट से संबंधित सारे डेटा भारत के अंदर ही सर्वर्स में सेव हों.

ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट के मुताबिक, वॉट्सऐप एक रिपोर्ट तैयार कर रहा है जिसे रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया को अप्रूवल के लिए सौंपा जाएगा. फेसबुक द्वारा वॉट्सऐप में पेमेंट फीचर की बीटा टेस्टिंग सालभर पहले 2018 में शुरू की गई थी. फिलहाल ये साफ नहीं है कि फेसबुक को कब वॉट्सऐप पेमेंट फीचर भारत में लॉन्च करने के लिए हरी झंडी मिलेगी. हालांकि कंपनी को ध्यान रखना होगा कि भारत में पहले से ही कई डिजिटल पेमेंट ऐप्स मौजूद हैं.

भारतीय बाजार में पहले से ही कई डिजिटल पेमेंट कंपनियां जैसे पेटीएम, गूगल पे, ऐमेजॉन पे और फोन पे मौजूद हैं. ये कंपनियां पहले ही आपस में एक दूसरी की प्रतिद्वंद्वियां कंपनियां हैं. गौर करने वाली बात ये भी है कि ये सारी कंपनियां पहले से ही RBI डेटा लोकेलाइजेशन गाइडलाइन्स को फॉलो कर रही हैं.

रिपोर्ट में बताया गया है कि इंडियन डिजिटल पेमेंट सेक्टर में 2023 तक पांच गुना बढ़त देखने को मिलेगी और आंकड़ा $1 ट्रिलियन तक पहुंच जाएगा. कई प्रतिद्वंदी कंपनियों के होने के बावजूद वॉट्सऐप को करोड़ों यूजर्स प्लेटफॉर्म पर पहले से ही मौजूद होने की वजह से फायदा जरूर मिलेगा. फिलहाल देश में वॉट्सऐप के 300 मिलियन से भी ज्यादा यूजर्स हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें