scorecardresearch
 

साजन प्रकाश ने इतिहास रचा, ओलंपिक 'A' कट में प्रवेश करने वाले पहले भारतीय तैराक बने

साजन प्रकाश ओलंपिक ‘ए’ क्वालिफिकेशन टाइम पार करने वाले पहले भारतीय तैराक बन गए. उन्होंने रोम में सेट्टे कोली ट्रॉफी में पुरुषों के 200 मीटर बटरफ्लाई वर्ग में एक मिनट 56.38 सेकेंड का समय निकाला.

Sajan Prakash (Getty) Sajan Prakash (Getty)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • साजन प्रकाश ओलंपिक ‘ए’ क्वालिफिकेशन टाइम पार करने वाले पहले भारतीय तैराक बने
  • 200 मीटर बटरफ्लाई वर्ग में एक मिनट 56.38 सेकेंड का समय निकाला.

साजन प्रकाश ओलंपिक ‘ए’ क्वालिफिकेशन टाइम पार करने वाले पहले भारतीय तैराक बन गए. उन्होंने रोम में सेट्टे कोली ट्रॉफी में पुरुषों के 200 मीटर बटरफ्लाई वर्ग में एक मिनट 56.38 सेकेंड का समय निकाला.

रियो ओलंपिक 2016 खेल चुके साजन टोक्यो ओलंपिक ‘ए ’ स्टैंडर्ड में प्रवेश में 0.1 सेकेंड से कामयाब रहे. टोक्यो ओलंपिक ए स्टैंडर्ड एक मिनट 56.48 सेकेंड है. प्रकाश ने एक विज्ञप्ति में कहा,‘मैंने इसके लिए बहुत मेहनत की है और अपनी तैयारियों की वजह से मुझे पूरा आत्मविश्वास था.’

उन्होंने कहा, ‘यह मेरे पास आखिरी मौका था और मुझे पता था कि यहां करना ही है. मैं पहले भी क्वालिफाइंग मार्क के करीब पहुंचा, लेकिन मेरे कोच प्रदीप सर और मैंने इस तरह रणनीति बनाई थी कि सर्बिया और रोम में दोनों टूर्नामेंटों में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन हो.’

उन्होंने कहा, ‘मैं एसएफआई, SAI और खेल मंत्रालय से मिले सहयोग के लिए शुक्रगुजार हूं. मुझे खुद पर और कोच प्रदीप सर पर भरोसा था. यह उन्हीं की वजह से संभव हुआ है.’

केरल के इस तैराक ने पिछले सप्ताह बेलग्रेड ट्रॉफी तैराकी प्रतियोगिता में एक मिनट 56.96 सेकेंड का समय निकाला था, जो उनका राष्ट्रीय रिकॉर्ड था. भारतीय तैराकी महासंघ ने ट्वीट किया, ‘भारतीय तैराकी के लिए ऐतिहासिक पल. साजन प्रकाश ने ओलंपिक क्वालिफिकेशन समय निकाला. बधाई.’

प्रकाश टोक्यो ओलंपिक की तैराकी स्पर्धा में माना पटेल के साथ भाग लेंगे. माना को भारतीय तैराकी महासंघ ने नामित किया है. प्रकाश के सीधे क्वालिफाई करने के मायने हैं कि श्रीहरि नटराज टोक्यो ओलंपिक में भाग नहीं ले सकेंगे, जिन्हें माना के साथ यूनिवर्सिटिलिटी कोटा के तहत नामांकित किया गया था. नटराज रोम में शुक्रवार को 100 मीटर बैकस्ट्रोक में क्वालिफाई करने से 0. 5 सेकेंड से चूक गए थे.

यूनिवर्सिलिटी कोटा के तहत देश से एक पुरुष और एक महिला तैराक को ओलंपिक खेलने का मोका मिलता है, बशर्ते कोई सीधे क्वालिफाई नहीं कर ले या उसे ओलंपिक चयन समय (बी) के आधार पर फिना से न्योता नहीं मिले.

प्रकाश को हमेशा से ए मार्क हासिल करने का यकीन था. उन्होंने अप्रैल में पीटीआई से कहा था, ‘अभी मैं सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन नहनीं कर रहा हूं, लेकिन मुझे यकीन है कि जल्दी ही करूंगा, इसके लिए सब्र रखना होगा.’ भारत की केनिषा गुप्ता ने भी रोम में 100 मीटर फ्रीस्टाइल में राष्ट्रीय रिकॉर्ड बनाया.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें