scorecardresearch
 

अयोध्या विवाद पर सुनवाई का 11वां दिन, वकील रखेंगे दलीलें

6 अगस्त से इस मामले पर सर्वोच्च अदालत में रोजाना सुनवाई चल रही है, जिसके तहत सप्ताह में पांच दिन ये मामला सुना जाता है. आज सुनवाई का ग्यारवां दिन है और गोपाल सिंह विशारद के वकील राजीव कुमार अपनी दलीलें आगे रखेंगे.

सुप्रीम कोर्ट में जारी है अयोध्या मामले की सुनवाई सुप्रीम कोर्ट में जारी है अयोध्या मामले की सुनवाई

सुप्रीम कोर्ट में शुक्रवार को एक बार फिर रामजन्मभूमि-बाबरी मस्जिद विवाद पर सुनवाई होनी है. 6 अगस्त से इस मामले पर सर्वोच्च अदालत में रोजाना सुनवाई चल रही है, जिसके तहत सप्ताह में पांच दिन ये मामला सुना जाता है. आज सुनवाई का ग्यारवां दिन है और गोपाल सिंह विशारद के वकील राजीव कुमार अपनी दलीलें आगे रखेंगे.

गुरुवार की सुनवाई में गोपाल सिंह विशारद के वकील राजीव कुमार ने कहा था कि 1949 में मुस्लिम पार्टी ने कहा था कि वह 1935 से वहां पर नमाज नहीं पढ़ रहे हैं, ऐसे में अगर जमीन को हिंदुओं को दी जाती है तो कोई परेशानी नहीं होगी.

इस दौरान सुप्रीम कोर्ट ने हलफनामे की वैधता को पूछा और पूछा कि क्या ये हलफनामे वेरिफाई हैं. जस्टिस बोबड़े ने कहा कि ये हलफनामा तब दिया गया था जब सरकार जमीन को रिसीवर को सौंपना चाह रही थी. क्या ये बातें कभी मजिस्ट्रेट के सामने प्रूव हो पाई थी?

गुरुवार की सुनवाई की पूरी दलीलें यहां पढ़ें...

आपको बता दें कि अदालत में अभी तक निर्मोही अखाड़ा, रामलला विराजमान के वकील अपनी दलीलें पेश कर चुके हैं. इस केस को CJI रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली पांच सदस्यीय संवैधानिक पीठ सुन रही है. इसमें जस्टिस एस. ए. बोबडे, जस्टिस डी. वाई. चंद्रचूड़, जस्टिस अशोक भूषण और जस्टिस एस. ए. नजीर भी शामिल हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें