scorecardresearch
 

नॉनवेज नहीं खाते तो लंबी होगी उम्र

शाकाहारी भोजन सेहतमंद जीवनशैली की कुंजी है. इन दिनों लोग शाकाहारी भोजन की ओर मुड़ रहे हैं, क्योंकि वे 'स्वस्थ खाओ, लंबा जियो' के फंडे को मानने लगे हैं.

X
शाकाहारी भोजन है फायदेमंद शाकाहारी भोजन है फायदेमंद

शाकाहारी भोजन सेहतमंद जीवनशैली की कुंजी है. इन दिनों लोग शाकाहारी भोजन की ओर मुड़ रहे हैं, क्योंकि वे 'स्वस्थ खाओ, लंबा जियो' के फंडे को मानने लगे हैं. इसके साथ ही वे लगातार बढ़ रहे पर्यावरण के प्रदूषण को कम करना चाहते हैं.

ज्यादा से ज्यादा लोग इस बात के लिए जागरूक हो रहे हैं कि 70 प्रतिशत बीमारियां, जिनमें एक तिहाई कैंसर भी शामिल है, उनके आहार से जुड़ी हुई हैं. शाकाहारी भोजन प्राकृतिक रूप से सेहतमंद होता है और इससे जीवनशैली से जुड़ी हुई बीमारियां जैसे कि हृदय धमनी रोग, मोटापा, हाई ब्लड प्रेशर, मधुमेह के साथ ही प्रोस्टेट, ब्रेस्ट, पेट, फेफड़ों और भोजन नली का कैंसर होने का खतरा कम होता है.

ऐसी अनेक बातें हैं जो शाकाहारी भोजन को बेहतर बनाती हैं. सबसे पहली है इसमें मौजूद डाइटरी फाइबर की मात्रा, जो हमारे रक्तचाप के स्तर पर असर करती है, यानी यह हमारा रक्तचाप कम करती है और हाइपरटेंशन व दिल की अन्य बीमारियां होने से बचाती है.

शाकाहारी भोजन में पोटाशियम, कार्बोहाइड्रेट, सेचुरेटेड फैट, फाइबर, कैल्शियम, मैग्नीशियम, विटामिन सी और विटामिन ए होते हैं जो रक्तचाप को संतुलित रखने में हमारी मदद करते हैं. इसका दूसरा फायदा यह है कि इसमें कैलोरी की मात्रा कम होती है जो मोटापे को नियंत्रण में रखती है. शाकाहारी भोजन में कोलेस्ट्रॉल और फैट की मात्रा कम होने से हाइपरटेंशन का खतरा भी कम होता है.

हार्ट केयर फाउंडेशन ऑफ इंडिया के अध्यक्ष डॉ के.के. अग्रवाल ने बताया, 'शाकाहारी भोजन दिल के लिए बहुत फायदेमंद होता है. शाकाहारी भोजन का कम चर्बी और कोलेस्ट्रॉल वाला गुण काफी हद तक कॉरनरी हार्ट डिसीज के लिए जिम्मेदार हाइपरटेंशन, मधुमेह और मोटापे को कम करने व दूर करने में मदद करता है.'

शाकाहारी भोजन तभी फायदेमंद हो सकता है जब उसको सही ढंग से खाया जाए. अगर आप शाकाहारी हैं या इसे अपनाने की सोच रहे हैं तो आपको पता होना चाहिए कि आप को क्या खाना है. आपकी शाकाहारी थाली में सही मात्रा और विभिन्नता होनी चाहिए ताकि आपको मनचाहे व सेहतमंद जीवनशैली के फायदे मिल सकें.

चार सलाह :

1. दिन में एक बार केवल फलाहार करें.

2. एक आहार में बेसन, फल, सलाद और मिश्रित सब्जियां लें.

3. तीसरा आहार आम आहार होता है, जिसमें मिश्रित अनाजों का आटा या भूरे चावल सब्जी और दाल के साथ ले सकते हैं.

4. इन आहारों के बीच में फल, सलाद, काली चाय या काफी और डॉर्क चॉकलेट बिना चीनी या दूध के ले सकते हैं.

इनपुट: IANS

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें