scorecardresearch
 

Sun Never Sets: ये है वो देश जहां 76 दिन सूरज डूबता नहीं, रात होती ही नहीं

दुनिया का ऐसा देश जहां दो महीने सूरज ढलता ही नहीं. रात होती ही नहीं. सूरज बीच रात में भी होराइजन पर दिखता है. इन दो महीनों में धरती के घूमने से जो अंधेरा आता है, वो इस देश के बगल से निकल जाता है. शाम होती है लेकिन रात नहीं होती. थोड़ा धुधंलका होता है पर अंधेरा नहीं होता.

X
आर्कटिक सर्किल में उत्तरी यूरोप के पास बसा ये देश जहां 76 दिन सूरज ढलता नहीं. क्षितिज पर टिक जाता है. (फोटोः गेटी)
आर्कटिक सर्किल में उत्तरी यूरोप के पास बसा ये देश जहां 76 दिन सूरज ढलता नहीं. क्षितिज पर टिक जाता है. (फोटोः गेटी)

दुनिया के ऊपर छोर पर यानी आर्कटिक सर्किल (Arctic Circle) में एक ऐसा देश है, जहां पर दो महीनों के लिए सूरज सोता नहीं है. मतलब ढलता नहीं है. बस क्षितिज (Horizon) पर जाकर टिक जाता है. रात के 12 बजे भी वहीं रहता है. इसलिए इस देश को लैंड ऑफ मिडनाइट सन (Land of Midnight Sun) भी कहते हैं. हैरान हुए न यह जानकर. तो क्या इस देश के लोग दो महीने सोते नहीं हैं? दिन और रात का पता कैसे चलता है? 

इस वीडियोग्रैब में आप देख सकते हैं कि लाल घेरे में मौजूद नॉर्वे के पास से अंधेरा निकल जाता है.
इस वीडियोग्रैब में आप देख सकते हैं कि लाल घेरे में मौजूद नॉर्वे के पास से अंधेरा निकल जाता है. 

इस देश का नाम है नॉर्वे (Norway). मई से लेकर जुलाई के बीच करीब 76 दिनों तक सूरज यहां पर ढलता नहीं है. असल में नॉर्वे धरती की ऐसी जगह पर स्थित है. जो पृथ्वी के उत्तरी ध्रुव के पास है. धरती पर अपनी धुरी पर घूमती है, तब सूरज के विपरीत दिशा वाले हिस्से में अंधेरा होता है. लेकिन नॉर्वे के किनारे-किनारे से अंधेरा निकल जाता है. लेकिन सिर्फ इन दो महीनों में ही. 

नॉर्वे के अलावा कुछ देश और भी हैं, जहां पर सूरज नहीं ढलता लेकिन कम दिनो के लिए. (फोटोः गेटी)
नॉर्वे के अलावा कुछ देश और भी हैं, जहां पर सूरज नहीं ढलता लेकिन कम दिनो के लिए. (फोटोः गेटी)

ऐसा नहीं है कि सिर्फ नॉर्वे ही एक इकलौता देश है, जहां पर ऐसा होता है. आर्कटिक सर्किल के नॉर्वे, फिनलैंड, स्वीडन, कनाडाा का नुनावुत, आइसलसैंड और अलास्का का बरो में भी ऐसा होता है. लेकिन कम दिन कम होते हैं. सिर्फ नॉर्वे ऐसा देश है जहां पर दो महीने सूरज ढलता ही नहीं है. समुद्र के किनारे अगर आप खड़े होकर देखेंगे तो सूरज आपको क्षितिज पर टिका हुआ दिखाई देगा. जून में अधिकतम 40 मिनट की रात होती है. क्योंकि इस समय धरती का उत्तरी हिस्सा 66 डिग्री से 90 डिग्री लैटिट्यूड के बीच रहता है.  

जून में सिर्फ 40 मिनट के ही रात होती है. उसके बाद फिर उजाला बढ़ता है. (फोटोः गेटी)
जून में सिर्फ 40 मिनट के ही रात होती है. उसके बाद फिर उजाला बढ़ता है. (फोटोः गेटी)

मई से जुलाई तक नॉर्वे में दिन 20 घंटे का होता है. यानी सूरज की रोशनी रहती है. लेकिन इसके बाद परिस्थिति बदल जाती है. नॉर्वे में नवबंर, दिसंबर और जनवरी में पूरी तरह अंधेरा रहता है. इन तीन महीनों में सूरज निकलता ही नहीं है. पूरी तरह से घुप्प अंधेरा रहता है. मई से जुलाई के बीच नॉर्वे के जिन इलाकों में सूरज एकदम नहीं ढलता या रोशनी पूरे समय बनी रहती है वो हैं - उत्तरी नॉर्वे का हेलजेलैंड (Helgeland), बोडो एंड साल्टेन (Bodo and Salten), लोफोटेन और वेस्टेरालेन (Lofoten and Vesteralen), ट्रॉम्स (Troms), फिनमार्क (Finnmark) और स्वालबार्ड (Svalbard). 

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

A post shared by Ocean Life (@_ocean.life__)

नॉर्वे (Norway) का क्षेत्रफल 3.85 लाख वर्ग किलोमीटर से ज्यादा है. यहां पर प्रति वर्ग किलोमीटर पर 14 लोग रहते हैं. यानी कुल आबादी है 54.25 लाख से ज्यादा है. पूरा नाम है किंगडम ऑफ नॉर्वे (Kingdom of Norway). यह एक नॉर्डिक देश (Nordic Country) है, जो उत्तरी यूरोप में बसी हुई है. 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें