scorecardresearch
 

Spain में महापाषाण काल के 500 से ज्यादा खड़े पत्थर मिले, 1500 एकड़ में फैले हैं रहस्यमयी अवशेष

दक्षिणी स्पेन में एक बेहद बड़े इलाके में 500 से ज्यादा खड़े पत्थरों का एक समूह मिला है. ये पत्थर एक सीध में लगे हैं. यह महापाषाण काल के पत्थर बताए जा रहे हैं. कहा जा रहा है कि ये यूरोप में इस काल का सबसे बड़ा इलाका हो सकता है. फिलहाल पुरातत्वविद इस इलाके की जांच कर रहे हैं. 

X
1500 एकड़ में फैले हैं ये पत्थर (Photo: Getty)
1500 एकड़ में फैले हैं ये पत्थर (Photo: Getty)

पुरातत्वविदों को दक्षिणी स्पेन (Southern Spain) में 500 से ज्यादा खड़े पत्थरों का एक विशाल इलाका मिला है. यह महापाषाण काल की जगह बताई जा रही है जो पूरे यूरोप में सबसे बड़ा इलाका हो सकता है. 

पुर्तगाल से लगे स्पेन की सीमा के दक्षिणी भाग में गुआडियाना नदी के पास एक प्रांत, ह्यूएलवा (Huelva) में ये पत्थर पाए गए हैं. ये पत्थर करीब 1,500 एकड़ में फैले हैं. इस ज़मीन को एवोकैडो के पेड़ लगाने के लिए निर्धारित किया गया था. लेकिन परमिट देने से पहले अधिकारियों ने इस साइट का सर्वे करवाना बेहतर समझा, क्योंकि उन्हें लगा कि इसके पीछे कोई पुरातात्विक महत्व हो सकता है. सर्वे में इन पत्थरों के बारे में ज्यादा जानकारी मिली.

ह्यूएलवा यूनिवर्सिटी के शोधकर्ता और इस प्रोजेक्ट के तीन निदेशकों में से एक, जोस एंटोनियो लिनारेस  (José Antonio Linares) का कहना है कि इबेरियन प्रायद्वीप में एक साथ एक समूह में खड़े पत्थरों का ये सबसे बड़ा और सबसे अनोखा संग्रह है. उन्होंने कहा कि हो सकता है कि ला टोरे-ला जनेरा साइट पर सबसे पुराने खड़े पत्थर 6ठी या 5वीं सहस्राब्दी ईसा पूर्व के दूसरे भाग के दौरान बनाए गए हों. यह यूरोप का एक प्रमुख महापाषाण स्थल है.

standing stones
 यहां खड़े पत्थरों की कुल संख्या 526 है, कुछ ज़मीन में अंदर तक दबे हैं (Photo: Getty)

साइट पर उन्हें बड़ी संख्या में तरह-तरह के प्राचीन पत्थर मिले, जिनमें खड़े पत्थर, डोलमेन्स, टीले, ताबूत जैसे पत्थर के बक्से, जिन्हें सिस्ट (Cists) कहा जाता है आदि शामिल हैं.

प्रागैतिहासिक पुरातत्व जर्नल, ट्रैबेजोस डी प्रीहिस्टोरिया (Trabajos de Prehistoria) में प्रकाशित एक लेख में शोधकर्ताओं ने कहा है कि खड़े पत्थरों में 526 अभी भी खड़े हैं या जमीन पर पड़े हैं. इन पत्थरों की ऊंचाई एक से तीन मीटर के बीच है. उत्तर-पश्चिम फ्रांस में कार्नैक महापाषाण स्थल पर करीब 3,000 खड़े पत्थर हैं.

प्रोजेक्ट के सह-निदेशक और अल्काला यूनिवर्सिटी में प्रोफेसर प्रिमिटिवा ब्यूनो (Primitiva Bueno) का कहना है कि ने कहा कि एक ही साइट पर इस तरह रेखा में पत्थर और डोलमेन्स मिलना आम बात नहीं है. यहां क्रॉम्लेच और डोलमेन भी हैं, जो बहुत आकर्षक हैं.

 

क्रॉम्लेच गोलाई में लगे पत्थर होते हैं. डोलमेन एक तरह का मेगालिथिक मकबरा होता है जो आमतौर पर दो या दो से ज्यादा खड़े पत्थरों से बना होता है, जिसमें सबसे ऊपर एक बड़ा फ्लैट कैपस्टोन होता है.

शोधकर्ताओं का कहना है कि यहां एक सीध में लगे पत्थरों की 26 लाइनें हैं और दो क्रॉम्लेच हैं. ये दोनों पहाड़ी की चोटी पर स्थित हैं. कई पत्थर जमीन में गहरे दबे हुए हैं. उन्हें बहुत सावधानी से खुदाई के ज़रिए निकाला जाएगा. ये काम 2026 तक चलने की उम्मीद है. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें