scorecardresearch
 

4 बच्चे पैदा करें हिंदू, 2 RSS और VHP को सौंपें, कानपुर रामोत्सव में बोलीं साध्वी ऋतंभरा

Kanpur News: साध्वी ऋतंभरा ने अपने संबोधन में कहा कि यह हिंदुस्तान, हिंदुओं का है और हम इसको हिंदू राष्ट्र बना के रहेंगे. हिंदुओं से आह्वान करते हुए ऋतंभरा ने कहा, हिंदुओं ने 'हम दो-हमारे दो' के चलते केवल 2 बच्चे पैदा किए. अब दो बच्चों से काम नहीं चलेगा. हमारे हिंदू भाइयों से निवेदन है कि 4 बच्चे पैदा करें. इनमें 2 राष्ट्र को सौंपें और दो समाज को सौंपें, तभी हिन्दू राष्ट बनेगा.  

X
साध्वी ऋतंभरा. (फाइल फोटो) साध्वी ऋतंभरा. (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • कानपुर में आयोजित हुआ रामोत्सव
  • विहिप के कार्यक्रम में उठी रामराज्य की मांग

उत्तर प्रदेश के कानपुर में विश्व हिन्दू परिषद (VHP) ने रामोत्सव का अयोजन किया. इस दौरान साध्वी ऋतंभरा कहा कि अब हर हिंदू को 4 बच्चे पैदा करने चाहिए. इनमें से दो राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) और विश्व हिन्दू परिषद को सौंपने चाहिए ताकि वह राष्ट्र यज्ञ में योगदान दे सकें. साथ ही दो समाज के लिए रहने चाहिए. Aajtak ने जब ऋतंभरा साध्वी से पूछा कि आपके चार बच्चे वाले बयान से तो नया बवाल खड़ा होगा, तो उन्होंने साफ कहा कि हमने हिंदुओं को चेताया है. अब बवाल होता है तो हो जाने दो.  

शहर के निराला नगर स्थित रेलवे मैदान पर आयोजित इस कार्यक्रम में विश्व हिन्दू परिषद के राष्ट्रीय महामंत्री मिलिंद परांडे ने कहा, एक समय सीता माता के अपहरण के कारण रावण का समूल नाश हुआ था और आज हमें लव जिहाद करने वालों को समूल रूप से कुचलना होगा, सिर्फ भगवान राम की सिर्फ पूजा से ही कुछ नहीं होगा.  

कानपुर में आयोजित रामोत्सव में मंचासीन साध्वी त्रतंभरा, भैया जी जोशी और मिलिंद परांडे.

वहीं, संघ के पूर्व सह कार्यवाह भैया जी जोशी ने कहा, राम जन्म उत्सव पर्व पर हम लोग भगवान राम के साथ रामराज्य की भी कल्पना करते हैं. रामराज्य का मतलब, जिसमें बेहतर शिक्षा बेहतर सुरक्षा थी. आज हम आसुरी शक्तियों के साथ लड़ रहे हैं. इस देश में जय-पराजय हुई है, लेकिन आखिरी में जीत सत्य की होती है.

रामोत्सव में राम जन्मभूमि से जुड़े रामविलास वेदांती ने कहा, देश को आजाद हुए 70 साल हो गए, लेकिन इतने सालों में कांग्रेस पार्टी रामराज्य नहीं ला पाई. जब मोदी की सरकार आई और 2019 में सुप्रीम कोर्ट ने निर्णय दिया, तब हम समझ गए कि राम मंदिर बनकर रहेगा, और जिस जगह पर कारसेवकों ने एक ढांचे को गिराया था, वो जबरन बनाया गया था, क्योंकि वहां पर राम की मौजूदगी पहले से ही दर्ज थी. 
 
विश्व हिन्दू परिषद की तरफ से आयोजित इस रामोत्सव में 6 हजार बच्चे राम और 1100 बच्चे हनुमान रूपी वेश धारण कर शामिल हुए. वहीं, इस आयोजन में दूर-दूर से आए कलाकारों ने वाद्य यंत्रों से समा बांधा.

 ये भी पढ़ें

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें